देहरादून के पटेलनगर क्षेत्र में एसटीएफ ने किया फर्जी इंटरनेशनल कॉल सेन्टर का खुलासा

 देहरादून के पटेलनगर क्षेत्र में एसटीएफ ने किया फर्जी इंटरनेशनल कॉल सेन्टर का खुलासा
26 जून, 2021
                                                         
विगत 06 माह में तीसरे बडे अन्तराष्ट्रीय फर्जी काँल सेन्टर का एसटीएफ ने किया भडाफोड
STF उत्तराखण्ड की फर्जी काल सेन्टर के विरुद्ध कार्यवाही 02 अभियुक्त गिरफ्तार

देहरादून : वर्तमान में लगातार बढते साइबर अपराध व निरन्तर बदल रहे साइबर अपराध के तरीको का फायदा उठाकर साइबर अपराधी पूरे प्रदेश ही नही विदेशी नागरिको से भी कॉल सेन्टर के माध्यम से फर्जीवाडा कर धोखाधडी को अंजाम दे रहे है , जिस पर एसटीएफ उत्तराखण्ड द्वारा उत्तराखण्ड प्रदेश में चल रहे विभिन्न कॉल सेन्टर पर निगरानी करते हुये लगातार बढ रहे फर्जी कॉल सेन्टर के व्यापार पर लगाम लगाने हेतु निरन्तर सक्रिय है, इस क्रम में एक बार पुनः कल देर शाम देहरादून जनपद के पटेलनगर थाना क्षेत्रान्तर्गत चल रहे फर्जी अन्तर्राष्ट्रीय काल सेन्टर का खुलासा एसटीएफ उत्तराखण्ड द्वारा किया गया ।

पुलिस उपमहानिरीक्षक अपराध एंव कानून व्यवस्था/एसटीएफ द्वारा आज प्रेस कांफ्रेंस में विस्तार से घटनाक्रम बताया कि एसटीएफ टीम को पिछले कुछ समय से देहरादून के पटेल नगर क्षेत्रान्तर्गत फर्जी काल सेन्टर के संचालन सम्बन्धी सूचना प्राप्त हो रही थी, जिसमे फर्जी काल सेन्टर में कार्य करने वाले लोगों के द्वारा अमेरिकी नागरिको को उनके कम्प्यूटर/लैपटॉप सिस्टम्स के सर्विस आदि के नाम पर कॉल कर ठगी करने सम्बन्धी कार्य किये जा रहे थे।

उपरोक्त सूचना के आधार पर पुलिस उपाधीक्षक एसटीएफ जवाहरलाल के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया  व देर रात एसटीएफ के द्वारा पटेलनगर थाना क्षेत्रान्तर्गत गुरु राम राय पीजी कॉलेज के पास एक फ्लैट में फर्जी अन्तराष्ट्रीय काल सेन्टर पर दबिश दी ।  जिसमें मौके पर 02 व्यक्ति मौजूद थे जिनसे पूछताछ की गयी तो उनके द्वारा बताया गया कि वो लोग डेस्कटॉप और लैपटॉप से अमेरिकी नागरिको को विभिन्न सॉफ्टवेयर के माध्यम से फर्जी कस्टमर केयर अधिकारी बनकर उन्हे उनके सिस्टम पर तकनीकी खराबी को ठीक करने का झांसा देकर उनसे इस सर्विस के नाम पर पैसे लेकर ठगी करते है । इस कार्य हेतु उनके द्वारा 02 टोल फ्री नम्बर क्रय किये गये है जो उनके लैपटॉप व कम्प्यूटर पर मौजूद सॉफ्टवेयर से कनेक्टेड है, जब कोई अमेरिकी नागरिक अपने देश मे सिस्टम/डिवाईस के रिपेयर हेतु गूगल पर कस्टमर केयर नम्बर तलाश करेगा तो उसे उनका ही नम्बर मिलेगा, जिस पर उसके द्वारा कॉल करने हम लोग उन्हे सम्बन्धित कम्पनी का कस्टमर केयर अधिकारी बनकर बात करते है, तथा झांसा देकर उनके डिवाइस में Remote access Software install करवाकर उनके सिस्टम में काफी खराबी होना तथा उनके डिवाइस को ठीक करने के नाम पर 100 डालर से 900 डालर प्राप्त करते है । कुछ कस्टमर चैक के माध्यम से भी पेमेन्ट करते है जिसे अमेरिका में निवासरत उनकी सहयोगी Melisaa के खाते मे जमा कराये जाते है जिसे वह अपना कमीशन काटकर हमे दिल्ली स्थित बैंक खाते मे भेज देती है । गिरफ्तार अभियुक्तो के तीन विभिन्न बैक खातो ( PNB ,HDFC,BANK OF INDIA ) में लगभग 1 करोड 10 लाख रुपये की धनराशि होनी पायी गयी है जिसके सम्बन्ध में जाँच कर बैंक शाखाओं से पत्राचार कर धनराशि को फ्रीज कराया गया है । साथ ही ई0डी0 सहित अन्य विभिन्न एजेन्सियों से उक्त धनराशि के सम्बन्ध में पत्राचार किया जा रहा है । साथ ही अमेरिका स्थित बैक ROYAL CREDIT UNION & QUIBICAL TECHNICAL SERVICES की सलिप्ता के सम्बन्ध में इण्टरपोल के माध्यम से पत्राचार किया जायेगा । उपरोक्त घटना के सम्बन्ध में थाना पटेलनगर पर धारा 420,120 बी भादवि व 66 डी,75 आईटी एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया है ।

अपराध का तरीका

अभियुक्तगणों द्वारा उत्तराखण्ड राज्य में रहकर अमेरिका में रहने वाली अपने सहयोगी के माध्यम से देहरादून में फर्जी कॉल सेन्टर संचालित कर अमेरिका स्थित कम्प्यूटर सर्विस सेन्टर के नाम से 02 टोल फ्री नम्बर गूगल पर प्रसारित करना जिस पर अमेरिकी नागरिको द्वारा अपने सिस्टम/डिवाइस को ठीक करने हेतु उक्त टोल फ्री नम्बर पर सम्पर्क करने पर कॉल सेन्टर में बैठे व्यक्तियो द्वारा स्वंय को विभिन्न सॉफ्टवेयर कम्पनियो के नाम से फर्जी कस्टमर केयर अधिकारी बनकर उन्हे उनके सिस्टम की तकनीकी खराबी को ठीक करने का झांसा देकर , उनके डिवाइस में Remote access Software install (SUPREMO) करवाकर उनके सिस्टम / डिवाइस को ठीक करने के नाम पर धोखे से धनराशि चैक व कैश के माध्यम से (100 से लेकर 900 डालर ) प्राप्त करते है । अभियुक्तगण द्वारा अपराध को अंजाम देने के लिये अपने लैपटाप पर EYEBEAM DIALER व कम्प्यूटर डैस्कटाँप पर SOFTPHONE DIALER CLIENT SOFTWARE को इस्टाल कर विदेश में टोल फ्री नम्बर पर फोन किये जाने हेतु प्रयोग किया जाता है । इनके द्वारा 02 टोल फ्री नम्बर 100 डालर में THE REAL PBX COMPANY से खरीद कर घटना को अंजाम दिया जाता है । साथ ही इनके द्वारा द्वारा गूगल पर एक्सेल शीट पर विदेशो नागरिको की जानकारी एकत्रित की जाती है । जो भी कस्टमर चैक के माध्यम से भी पेमेन्ट करते है तो अमेरिका में निवासरत उनके सहयोगी द्वारा अमेरिका स्थित बैक ROYAL CREDIT UNION & QUIBICAL TECHNICAL SERVICES बैक के माध्यम से उक्त चैको को कैश करवाकर कमीशन के आधार पर धनराशि दिल्ली स्थित बैंक खाते मे प्राप्त कर धोखाधड़ी करना । व साइबर अपराधियों द्वारा प्राप्त धनराशि को अपनी दैनिक शौकों को पूरा करने तथा महंगी गाडियो को खरीदने व रिहाइशी भवनो को खरीदने के लिये किया जाता है । इनके द्वारा देहरादून शहर में 60 लाख रुपये की धनराशि का भवन QUEENS COURT APPARTMENT ISBT के पास लिया गया साथ ही 16 लाख कि KIA SELTOS कार भी आम जनता से धोखाधडी कर प्राप्त धनराशि से लेना प्रकाश में आया है ।

उल्लेखनीय है कि एसटीएफ उत्तराखण्ड द्वारा उत्तराखण्ड प्रदेश में चल रहे विभिन्न कॉल सेन्टर पर निगरानी करते हुये लगातार बढ रहे फर्जी कॉल सेन्टर के गोरखधन्धे पर लगाम लगाने हेतु माह जनवरी में पुलिस उपाधीक्षक अंकुश मिश्रा के नेतृत्व में एसटीएफ उत्तराखण्ड द्वारा बसंत बिहार क्षेत्र में एक अन्तर्ष्टीय फर्जी कॉल सेन्टर के संचालक को गिरफ्तार कर कॉल सेन्टर का भडाफोड किया गया था उक्त काल सेन्टर में सीनियर सीटिजन को बीमा पाँलिसी के नाम पर झाँसे में लेकर अमेरिकी नागरिको से धोखाधडी की जाती थी ,इसी क्रम में अप्रैल में स्पेशल टास्क फोर्स के पुलिस उपाधीक्षक जवाहर लाल के नेतृत्व में स्पेशल तकनीकी टीम द्वारा देहरादून में A. D.Builders के नाम से आई. टी. पार्क के पास प्रोपेर्टी खरीदने व बेचने के नाम पर संचालित किये जा रहे अंतरराष्ट्रीय फर्जी कॉल सेन्टर के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार किया गया जो अमेरिकन सिटीजन्स को विभिन्न सेवा देने और कंप्यूटर में फ़र्ज़ी वायरस से सिस्टम को नुकसान से बचाने के नाम से धनराशि प्राप्त कर धोखाधडी करते थे ।

प्रभारी स्पेशल टास्क फोर्स द्वारा बताया गया कि एसटीएफ ने इस वर्ष जनवरी व अप्रैल में भी एक फर्जी कॉल सेंटर को पकड़ा था और लगातार एसटीएफ इस प्रकार के अंतरराष्ट्रीय फर्जी कॉल सेंटर्स पर कार्रवाई हेतु प्रयासरत है जनता से अपील की जाती है कि आजकल साइबर अपराधी फर्जी कस्टमर केयर बंद करके लोगों का विश्वास जीतने का प्रयास करते हैं और उसके बाद उनके साथ ठगी करते हैं किसी भी कस्टमर केयर का नंबर आप उसके अधिकृत या पंजीकृत वेबसाइट अथवा स्वयं उसके ऑफिस में जाकर उनका नंबर प्राप्त करें |

गिरफ्तार अभियुक्तगण-

  1.  वैभव गुप्ता पुत्र अशोक कुमार गुप्ता निवासी ई-10, क्वीन्स अपार्टमेन्ट निकट आईएसबीटी थाना पटेलनगर देहरादून ।
  2. सूद खान पुत्र मोहम्मद इकबाल निवासी मूलचन्द इन्कलेव निकट निहाल रेजीडेन्सी थाना पटेलनगर देहरादून

बरामदगी-

  1. 01 लैपटॉप
  2. 01 कम्प्यूटर मय मॉनिटर
  3. 03 हैडफोन
  4. 1 वायरलेस राउटर
  5. अपराध से सम्बन्धित अन्य दस्तावेज
  6. 3 पैन ड्राईव

पुलिस टीम-

  1. जवाहर लाल (पुलिस उपाधीक्षक एसटीएफ)
  2. विपिन बहुगुणा (उपनिरीक्षक)
  3. नरोत्तम बिष्ट (उपनिरीक्षक)
  4. देवेन्द्र भारती (हे.कानि. प्रो. )
  5. देवेन्द्र मंमगाई (आरक्षी)
  6. सुधीर केशला (आरक्षी)
  7. संदेश यादव (आरक्षी)
  8. कादर खान (आरक्षी)
  9. दीपक तंवर(आरक्षी चालक)

स्थानीय पुलिस बल पटेलनगर

  1. उपनिरीक्षक राजेन्द्र
  2. आरक्षी सूर्य प्रताप सिह
  3. आरक्षी धर्मवीर

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: