उविपा ने कोटद्वार में रिवर ट्रेनिंग के नाम पर हो रहे अवैध खनन के खिलाफ किया प्रदर्शन

 उविपा ने कोटद्वार में रिवर ट्रेनिंग के नाम पर हो रहे अवैध खनन के खिलाफ किया प्रदर्शन
Posted on दिसंबर 20, 2021 1:58 pm
                                                   
ख़बर सुनने के लिए क्लिक करे 👉
कोटद्वार : उत्तराखण्ड विकास पार्टी ने कोटद्वार में रिवर ट्रेनिंग के नाम पर हो रहे अवैध खनन के खिलाफ प्रदर्शन किया। उत्तराखंड विकास पार्टी के अध्यक्ष मुजीब नैथानी ने बताया कि पर्यावरणीय नियमों का उल्लंघन कर बरसात के महीने में रिवर ट्रेनिंग के नाम पर पहले से ही छह छह मीटर तक गहरी खोदी जा चुकी नदियों को पुनः खुदा जा रहा है।  इस संबंध में सिंचाई विभाग द्वारा छह मीटर तक नदियां खोदे जाने, नदी के प्रतिबंधित किनारे तक खोद दिए जाने, जिससे सिंचाई विभाग की सुरक्षा दीवारों को खतरा हो गया  व बरसात में दीवारों की बह जाने की आशंका व्यक्त की गई थी वह सत्य साबित हुई और तेली स्रोत नदी में सुरक्षा दीवार जगह-जगह क्षतिग्रस्त हो गई है बाकी नदियों के किनारे भी इसी तरह क्षतिग्रस्त हो रहे हैं।
उविपा अध्यक्ष मुजीब नैथानी ने आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्व में बरसातों में खनन नहीं होने दिया जाता था। साथ ही साथ बार-बार शिकायत के बाद जब आरटीओ के प्रवर्तन अधिकारियों ने दो चार डंपर पकड़े तो उनमें रवन्ने  भी नहीं मिले। यानी सरकार तो अवैध काम करवा ही रही है पर अधिकारियों की मिलीभगत से सरकार को भी चूना लगाया जा रहा है, जबकि पिछले साल हम पर हुए हमले के बाद प्रशासन ने यह कहा था कि संबंधित खनन स्थलों पर सीसीटीवी और धर्म कांटा लगाया जाएगा। मगर प्रशासन ने आज तक उसकी कोई व्यवस्था नहीं की है। यह बताता है कि कहीं ना कहीं प्रशासन पर नेताओं का दबाव है।
जब शासन द्वारा बरसात में नदियों को रिवर ट्रेनिंग के नाम पर खोलने की अनुमति दी गई तब भी रवन्ने ने का नहीं मिलना बताता है कि सरकारी अधिकारी किस तरह से सरकार को ही चूना लगा रहे हैं। इस प्रकरण की अलग से जांच होनी चाहिए और जो अधिकारी इन कामों में सम्मिलित हैं उनकी तनखा से अवैध खनन की वसूली की जानी चाहिए। इसमें खास बात यह है कि कौड़िया पुलिस चौकी से ओवरलोड डंपर और और ओवरबॉडी डम्पर रोज गुजरते हैं मगर पुलिस इन अवैध खनन की चोरी करने वालों को नहीं देख पाती है।

This slideshow requires JavaScript.

Leave a Reply

Related post