डीएम स्वाति एस भदौरिया की पहल से जिला अस्पताल गोपेश्वर तमाम सुविधाओं से हो रहा है अपडेट, एबीजी मशीन की सुविधा उपलब्ध

 डीएम स्वाति एस भदौरिया की पहल से जिला अस्पताल गोपेश्वर तमाम सुविधाओं से हो रहा है अपडेट, एबीजी मशीन की सुविधा उपलब्ध
14 जुलाई, 2021
                                                         
चमोली : जिला अस्पताल गोपेश्वर तमाम सुविधाओं से अपडेट हो रहा है। इसी कडी में जिलाधिकारी की पहल पर अस्पताल में एबीजी मशीन (आर्टिरीअल ब्लड गैस एनालाइसिस) की सुविधा भी उपलब्ध हो गई है। एबीजी मशीन आने से ब्लड में कार्बन डायऑक्साइड, ऑक्सीजन, बाइकार्बोनेट आयन, पीएच लेवल की सटीक जांच हो सकेगी। इसके अलावा रक्त का मिनरल टेस्ट भी हो सकेगा। पहाडी जिलों में पहले यह सुविधा केवल श्रीनगर बेस अस्पताल में ही उपलब्ध थी। अस्पताल में चिकित्सा सुविधाओं को बढाने में अहम योगदान करने पर अस्पताल प्रशासन ने जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया का आभार व्यक्त किया।
जिला प्रशासन ने अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड की क्षमता को बढाने की कवायत भी शुरू कर दी है। जिलाधिकारी ने बुधवार को चिकित्सा अधिकारियों के साथ जिला अस्पताल में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का स्थलीय निरीक्षण करते हुए अस्पताल परिसर में आइसोलेशन वार्ड के लिए जगह का चयन भी किया। नए आइसोलेशन वार्ड बनने से मौजूदा स्वास्थ्य सुविधाओं में बृद्वि होगी।

This slideshow requires JavaScript.

कोविड-19 की तीसरी लहर की संभावना को लेकर बच्चों के स्वास्थ्य और उनके इलाज की व्यवस्था के लिए जिलाधिकारी ने अस्पताल परिसर के प्रथम तल में बच्चों के लिए तैयार किए गए एसएनसीयू वार्ड का निरीक्षण भी किया। अस्पताल में स्पेशल न्यूबाॅर्न केयर यूनिट (एसएनसीयू), रेडिएंट वार्मर, ऑक्सीजन सप्लाई की सुविधा बहाल की गई है। जिला अस्पताल के एसएनसीयू में 10 बेड तैयार किए गए है। इसके अलावा आईसीयू के 6 बेड उपलब्ध है। जिसमें सभी आवश्यक सुविधाएं प्रदान की गई है। जिलाधिकारी ने कहा कि अस्पताल को बेड, बेटिलेटर एवं अन्य चिकित्सा उपकरण जो भी जरूरत है उसका पूरा करने का भरसक प्रयास किया जाएगा।
अस्पताल परिसर में मरीजों के तिमारदारों को ठहरने के लिए नवनिर्मित भवन, जन औषधि केन्द्र एवं रेडक्राॅस कैन्टीन का भी जिलाधिकारी ने निरीक्षण किया। अस्पताल गेट के पास तिमारदारों के ठहरने के लिए दो कमरे, एक डोर मैट्री, एक जन औषधि केन्द्र तथा कैन्टीन का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। जिला योजना 2020-21 में जिलाधिकारी की पहल पर तिमारदार गेस्टहाउस के लिए 32 लाख की धनराशि अवमुक्त की गई थी। अस्पताल में तिमारदार गेस्टहाउस, जन औषधि केन्द्र एवं कैन्टीन सुविधा मिलने से अब मरीजों के तिमारदारों को बडी राहत मिलेगी। जिलाधिकारी ने तिमारदार गेस्टहाउस में अवशेष कार्यो को तत्काल पूरा करते हुए बोर्ड चस्पा कराने, आसपास साफ सफाई कराते हुए तत्काल इसका संचालन शुरू करने के निर्देश दिए।
जिला अस्पताल गोपेश्वर में केन्द्र सरकार की ओर से जल्द ही 500 एलपीएम क्षमता का नया ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट भी लगाया जाएगा। नए ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना कार्यो को लेकर भी अस्पताल परिसर में भूमि चयनित की गई। इस प्लांट के लगने एवं हाल ही में स्थापित 200 एलपीएम ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता को मिलाने के बाद जिला अस्पताल में ऑक्सीजन जनरेशन क्षमता 700 एलपीएम हो जाएगी और भविष्य में ऑक्सीजन की कमी नही रहेगी और मरीजों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। इस दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. केके अग्रवाल, एसीएमओ डॉ. उमा रावत, हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. जीएस चुफाल, ग्रामीण निर्माण विभाग के ईई अलादिया, एई एलपी भट्ट सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: