रुड़की । श्री कृष्णप्रणामी गौ सेवाधाम शिवपुरी का 8वां वार्षिकोत्सव समारोह धूमधाम के साथ मनाया गया। आठ दिवसीय समारोह का शुभारम्भ मेयर गौरव गोयल द्वारा वैदिक मंत्रोचार के बीच ध्वजारोहण के साथ किया गया, इससे पूर्व पारंपरिक ध्वज पूजन किया गया तथा महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली।

श्री कृष्णप्रणामी गौ सेवाधाम शिवपुरी का धूमधाम के साथ मनाया गया 08 वां वार्षिकोत्सव

समारोह में श्रीमद्भागवत के ग्यारह पाठ तथा महामति प्राणनाथ जी प्रणीत श्रीतारत्तम वाणी के ग्यारह पारायण पाठ किए जा रहे हैं।इस अवसर पर मेयर गौरव गोयल ने कहा कि एक संत की साधना का प्रयास है कि सैकडों वर्षों से उपेक्षित रहा।यह अखाडा परिसर आज धार्मिक शक्ति के केन्द्र के रूप में जाना जाता है।उन्होंने कहा कि करीब आठ वर्ष पूर्व यहां केवल झाडियां और मंदिर का ढांचा भर शेष था। स्वामी सागर सिंधुराज के प्रयासों और धर्म प्रमियों के सहयोग से आज यहां गौशाला और गगन चुम्बी मंदिर खडा है। यहां आकर उन्हें परम् सुख की अनुभूति होती है। उन्होंने जयकारों और वैदिक मंत्रोच्चार के बीच धर्म पताका फहराकर समारोह का शुभारम्भ किया।

गौ सेवा धाम के परमाध्यक्ष स्वामी सागर सिंधुराज ने श्री मद्भागवत का शुभारम्भ करते हुए कहा कि जीवन में लक्ष्य साधना और उसे पाने के लिये सतत प्रयास ही जीवन को सार्थक बनाते हैं। श्री मद्भागवत कथा के श्रवण से हमें न केवल पापों से मुक्ति मिलती है, बल्कि कर्म करने की भी प्रेरणा मिलती है।इस अवसर पर पदम गिरी एडवोकेट, संजय पाल मानकपुर, कौस्तुभ मणि नौटियाल, अमित त्यागी, देवेन्द्र सिंह वर्मा, विजय सिंह फर्सवाण, भागवती प्रसाद, चन्द्रभान जोशी, पं. बिरेन्द्र प्रसाद बडौला, शकुन्तला सती, हेमा रावत, चैता देवी, केपी सिंह, यथार्थ वर्मा आदि मौजूद रहे।