उत्तराखण्ड विकास पार्टी ने किया जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का नाम बदलने का विरोध

 उत्तराखण्ड विकास पार्टी ने किया जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का नाम बदलने का विरोध
Posted on अक्टूबर 7, 2021 4:37 pm
                                                   
कोटद्वार : उत्तराखण्ड विकास पार्टी जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का नाम बदलने का विरोध किया। उत्तराखण्ड विकास पार्टी के अध्यक्ष मुजीब नैथानी ने  कहा कि भारतीय जनता पार्टी कृतघ्न पार्टी हो सकती है मगर हम गढ़वाली कुमाउँनी जिम कॉर्बेट के द्वारा  हम पहाड़ियों के जीवन को बचाने के लिए जो मेहनत की गई है उसका अहसान भले ही हम पहाड़ी न चुका सकें मगर जिम कॉर्बेट अब गढ़वाली कुमाउँनी सभ्यता समाज के एक अंग मान लिए जा चुके हैं और सम्मान की रक्षा करना हम गढ़वाली कुमाउँनियों की जिम्मेदारी है। आज भी गढ़वाली कुमाउँनी उस समय आदमखोर बाघों से आतंकित जीवन को याद करते ही सिहर जाते हैं, उस आपातकाल में जिम कॉर्बेट ने ही गढ़वाली और कुमाउँनियों को खतरनाक आदमखोर बाघों से मुक्ति दिलाई थी। हमें याद है कि आदमखोर बाघ से छुटकारा पाने के लिए लोग जिम कॉर्बेट को बुलाने के लिए गुहार लगाते थे।
गढ़वाली समाज मे यह किवदन्ती भी है कि माँ दुर्गा ने जिम कॉर्बेट को साक्षात दर्शन दिए थे और अपने वाहन बाघों को मारने पर गहरा रोष व्यक्त किया था। इसके बाद माँ दुर्गा के आशीष से जिम कॉर्बेट ने बाघों को मारना छोड़कर बाघों के संरक्षण एवम समाज मे उनकी स्वीकार्यता को बढ़ाने के लिए काम किया जिसमें बाघों की फोटोग्राफी मुख्य रही। छोटी हल्द्वानी का कुमाउँनी समाज जो जिम कॉर्बेट की जमीन पर बसा है के लिए जिम कॉर्बेट आज भी देवतुल्य ही हैं। मुजीब नैथानी ने कहा कि लगता है एक राष्ट्र की कल्पना में भाजपा समाजों का अस्तित्व खत्म करना चाहती है। नाम बदलने की परम्परा इसी की एक कड़ी है अगला नम्बर लैंसडौन का हो सकता है।

Related post