देवभूमि की देवदूत कहे जाने वाली SDRF नें हर्षोल्लास से मनाया वाहिनी का 09 वां स्थापना दिवस, सेंट्रल पुलिस कैंटीन का भी हुआ उद्घाटन

 देवभूमि की देवदूत कहे जाने वाली SDRF नें हर्षोल्लास से मनाया वाहिनी का 09 वां स्थापना दिवस, सेंट्रल पुलिस कैंटीन का भी हुआ उद्घाटन
Posted on अक्टूबर 9, 2021 3:31 pm
                                                   
SDRF उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा हर्षोल्लास से मनाया गया वाहिनी का 9वां स्थापना दिवस
देहरादून : SDRF वाहिनी, जॉलीग्रांट में 9 अक्टूबर 2021 को वाहिनी  का 09 वां स्थापना दिवस जोश और उत्साह से मनाया गया। वर्ष 2013 की भीषण श्री केदारनाथ आपदा के पश्चात उत्तराखण्ड राज्य में राज्य आपदा प्रतिवादन बल (SDRF) की स्थापना हुई थी। स्थापना के वर्ष से ही अपने कार्य की मूल भवना के अनुरूप SDRF द्वारा पर्वतीय प्रदेश की जीवनशैली को अस्त व्यस्त कर देने वाली प्रत्येक छोटी बड़ी आपदा, भूस्खलन, सड़क दुर्घटना, जल रेस्क्यू, चारधाम यात्रा, कैलाश मानसरोवर यात्रा, कांवड़, महाकुम्भ इत्यादि में अपना विशिष्ट योगदान दिया है। वर्ष 2014 में जनपद रुद्रप्रयाग में अपने प्रथम व्यवस्थापन के टेन्ट से शुरू हुआ यह बल आज राज्य के प्रत्येक जनपद में कर्तव्य पथ पर तत्पर है। स्थापना से लेकर निरन्तर यह बल अधिकाधिक सामर्थ्यवान हो रहा है, अल्प अवधि में ही इस SDRF ने जनता, प्रशासन एवं पुलिस विभाग में अपने समर्पण, अनुशासन व उच्चकोटि की कार्यदक्षता से अमिट छाप छोड़ी है। अपनी समस्त कठिनाइयों, संघर्षो, उपलब्धियों एवं बलिदानों से भरे सफर को मन में सँजोये हुए प्रत्येक अधिकारी/कर्मचारी आज गौरवान्वित महसूस कर रहा है।

This slideshow requires JavaScript.

आज SDRF के स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर सेनानायक SDRF नवनीत सिंह  ने वाहिनी के अधिकारी/ कर्मचारियों एव उनके परिजनों के कल्याणार्थ, SDRF वाहिनी जॉलीग्रांट में सेंट्रल पुलिस कैंटीन का रिबन काटकर उद्घाटन किया । सेंट्रल पुलिस कैंटीन का शुभारंभ करते हुए सेनानायक SDRF नवनीत सिंह ने कहा कि परिसर में बढ़ती जवानों और अधिकारियों की संख्या को देखते हुए कैंटीन की ज़रूरत  महसूस की जा रही थी। लंबे समय से जवान एवं उनके परिजन कैंटीन सुविधा का लाभ नहीं ले पा रहे थे । चूंकि सेंट्रल पुलिस कैन्टीन, पुलिस लाइन देहरादू में है, अतः SDRF जॉलीग्रांट एवं नज़दीकी थाना/ चौकियों के कर्मियों के लिए पुलिस लाइन की कैंटीन तक का सफर ज़्यादा हो जा रहा था और वो इस सुविधा का लाभ उठाने में वंछित हो जा रहे थे। सेनानायक SDRF के सतत प्रयासों का ही असर है कि आज से सेंट्रल पुलिस कैंटीन की सुविधा SDRF वाहिनी में ही उपलब्ध हो जाएगी । जिससे न केवल वाहिनी की अधिकारी/ कर्मचारियों को बल्कि नज़दीकी थाना/ चौकियों को व अन्य पैरामिलिट्री जवानों को भी न्यूनतम दरों में दैनिक उपयोग का सामान उपलब्ध हो जाएगा।
SDRF वाहिनी स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर वाहिनी में विभिन्न प्रकार के खेलों का आयोजन किया गया। सर्वप्रथम वॉलीबाल मैच खेला गया, जिसमे वाहिनी की समस्त कंपनियों के कुशल खिलाड़ियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। फाइनल मैच मुख्यालय व डी कंपनी के बीच खेला गया, जिसमे डी कम्पनी की टीम विजेता रही। इसके पश्चात रस्सा कस्सी प्रतियोगिता (महिला व पुरुष ) भी आयोजित की गई। जिसमे सभी ने बढ़ चढ़कर प्रतिभाग किया गया। एवं विजेता टीम व खिलाड़ियों को सेनानायक द्वारा पुरस्कृत भी किया गया व वाहिनी स्थापना दिवस की शुभकामनाएं देते हुए नई ऊंचाइयों की ओर अग्रसर रहने हेतु व अपने त्याग और समर्पण से मानव सेवा हेतु प्रोत्साहित किया। खेल प्रतियोगिताओं के उपरान्त बड़े खाने का भी आयोजन किया गया, जिसमे  वाहिनी के समस्त अधिकारी / कर्मचारियों द्वारा साथ मे भोजन ग्रहण किया गया। इस अवसर पर उप- सेनानायक अजय भट्ट, सहायक सेनानायक प्रकाश देवली, सहायक सेनानायक अनिल शर्मा, शिविरपाल राजीव रावत, निरीक्षक प्रशिक्षण प्रमोद रावत, निरीक्षक प्रेम सिंह नेगी, निरीक्षक जगदम्बा बिजल्वाण, निरीक्षक अनिरुद्ध भंडारी, निरीक्षक अनिता गैरोला, निरीक्षक ललिता नेगी, निरीक्षक विनोद गौड़, निरीक्षक गजेंद्र परवाल, सूबेदार मेजर जयपाल राणा, आशुलिपिक  पूनम शाह, उप- निरीक्षक विजय रयाल, नीरज शर्मा सहित आदि लोग मौजूद रहे।

Related post