STF उत्तराखंड का नशा तस्करों पर फाईनेन्शियल ऑपरेशन, सीज की अवैध सम्पत्ति, जानें स्मैक तस्करों की कितनी है अवैध कमाई

 STF उत्तराखंड का नशा तस्करों पर फाईनेन्शियल ऑपरेशन, सीज की अवैध सम्पत्ति, जानें स्मैक तस्करों की कितनी है अवैध कमाई
17 जुलाई, 2021
                                                         
बरेली, सहारनपुर, उ.प्र. के संगठित नशा तस्करों पर स्पेशल टास्क फोर्स/एण्टी ड्रग टास्क फोर्स STF/ADTF का फाईनेन्शियल (वित्तीय) ऑपरेशन

देहरादून : जनपद बरेली यूपी से उत्तराखण्ड राज्य में बढ़ते नशे के व्यापार, विशेशकर स्मैक की सप्लाई होने पर पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड अशोक कुमार द्वारा ऐसे नशा तस्करों की सम्पत्ति को सीज व फ्रीज करने के आशय से संगठित नशे के अवैध तस्करी के विरू़द्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत थाना श्यामपुर, जनपद-हरिद्वार में पंजीकृत मु.अ.सं. 47/21 व 48/21 धारा 8/21 एन.डी.पी.एस की विवेचना कुछ माह पहले पुलिस महानिरीक्षक अपराध एवं कानून व्यवस्था उत्तराखण्ड वी. मुरूगेशनके आदेशानुसार थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार से स्पेशल टास्क फोर्स को स्थानान्तरित की गई थी।

उक्त अभियोग में एण्टी ड्रग टास्क फोर्स द्वारा 09 मार्च 2021 को 02 अभियुक्तगण 1. सूरज कुमार पुत्र सुशील कुमार, पता- ग्राम करोन्दी, भगवानपुर, हरिद्वार । 2. सोनू सैनी पुत्र पवन सैनी, पता-ग्राम रायपुर, भगवानपुर हरिद्वार, को चण्डी चैक पर गिरफ्तार किया गया था। अभियुक्त सूरज कुमार के पास से 305 ग्राम अवैध स्मैक व अभियुक्त सोनू सैनी के पास से 272 ग्राम अवैध स्मैक बरामद की गयी थी। पूछताछ में दोनों अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि मादक पदार्था की तस्करी मे काफी मुनाफा होता है इसलिए वह अपने क्षेत्र में स्मैक बेचने का काम साथ मिलकर कर रहे थे। पुलिस द्वारा अभियुक्तों से गहनतापूर्वक पूछने पर बताया की वे स्मैक बरेली, उत्तर प्रदेश से लाकर देहरादून, उत्तराखण्ड राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में बेचते है जहां बरेली उत्तर प्रदेश में रिजवान नाम का व्यक्ति वृहद् स्तर पर स्मैक की तस्करी करता है जिससे वो पूर्व में भी स्मैक ला चुके है।

         स्मैक तस्कर

उत्तराखण्ड राज्य में प्रथम बार गिरोह के सदस्यों के विरुद्ध एन.डी.पी.एस. एक्ट के अध्याय पाँच की धारा 68 के अन्तर्गत फाइनेंशियल इन्वेस्टिगेशन प्रारम्भ करते हुए अवैध स्मैक की तस्करी में गिरफ्तार उपरोक्त दोनों अभियुक्तों से मिली जानकारी के अनुसार बरेली के तस्कर रिजवान के सम्बंध में जानकारी हेतु गोपनीय रूप से अलग- अलग टीमों को लगाया गया था। टीमों के अथक प्रयास के फलस्वरूप तस्कर रिजवान के मोबाइल नम्बर का पता लगाया गया। रिजवान के मोबाइल नम्बर व अभियुक्तगण सूरज व सोनू के मोबाइल नम्बरों का तकनीकी रूप से विश्लेशण कर भौतिक रूप से सत्यापन किया गया। अभियुक्त के बैंक खातों , यूनियन बैंक ऑफ इण्डिया , फिनो पेमेंट बैंक तथा मैक्स लाइफ इंश्योरेंस, यूनियन बैंक ऑफ इण्डिया, बैंक ऑफ बड़ोदा व एक्सिस बैंक की डिटेल से पता चला कि अभियुक्त का एक लोन एकाउंट भी खुला है जिस पर उसने एक ट्रेक्टर 7.5 लाख रूपये के लोन में ले रखा है। उक्त बैंक खातों की डिटेल प्राप्त कर महत्तवपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई कि रिजवान के खातों में भिन्न-भिन्न लोगों के द्वारा विगत 6 माह में काफी रूपया जमा कराया गया है जो कि लाखों में हैं।

इसके अतिरिक्त उपरोक्त डिटेल FINANCIAL INTELLIGENCE UNIT INDIA (FIU- INDIA) नई दिल्ली को प्रेषित की गई। एनडीपीएस एक्ट की धारा 57 ए (जब्त व गिरफ्तारी की सूचना देना) के अन्तर्गत उपरोक्त अभियुक्तों के विरूद्ध वित्तीय विवेचना के सम्बंध में सूचना सक्शम प्राधिकारी COMPETENT AUTHORITY दिल्ली को अलग से प्रेषित की गई।

रिजवान के विरूद्ध पर्याप्त साक्ष्य होने पर अभियोग में रिजवान के विरूद्व धारा 29 एनडीपीएस एक्ट (दुष्प्रेरण व आपराधिक षडयन्त्र के लिए दण्ड) की बढो़त्तरी कर माननीय न्यायालय से गैर जमानतीय वारन्ट लेकर STF की टीम द्वारा निरीक्षक शरद चन्द्र गुसांई के नेतृत्व में रिजवान पुत्र शमशाद निवासी फतेहगंज बरेली की गिरफ्तारी हेतु  27 मई 2021 को प्रथम बार उत्तराखण्ड राज्य से किसी पुलिस टीम द्वारा बरेली उत्तर प्रदेश जाकर एनडीपीएस एक्ट में कार्यवाही कर अभियुक्त के घर में दबिश दी गई जहाॅ अंधेरा का फायदा उठाकर अभियुक्त फरार हो गया मौके पर घर की तलाशी पर अभियुक्त की पत्नी तवस्सुम के कब्जे से 108 ग्राम स्मैक व 02 लाख रूपये बरामद किए गए, जिस पर फरार अभियुक्त की पत्नी तवस्सुम के विरूद्व थाना-फतेहगंज में एनडीपीएस एक्ट की धाराओं में अभियोग पंजीकृत कराया गया।

अभियुक्त की पत्नी तवस्सुम ने पूछताछ में बताया कि उसके पति रिजवान ने तवस्सुम के नाम से भी दो बैंक खाते खोल रखे है जिनमें वह लोगों से तस्करी से प्राप्त रूपये जमा करवाता था। उक्त खातों की डिटेल खंगाली गई तो उनमें भी लाखों का लेनदेन होना पाया गया। अवैध सम्पत्ति की जानकारी के सम्बंध में उत्तर प्रदेश के स्टाम्प पेपर व रजिस्ट्रेशन विभाग की वेबसाइट HTTPS://IGRSUP.GOV.IN वेब पेज में जाकर अभियुक्त की पत्नी तवस्सुम के नाम से  पंजीकृत जमीनों की जानकारी निकाली गई। जिससे पता चला कि तवस्सुम के नाम जनपद-बरेली में काफी जमीन है जो उसने और उसके पति रिजवान ने अवैध व्यापार से विगत दो वर्षों से कमायी हुई है।

09 जून 2021 को गिरोह सरगना रिजवान को जनपद-बरेली से गिरफ्तार कर अभियुक्त का पुलिस कस्टडी रिमाण्ड लेकर उसकी निशानदेही पर उसके घर से मादक पदार्थो की तस्करी से अर्जित चल व अचल सम्पत्ति से सम्बंधित कागजात व तस्करी में प्रयुक्त अलग-अलग 5 मोबाइल फोन बरामद किए गए।जिसके द्वारा कड़ी पूछताछ में बताया कि उसके द्वारा अपने गिरोह के साथ नशे की तस्करी में संलिप्त जनपद-सहारनपुर में शहजाद व उसकी पत्नी मैसर के माध्यम से उतर प्रदेश व उत्तराखंड में स्मैक बिकवाई जा रही थी। जिस पर मादक पदार्थों की तस्करी के गिरोह के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही करते हुए 01 जुलाई 2021 को एन्टी ड्रग्स टास्क फोर्स/स्पेशल टास्क फोर्स की टीम द्वारा सहारनपुर जनपद के मिर्जापुर थाना क्षेत्र से स्मैक तस्कर शहजाद पुत्र निसार अहमद व उसकी पत्नी मैसर जहां को धारा 29 एनडीपीएस एक्ट (दुष्प्रेरण व आपराधिक षडयन्त्र के लिए दण्ड) में गिरफ्तार किया गया।

बैंक खातों की डिटेल खंगाली गई तो जानकारी हुई कि उक्त दोनों के द्वारा रिजवान व उसकी पत्नी तबस्सुम के खाते में 15 लाख रुपये की ट्रांजैक्शन की गई है अभियुक्तां द्वारा पूछताछ में बताया गया कि वह रिजवान से माल खरीदकर देहरादून में  विकासनगर , हरबर्टपुर में स्मैक की तस्करी करते थे। मादक पदार्थों की अवैध तस्करी करने वाले गिरोह के सरगना व उसके सदस्यों की गिरफ्तारी करते हुए अभियुक्तगणों के विरूद्व ठोस कार्यावाही करते हुए गिरोह के सरगना रिजवान उपरोक्त के साथ अभी तक कुल 6 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है, अभी और तस्करों की गिरफ्तारी की जानी शेष है।

 मादक पदार्थों की अवैध तस्करी करने वाले गिरोह के सरगना रिजवान व उसकी पत्नी तवस्सुम के द्वारा अवैध व्यापार से अर्जित अवैध चल व अचल सम्पत्ति को सीज करते हुए उक्त दोनों के बैंक खातों को फ्रीज किया गया। अन्य अभियुक्तगणों की सम्पत्ति की जाँच प्रचलित है। अभी तक विगत 6 माह मेंराज्य में कुल 38 अभियोग व्यावसायिक मात्रा के पंजीकृत हो चुके है जिनकी वित्तीय विवेचना के सम्बंध में शीघ् ही जनपदों में भी ऐसी ही कार्यवाही के निर्देश पुलिस मुख्यालय से निर्गत किए जाएंगे।

सीज की गई अवैध सम्पत्ति का विवरण

  1. एक प्लाट क्षेत्रफल .298 हेक्टेयर ग्राम घटगांव मीरगंज बरेली, उत्तर प्रदेश । सरकारी मूल्य 8, 06, 000 ।
  2. एक प्लाट क्षेत्रफल .192 हेक्टेयर ग्राम घटगांव मीरगंज बरेली, उत्तर प्रदेश । सरकारी मूल्य 4, 42, 000 ।
  3. एक घर क्षेत्रफल 53.235 वर्गमीटर ग्राम मनकरा मीरगंज बरेली, उत्तर प्रदेश । सरकारी मूल्य 6, 99, 000 ।
  4. एक घर क्षेत्रफल 41.63 वर्गमीटर ग्राम चंदनपुर मीरगंज बरेली, उत्तर प्रदेश । सरकारी मूल्य 90, 000 ।
  5. एक प्लाट क्षेत्रफल 116.97 गज फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश । सरकारी मूल्य 12, 70, 000 ।
  6. एक प्लाट क्षेत्रफल 126.66 वर्ग गज फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश । सरकारी मूल्य 10, 65, 000 ।
उक्त सम्पत्तियों का बाजार मूल्य काफी अधिक है।

फ्रीज किए गए बैंक खातों का विवरण

  1. स्टेट बैंक आफ इण्डिया शाखा फतेहगंज पश्चिमी बरेली, उत्तर प्रदेश ।
  2. यूनियन बैंक आफ इण्डिया शाखा फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश ।
  3. यूनियन बैंक आफ इण्डिया शाखा फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश ।
  4. बैंक आफ इण्डिया शाखा फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश ।
  5. एक्सिस बैंक शाखा फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश ।
  6. फिनो पेमेंट बैंक मुख्य शाखा, महाराष्ट्र।

जब्त किए गए वाहनों का विवरण

  1. एक मोटर साइकिल सुपर स्पलेण्डर, कीमत- रू0 65, 000/-
  2. एक स्कूटर एक्टिवा 4 जी हीरो कम्पनी कीमत-रू0 66, 000/-
  3. एक ट्रेक्टर सोनाली डी आई कीमत- रू0 7, 50, 000/-

अभियुक्त रिजवान का आपराधिक इतिहास

  1.  मु.अ.सं. 294/18 धारा8/21 NDPS ACT थाना फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश ।
  2. मु.अ.सं. 296/18 धारा5/25 आयुध अधिनियम, थाना-फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश ।
  3. मु.अ.सं.173/19धारा-316, 376डी, 506 भा0द0वि0थाना फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश ।
  4. मु.अ.सं. 5/19 धारा  8/21 NDPS ACT  थाना फतेहगंज पश्चिमीबरेली, उत्तर प्रदेश ।
  5. मु.अ.सं. 325/20 धारा  174 ए भा0द0वि0  थाना फतेहगंज पश्चिमी, बरेली, उत्तर प्रदेश ।
  6. मु.अ.सं. 47/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।
  7. मु.अ.सं. 48/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।

अभियुक्त शहजादका आपराधिक इतिहास

  1. मु.अ.सं. 148/16 धारा 8/20 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना क्लेमनटाउन जनपद देहरादून।
  2. मु.अ.सं. 357/18 धारा 8/21 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना पटेलनगर जनपद देहरादून।
  3. मु.अ.सं. 47/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।
  4. मु.अ.सं. 258/16 धारा 60 आबकारी अधिनियम थाना मिर्जापुर सहारनपुर उत्तर प्रदेश

अभियुक्ता तबस्सुम का आपराधिक इतिहास

  1. मु.अ.सं. 47/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।
  2. मु.अ.सं. 48/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।
  3. मु.अ.सं. 141/21 धारा 8/21/27ए थाना फतेहगंज, पश्चिमी बरेली, उत्तर प्रदेश ।

अभियुक्ता मेसर का आपराधिक इतिहास

  1.  मु.अ.सं. 47/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।

अभियुक्त सोनू सेनी का आपराधिक इतिहास

  1. मु.अ.सं. 47/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।
  2. मु.अ.सं. 48/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।

अभियुक्त सूरज कुमार का आपराधिक इतिहास

  1.  मु.अ.सं. 47/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार।
  2. मु.अ.सं. 48/21 धारा 8/21/29 एन.डी.पी.एस. एक्ट थाना श्यामपुर जनपद हरिद्वार

 

NDPS Commercial Data month of June 2021 District Wise

S.NO

DISTRICT

NO. OF COMMERCIAL CASE

1

HARIDWAR

3

2

POURI

2

3

DEHRADUN

4

4

TEHRI

5

5

RUDRAPRAYAG

6

CHAMOLI

7

UTTARKASHI

8

NAINITAL

7

9

UDHAM SINGH NAGAR

4

10

CHAMPAWAT

6

11

BAGESHWAR

1

12

PITHORAGARH

3

13

ALMORA

3

14

G.R.P.

 

TOTAL

38

 

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: