राईफल चोरी के मामले में हिरासत में लिए गए युवक की मौत, हत्या का आरोप, शव थाने में रखकर हंगामा वन विभाग की रायफल चोरी के शक में पूछताछ के लिए लाई थी पुलिस

 राईफल चोरी के मामले में हिरासत में लिए गए युवक की मौत, हत्या का आरोप, शव थाने में रखकर हंगामा वन विभाग की रायफल चोरी के शक में पूछताछ के लिए लाई थी पुलिस
23 जुलाई, 2021
                                                         
कालागढ़ । कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की झिरना रेंज से राइफल चोरी के मामले में हिरासत में लिए गए एक युवक की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि थाने में पिटाई के बाद उक्त युवक की मौत हुई है। शुक्रवार की सुबह युवक के परिजन थाने के बाहर पहुंचे और शव को रख कर खूब हंगामा किया। मृतक के परिजन थाने का घेराव करते हुए और शव को रखकर मुआवजे की मांग करते हुए दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और जमकर हंगामा किया। मामला कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की झिरना रेंज का है जहाँ एक चौकी से कुछ दिन पहले एक राइफल गायब हो गई थी। वन विभाग ने राइफल गुम होने की सूचना कालागढ़ पुलिस को दी। आरोप है कि पुलिस ने वन विभाग के एक पूर्व में नियुक्त सुनील उर्फ सोनू पुत्र जगराम निवासी फतेपुर धारा फायर वाचर से शक के आधार पर पूछताछ की। वन विभाग ने अज्ञात पर राइफल चोरी का आरोप लगाकर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।
गुरुवार रात को फायर वाचर सुनील उर्फ सोनू कुमार की उपचार के दौरान मौत हो गई। सुबह बड़ी संख्या में ग्रामीणों व किसान यूनियन ने कालागढ़ थाने पहुंचकर मृतक के शव के साथ जोरदार प्रदर्शन किया।प्रदर्शनकारियों ने सोनू कुमार की मृत्यु पर पुलिस एवं वन विभाग के खिलाफ बेवजह प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। उन्होंने मांग की कि ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए और परिवार को उचित मुआवजा दिए जाने की भी मांग की। परिजनों का आरोप है कि पुलिस की मारपीट के चलते ग्रामीण की हालत बिगड़ी थी। रात में उपचार के लिए बिजनौर ले जाते समय युवक की मृत्यु हो गयी। 
शुक्रवार की सुबह कालागढ़ में बड़ी संख्या में क्षेत्र के दर्जनों गांव के ग्रामीण थाने के सामने जमा हो गए। बड़ी संख्या में धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया। प्रदर्शनकारी वन वाचर के शव के साथ मौके पर अधिकारियों को बुलाने की मांग करने लगे। उधर पुलिस ने थाने के गेट को बंद कर दिया। जिससे ​ग्रामीणों का गुस्सा और भी अधिक बढ़ गया। गेट पर ही पुलिस व ग्रामीणों के बीच नोकझोंक शुरू हो गई। थाना कार्यालय के सामने पुलिस अधिकारी व ग्रामीणों के बीच तीखी नोक झोक हुई। ग्रामीणों ने शव को थाना परिसर में रखकर जोरदार प्रदर्शन किया। मृतक की पत्नी कमलेश देवी ने बताया कि उसके पति सोनू कुमार को कालागढ़ थाने में थर्ड डिग्री का प्रयोग करते हुए उसको प्रताड़ित किया। मरणासन्न हालत में उसे रिश्तेदारों के साथ अस्पताल लेकर गए। रास्ते मेंं ही उसकी मौत हो गई। जिस पर सुबह उसका शव लेकर थाने आए। यहां वन विभाग के अधिकारियों व पुलिस के अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग की है।
उधर अफ़ज़लगढ़ के सीएचसी प्रभारी डा. रजनीश कुमार ने बताया सोनू की हालत खराब होने के कारण उसे हायर सैंटर रैफर किया गया था। इसके अलावा कालागढ़ के पीएचसी में एक अन्य ग्रामीण पुष्पेन्द्र कुमार निवासी धारा को भी हालत खराब होने पर हायर सैंटर रैफर किया गया है। उसके साथ भी पुलिस पूछताछ कर रही थी। मामला बिगड़ता देख कोटद्वार एसडीएम योगेश मेहरा, उप निदेशक कॉर्बेट टाइगर रिज़र्व कल्याणी, तहसीलदार कोटद्वार, अपर पुलिस अधीक्षक काशीपुर प्रमोद कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक हरिद्वार, निरीक्षक जसपुर जगदीश सिंह देउपा , निरीक्षक नरेन्द्र सिंह बिष्ट व भारी पुलिस बल व फायर ब्रिगेड के साथ कालागढ़ थाने पहुंचे व मामले को संभालने की कोशिश की लेकिन गुस्साई व आक्रोशित भीड़ ने किसी की एक ना सुनी व उनका उग्र प्रदर्शन जारी रहा मामले की जानकारी सम्बंधित विधानसभा क्षेत्र को दी गयी जानकारी मिलने के पश्चात  विधायक सुशांत सिंह मौके पर पहुँचे व भीड़ को संभालकर शांत किया व एक प्रतिनिधि दल को लेकर विधायक ने अधिकारियों के साथ बातचीत कर मामले को सुलझाने का प्रयास किया ।
बकौल विधायक सुशांत सिंह मृतक के परिजनों को 6 लाख मुआवजा व उसकी पत्नी को वन विभाग में अस्थायी नौकरी मिलने के साथ आरोपियों पर जांच कर कड़ी कार्यवाही का आश्वासन दिलाया । जहाँ कॉर्बेट टाइगर रिज़र्व की उप निदेशक कल्याणी ने 50 हजार रु तुरन्त देकर जल्द ही पूरा मुआवजा देने की बात कही । वहीं बढ़ापुर विधायक सुशान्त सिंह ने भी पीड़ित परिवार को 21 हजार रु दिये व जल्द ही कार्यवाही का आश्वासन दिया । उसके बाद ही ग्रामीणों ने शव को पोस्टमार्टम के लिये जाने दिया । इस मौके पर अफजलगढ़ ब्लाक प्रमुख प्रमोद कुमार उर्फ बबली , भाजपा जिला महामंत्री जितेंद्र बॉबी व स्थानीय प्रतिनिधियों के साथ राजवीर सिंह , विजेंद्र सिंह थापा , मोहन सिंह, धर्म सिंह उर्फ धर्मा , बलजीत चौधरी, डॉ. नोबहार, महेंद्र सिंह व सैकड़ो ग्रामवासी मौजूद रहे ।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पौड़ी पी रेणुका देवी ने बताया कि वन विभाग की एक राइफल चोरी हुई थी जिसे लेकर सुनील उर्फ सोनू से पूछताछ की जा रही थी इस दौरान उसकी तबियत खराब हुई और उसे घर भेज दिया गया बाद में उसे अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गयी । उक्त प्रकरण को संज्ञान में लेकर सही ढंग से जांच होगी और इसमें जो भी दोषी पाया जायेगा उसके विरुद्ध कार्यवाही भी होगी ।
 

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: