भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार में श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा निभा रहा है अहम भूमिका – सुबोध उनियाल

 भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार में श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा निभा रहा है अहम भूमिका – सुबोध उनियाल
27 मार्च, 2021
                                                         
  • श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा के कोठारी महन्त जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज ने कैबिनेट मंत्री का किया अभिनंदन

देहरादून : श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा कनखल हरिद्वार की ओर से उत्तराखंड सरकार के राजकीय प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को 9 अप्रैल को अखाड़े की पेशवाई के लिए मुख्य अतिथि के रुप में आमंत्रित किया गया है आज से श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा के वरिष्ठ महन्त और कोठारी महन्त श्री जसविंदर सिंह शास्त्री जी महाराज प्रसाद की ओर से देहरादून में कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल के घर पर उन्हें निमंत्रण पत्र भेंट किया गया

इस अवसर पर महन्त जसविंदर सिंह शास्त्री जी महाराज ने कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को शॉल और सरोपा भेंट कर उनको सम्मानित किया गया कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने महन्त श्री जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज को माल्यार्पण कर उनका आशीर्वाद लिया और कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने अखाड़े का निमंत्रण सहर्ष स्वीकार किया और भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार में निर्मल अखाड़े की भूमिका की भूरी भूरी प्रशंसा की और कहा कि निर्मल अखाड़ा भारतीय संस्कृति के प्रचार प्रसार में अहम भूमिका निभा रहा है.

उन्होंने कहा कि निर्मल पंचायती अखाड़ा संस्कृत भाषा को बढ़ावा देने के लिए महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है इस अवसर पर महंत जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज ने कहा कि श्री गुरु गोविंद सिंह जी निर्मल संतो को संस्कृत की शिक्षा और प्रचार प्रसार के लिए बनारस भेजा था तब से अब तक निर्मल संत संस्कृत के प्रचार प्रसार में लगे हुए हैं इस अवसर पर सेवादार समाजसेवी देवेंदर सिंह सोढ़ी ने कहा कि उत्तराखंड सरकार ने संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए अच्छा कार्य किया है श्री निर्मल पंचायती अखाड़ा संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए हमेशा कार्य करता रहेगा

Related post

%d bloggers like this: