सीडीओ आशीष भटगांई की अध्यक्षता में एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना, पलायन रोकथाम योजना तथा आजीविका पैकेज मॉडल की समीक्षा बैठक आयोजित

 सीडीओ आशीष भटगांई की अध्यक्षता में एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना, पलायन रोकथाम योजना तथा आजीविका पैकेज मॉडल की समीक्षा बैठक आयोजित
26 जून, 2021
                                                         

पौड़ी : विकास भवन सभागार पौड़ी में मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई की अध्यक्षता में आज एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना, पलायन रोकथाम योजना तथा आजीविका पैकेज मॉडल की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। “एकीकृत आदर्श कृषि योजना” के अंतर्गत जनपद के 15 विकासखंडों में 16 गांवों का चयन किया गया है। मुख्य विकास अधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि एकीकृत आदर्श कृषि ग्राम योजना के अंतर्गत गांव में जो कार्य प्रगति पर हैं उन्हें बेहतर गुणवत्ता से पूर्ण करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने कहा कि जिन विभागों द्वारा कार्य प्रारंभ नही किया गया है वह भी तत्काल कार्य प्रारंभ करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत किसानों को कृषि, उद्यान, कुकुड़ पालन, बकरी पालन, गाय, मत्स्य, कृषि, घेरबाड़, गौशाला, पॉली हाउस, दीनदयाल उपाध्याय किसान कल्याण योजना सहित अन्य कई लाभ विभिन्न विभागों द्वारा दिये जा रहे हैं।

मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई ने आईएमए विलेज कार्य योजना की विभाग वार समीक्षा की, जिसमें उन्होंने कृषि, उद्यान, पशुपालन, लघु सिंचाई, मत्स्य, ग्राम्य विकास, रेशन तथा सहकारिता विभाग द्वारा चयनित गांव में किये जा रहे कार्य प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि आजीविका मॉडल पैकेज के अंतर्गत जनपद के भूमिहीन किसानों को शामिल किया जा रहा है तथा अलग-अलग विभागों से संचालित हो रही योजनाओं का पैकेज बनाकर किसानों को लाभाविन्त किया जा रहा है। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि चयनित गांवों में हो रहे कार्यों को मनरेगा व अन्य विभागों से सहयोग से पूर्ण करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि जो कार्य पूर्ण तथा प्रगति पर हैं उनका उस स्थान पर योजना का नाम, कार्य शुरू व कार्य पूर्ण करने की तिथि संबंधित बोर्ड लगाना तथा रंग रोगन करना सुनिश्चित करें, ताकि आम जनमानस को योजना के बारे में जानकारी प्राप्त हो सके।

मुख्य विकास अधिकारी ने पलायन रोकथाम योजना हेतु समीक्षा के दौरान कहा कि जनपद में 90 गांव में से 30 गांवों में पूर्व में कार्य प्रारंभ हो चुका है तथा अन्य गांवों में भी कार्य जल्द शुरू किया जाएगा। कहा कि इस योजना के अंतर्गत प्रारम्भिक व धरातलीय कार्य शामिल किए गए हैं, उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को जल्द कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। कहा कि पलायन की रोकथाम हेतु गांव में लोगों को विभिन्न योजनाओं से लाभाविन्त करें, जिससे लोग सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ ले सकें तथा अपने ही घर में रहकर रोजगार अपनाकर अपनी आर्थिकी मजबूत कर सकें।

इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, मुख्य कृषि अधिकारी डी.एस.राणा, मत्स्य अधिकारी अभिषेक मिश्रा, अधिशासी अभियंता लघु सिंचाई राजीव रंजन, दुग्ध अधिकारी लीलाधर सागर, पशुपालन अधिकारी डॉ. एस.के. सिंह, एडीसीओ सहकारिता वेद वृत बालियान, उद्यान से पीडी ढोंडियाल सहित सचिन खन्ना, चंद्र प्रकाश आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: