स्वामित्व योजना कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नही होगी क्षम्य – डीएम डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे

 स्वामित्व योजना कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नही होगी क्षम्य – डीएम डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे
13 जून, 2021
                                                         

पौड़ी : जिलाधिकारी गढ़वाल कैंप कार्यालय के वीसी कक्ष से जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने आज वर्चुअल के माध्यम से जनपद के समस्त उपजिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी एवं तहसीलदार व संबंधित अधिकारी के साथ स्वामित्व योजना के क्रियान्वयन हेतु समीक्षा बैठक ली। 15 अगस्त 2021 को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित स्वामित्व कार्ड वितरण कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को समय से पूर्व कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये। कहा कि किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नही होगा। उन्होने प्राथमिक नक्शा तथा अन्तिम नक्शा इंट्रीब्यूटी कार्य सही तरह से शीघ्र करने के निर्देश दिऐ। कहा कि सभी राजस्व गांव का सर्वे किया जाना है, इसमें किसी प्रकार की दुविधा न रखें। कहा कि जिन-जिन क्षेत्रों में ड्रोन सर्वे नहीं हुआ है वहा तत्काल ड्रोन सर्वे की कार्य करना सुनिश्चित करें तथा नक्शा 30 जून 2021 से पूर्व सर्वे ऑफ इंडिया को भेजना सुनिश्चित करेंगे। अंतिम नक्शा के बाद शीघ्र 10 दिन की नोटिस जारी करेंगे। जो कि 10 दिन के भीतर आपत्ति आने पर निस्तारण की कार्यवाही करेंगे। उन्होने कहा कि तैयार नक्शा को प्रत्येक सप्ताह जिला कार्यालय पौड़ी में एएलआरओ के पास समीट करेंगे, जिन्हे समय पर समन्यवय स्थापित करते हुए सर्वे आफ इण्डिया भारत सरकार को भेज दी जायेगी। कहा कि कार्य में तेजी लाने हेतु साप्ताहिक बैठक आहूत की जायेगी। सभी संबंधित अधिकारी दी गई जिम्मेदारी को गंभीरता से लेना सुनिश्चित करेंगे।

समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने जनपद के सभी तहसीलों की क्रमवार अद्यतन जानकारी संबंधित उपजिलाधिकारी, तहसीलदार से लेते हुए कार्य में तेजी लाने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये। कहा कि कार्य में तेजी लाने हेतु आपसी समन्वय बनाये, तहसील स्तर से पूर्ण नक्शा यथाशीघ्र मुख्यालय भेजना सुनिश्ति करेंगे। जिस हेतु उन्होंने स्वामित्व योजना नोडल अधिकारी डॉ. एसके बरनवाल से कार्यो को लेकर समन्वय बनाये रखने को कहा। कहा कि किसी भी प्रकार की कार्य को लेकर समस्या आने पर एएलआरओ एवं नोडल अधिकारी से संपर्क स्थापित कर निस्तारण करेगें। उन्होंने तहसीलों को आवंटित राजस्व गांव की जानकारी ली, कहा कि जल जीवन मिशन के रिपोर्ट के अनुसार संख्या में एकरूपता नहीं है। अपने आवंटित गांव का भली भांति जांच करने को कहा, साथ ही उन्होने प्राथमिक नक्शा, ड्रोन सर्वे एवं अंतिम नक्शा के कार्य प्रगति की जानकारी लेते हुए कम प्रगति वाले तहसीलदार एवं उपजिलाधिकारी के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए कार्य में तेजी लाने हेतु कडी निर्देश दिये।

अपर जिलाधिकारी डॉ. एसके बरनवाल ने कहा कि लक्षित संख्या करीब 985 नक्शा है, जिन पर तेजी से कार्य करते हुए पूर्ण नक्शा को सर्वे आफ इण्डिया भारत सरकार को भेजा जाना है। शीघ्र तैयार नक्शा को तहसील से आने वाले कार्मिक आदि के माध्यम से भी जिला मुख्यालय में एएलआरओ को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी पौड़ी श्याम सिंह राणा, डीपीआरओ एम एम खान, सहायक भूलेख अधिकारी नरेश नौड़ियाल, तहसीलदार एच एम खंडूरी, तहसीलों से उपजिलाधिकारी कोटद्वार, योगेश मेहरा, श्रीनगर रविन्द्र बिष्ट, सतपुली संदीप कुमार, लैसडोन अपर्णा ढौडियाल सहित खण्ड विकास अधिकारी, तहसीलदार आदि ने वीसी के माध्यम से प्रतिभाग किया।

Related post

%d bloggers like this: