पौड़ी गढ़वाल : कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने जीआईसी बूंगीघार में आयोजित बहुउद्देशीय शिविर में किया प्रतिभाग, कहा बूंगीधार में बनाया जायेगा एक भव्य स्टेडियम

 पौड़ी गढ़वाल : कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने जीआईसी बूंगीघार में आयोजित बहुउद्देशीय शिविर में किया प्रतिभाग, कहा बूंगीधार में बनाया जायेगा एक भव्य स्टेडियम
Posted on दिसंबर 20, 2021 5:53 pm
                                                   
ख़बर सुनने के लिए क्लिक करे 👉
पौड़ी : जनसमस्याओं का स्थानीय स्तर पर निस्तारण, कल्याणकारी योजनाओं का लाभ लाभार्थियों तक पहुंचाने एवं सरकार की नीतियों/योजनाओं की जानकारी उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आज जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे की अध्यक्षता में रा.इ.का. बूंगीघार में बहुउद्देशीय शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में विभिन्न विभागों के विभागीय अधिकारियों द्वारा स्टॉल लगाकर लोगों को लाभान्वित किया गया। साथ ही लोगों को विभागों में संचालित योजनाओं की जानकारी एवं उनकी समस्याओं को प्राप्त करते हुए निस्तारण किया गया।

This slideshow requires JavaScript.

आयोजित शिविर में प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा, उच्च शिक्षा, सहकारिता, प्रोटोकॉल, आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. धन सिंह रावत द्वारा मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया गया। कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत द्वारा राजस्व विभाग के अन्तर्गत आर्थिक सहायता के 09 लाभार्थियों को राहत चैक, सहकारिता विभाग के दीनदयाल किसान कल्याण योजना के अन्तर्गत 03 स्वयं सहायता समूह जय भैरवनाथ स्वंय सहायता समूह ग्वास्भी, जय शेरावाली माँ मनसारी एवं गौरा स्वयं सहायता समूह जैंती डांग को 05-05 लाख के ब्याज मुक्त ऋण चैक व 12 किसानों को कुल 14 लाख रूपये के व्यक्तिगत चैक वितरित किये गये। वहीं मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के अन्तर्गत घस्यारी किट तथा बाल विकास विभाग के महालक्ष्मी किट भी वितरित किये गये।
इस मौके पर कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि बहुउद्देशीय शिविर लगाये जाने का मकसद होता है कि कोई भी व्यक्ति अपनी समस्याएं बताकर उसका समाधान करवा सकते हैं। कहा कि पौने पांच साल में चौथान पट्टी के 53 गांवों को रोड़ से जोड़ दिया गया है। स्यूसाल गांव में रोड़ के लिए पैंसा दे दिया, उसका विधिवत उद्घाटन भी कर दिया गया है और कार्य भी शुरू हो गया है। दैड़ा गांव तक रोड़ दे दी है। कहा कि चौथान पट्टी में अकेले 110 कि.मी. रोड़ दी है, वहीं 53 कि.मी. रोड़ का डामरीकरण का टेण्डर हो गये हैं, जिसका काम जल्द शुरू हो जायेगा। बिनसर मंदिर को 05 करोड़ की लागत से बना रहे हैं, जो एक माह में बनकर तैयार हो जायेगा। बूंगीधार में गैस एजेंसी आ गई, लोनिवि का बंगला बना दिया गया है। आनन्द सिंह गुसांई जिन्होंने चौथान वालों को रोड़ दिखाई, का भव्य गेट/स्मारक हेतु पैंसा दे दिया है। डिग्री कॉलेज के लिए 8 करोड़ रूपये दे दिये हैं। इसके साथ ही बूंगीधार में एक भव्य स्टेडियम भी बनाया जायेगा। कहा कि चौथान के हर ग्राम सभा के युवक मंगल दलों को खेल का सामान दे रहे हैं।
कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि पूरे चौथान के लिए 108 एक और एक एम्बुलेंस बूंगीधार में खड़ी की गई है, ताकि लोगों को कोई समस्या न हो। इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं के लिए 102 नम्बर दबाकर खुशियों की सवारी का लाभ उठा सकते हैं। 104 नम्बर दबाकर गंभीर घायल/मरीज को हैलीकाप्टर सेवा की सुविधा मिलेगी। बूंगीधार में एक्स-रे मशीन देने हेतु जिलाधिकारी को निर्देश दे दिये गये है। थलीसैंण, चाकीसैंण में अल्ट्रासाउण्ड मशीन दी गई है। कहा कि सरकार सबका साथ सबका विकास के तहत कार्य रही है। कहा कि आंगनवाड़ी में बच्चों को दूध, अण्डा एवं केला दिया जायेगा। उन्होंने 18 साल से ऊपर के हर व्यक्ति को कोविड वैक्सिनेशन की दूसरी डोज लगाने को कहा। कहा कि आईटीआई का निर्माण कर दिया गया है, जिसका बहुत जल्द लोकार्पण हो जायेगा। उफरेखाल का डिग्री कॉलेज का उद्घाटन भी बहुत जल्द हो जायेगा। उज्जवला गैस से वंचित लोग आवश्यक डाक्यूमेंट उपलब्ध कराकर 15 दिन में गैस ले सकते है। कहा कि सरकार ने एक बड़ा काम किया कि पौड़ी जनपद के पीठसैंण के लिए एक केन्द्रीय विद्यालय स्वीकृत कर दिया, जब तक भवन नहीं बन जाता तब तक इ.का. बूंगीधार को सीबीएससी कर दिया है, जिसकी रजिस्ट्रेशन फीस भी सरकार ने माफ कर दिया है।
इस अवसर पर जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने कहा कि आज शिविर में 07 लाभार्थियों को चैक वितरण का लाभ दिया गया। चिकित्सा विभाग द्वारा 48 लाभार्थियों को स्वास्थ्य जांच का लाभ पहुंचाया गया। बीज वितरण में 10 लाभार्थियों ने बीज प्राप्त कर लाभ लिया, उद्यान की योजनाओं का 10 लोगों ने लाभ लिया, 06 लाभार्थियों ने विकलांग प्रमाण पत्र बनाकर लाभ किया, समाज कल्याण की पेंशन योजनाओं के अन्तर्गत 14 लाभार्थियों ने लाभ लिया। कहा कि सहकारिता विभाग द्वारा जनपद के अन्तर्गत 40 करोड़ से अधिक ऋण वितरण किया गया है। साथ ही मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का भी लाभ दिया जा रहा है। जल जीवन मिशन योजना के तहत जनपद में 01 लाख 26 हजार परिवार चिन्ह्ति किये गये हैं, जिसमें 60 हजार परिवारों को घर तक नल कनेक्शन उपलब्ध करा दिया गया है, जबकि शेष को नल कनेक्शन उपलब्ध कराने की कार्यवाही गतिमान है। कहा कि श्रीनगर विधान सभा क्षेत्र के अन्तर्गत प्रमुख योजनाओं के तहत पाबौं पेयजल पम्पिंग योजना, कैन्यूर पेयजल पम्पिंग योजना, ढिकवाल गांव पेयजल पम्पिंग योजना, गोस्त पम्पिंग पेयजल योजना की डीपीआर स्वीकृत हो चुकी है तथा कार्यवाही की जा रही है, जिसका लाभ जल्द ही जनता को मिलना शुरू हो जायेगा। उन्होंने बताया कि थलीसैंण नगर पंचायत की घोषणा के क्रम में गठन की प्रक्रिया पूर्ण हो चुकी है, भवन निर्माण हेतु भूमि चिन्ह्ति कर ली गई है। श्रीनगर नगरपालिका का विस्तार करते हुए नगर निगम बनाने की घोषणा के क्रम में शासनादेश हो गया है, जिसकी प्रक्रिया अंतिम चरण में है।
कहा कि कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत के प्रयासों से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अर्न्तगत कोविड के दृष्टिगत ऑक्सीजन प्लांट लगाने का निर्णय किया गया था, जिसके तहत सीएचसी थलीसैंण, चैलूसैंण, सतपुली एवं कोट में ऑक्सीजन प्लांट लगाये जा चुके हैं। इसके अलावा बडे अस्पताल जिला चिकित्सालय पौड़ी में एक हजार एलपीएम क्षमता का, मेडिकल कॉलेज श्रीनगर में 4200 एलपीएम क्षमता, कम्बाईंड अस्पताल में 500 एलपीएम क्षमता तथा बेस अस्पताल में 800 एलपीएम क्षमता के प्लांट लगाये गये हैं। कहा कि जनपद में कोविड वैक्सिनेशन की प्रथम डोज शतप्रतिशत पूर्ण हो चुकी है, जबकि द्वितीय डोज 60 प्रतिशत पूर्ण हो चुकी है। उन्होंने कहा कि जिनकी द्वितीय डोज लेने का समय पूर्ण हो चुका है, वह अपना दूसरा डोज लगवाकर सहयोग प्रदान करें। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग द्वारा कृषि यंत्रीकरण में 15 सौ लोगों को लाभ दिया जा चुका है, जिसमें 35 प्रतिशत सब्सिडी दिया जाता है, उसका ले सकते हैं। कहा कि जनपद के पांच विकास खण्डों में ब्लॉक भवन के निर्माण के प्रस्ताव स्वीकृत हुए हैं, जिनमें विधान सभा क्षेत्र श्रीनगर के अन्तर्गत पाबौं एवं खिर्सू का डीपीआर संेक्सन हो चुका है तथा निर्माण कार्य प्रारम्भ हो चुका है।
जिलाधिकारी ने शिविर में प्राप्त शिकायतों के संबंध में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि शिकायतों का निस्तारण समयान्तर्गत करना सुनिश्चित करें तथा की गई कार्यवाही से शिकायतकर्ता को भी अवगत करायें। उन्होंने तहसील एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी गांवों में जाकर अपनी योजनाओं का लाभ पहुंचायें, इसके लिए कैम्प भी लगाये जाने के निर्देश दिये गये। इस अवसर पूर्व ब्लॉक प्रमुख शंकर सिंह रावत, मंडल अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह रावत, मुख्य विकास अधिकारी प्रशांत कुमार आर्य, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, पीडी स्वजल दीपक रावत, मुख्य कृषि अधिकारी डी.एस.राणा, मुख्य उद्यान अधिकारी डॉ. नरेंद्र कुमार, जिला पर्यटन विकास अधिकारी के.एस.नेगी, सेवायोजन अधिकारी मुकेश रयाल, सहायक निबन्धक सहकारिता सुमन कुमार सहित अन्य अधिकारी, जनप्रतिनिधि, ग्रामीण आदि मौजूद थे।

Related post