विधायक रानीपुर आदेश चौहान एवं जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने ग्राम सभा आनेकी से कुपोषण मुक्त हरिद्वार जनपद नई पहल पायलट परियोजना का किया शुभारम्भ

 विधायक रानीपुर आदेश चौहान एवं जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने ग्राम सभा आनेकी से कुपोषण मुक्त हरिद्वार जनपद नई पहल पायलट परियोजना का किया शुभारम्भ
10 जुलाई, 2021
                                                         
हरिद्वार :  विधायक रानीपुर आदेश चौहान एवं जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने शनिवार को बहादराबाद विकास खण्ड के ग्राम सभा आनेकी से कुपोषण मुक्त हरिद्वार जनपद’ नई पहल पायलट परियोजना का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर बोलते हुये विधायक रानीपुर आदेश चौहान ने कहा कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा चिह्नित अति कुपोषित एवं कुपोषित बच्चों के पोषण व स्वास्थ्य सुधार हेतु एक पायलट परियोजना का आज शुभारम्भ किया जा रहा है। इसके अन्तर्गत विकास खण्ड बहादराबाद के 11 गांवों के चिह्नित अतिकुपोषित एवं कुपोषित बच्चों को पोषण परामर्श, चिकित्सीय जांच, आहार चार्ट, पीने के साफ पानी का इस्तेमाल, घरेलू साफ-सफाई, वजन व ऊंचाई की जांच, बच्चों में बीमारी के लक्षण की पहचान आदि कुपोषण प्रबन्धन की सेवायें इन गांवों के  घर-घर जाकर दी जायेंगी। विधायक रानीपुर ने बताया कि इस गांव में 23 बच्चे कुपोषण का शिकार पाये गये हैं। हमारी स्वास्थ्य विभाग की टीम इनकी पूरी जांच करेगी तथा इनमें क्या कमी है, उसका पता लगायेगी तथा इन बच्चों को किस तरह के पोषण की जरूरत है, उस अनुसार योजना बनाकर इन्हें कुपोषण से बाहर लाया जायेगा।
जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने इस अवसर पर बताया कि कुपोषण प्रबन्धन के इस प्रयास में महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग के साथ ही पहली बार होम्योपैथिक विभाग की सेवायें भी ली रही हैं।  उन्होंने कहा कि प्लान इण्डिया संस्था इस कार्यक्रम के सुचारू संचालन हेतु तकनीकी सहयोग प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि इसका समय-समय पर आकलन किया जायेगा तत्पश्चात बहुत जल्द ही इस पायलट प्रोजेक्ट को  जनपद हरिद्वार के बाकी विकासखण्डों में लागू किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस पुनीत कार्य में जिला प्रशासन को कई स्वयंसेवी संस्थाओं का भी भरपूर सहयोग मिल रहा है। उन्होंने कहा कि बच्चों में कुपोषण को दूर करने का यह प्रयास कुपोषण मुक्त हरिद्वार बनाने में एक मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि प्रत्येक महिला व बच्चे के स्वास्थ्य पर ध्यान देना बहुत जरूरी है। इसके लिये उन्हें चल रही योजनाओं की भी जानकारी होनी चाहिये। उन्होंने कहा कि हम एक ऐसी योजना बनाने जा रहे हैं, जिसमें महिलायें व बच्चे मध्याह्न भोजन एक साथ कर सकें, जिसमें सभी प्रकार के पोषण से युक्त भोजन दिया जायेगा, जिसकी शुरूआत हो सकता है आनेकी गांव से ही की जा सकती है। उन्होंने कहा कि इन सभी कार्यक्रमों में आप सभी की सहभागिता बहुत जरूरी है, तभी इसका लाभ आप सभी को मिल सकेगा। 
डीएम सी. रविशंकर ने कहा कि कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर में बच्चों पर असर पड़ने की सम्भावना व्यक्त की जा रही है। ऐसे में महिलाओं से अनुरोध है कि वे शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन करायें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिये कि वे यहां कैम्प लगाकर शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन करायें। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को ये भी निर्देश दिये कि वे यहां अटल आयुष्मान योजना के सभी के कार्ड 10 अगस्त तक बनवाना सुनिश्चित करें।
इस अवसर पर विधायक एवं जिलाधिकारी ने कुपोषित बच्चों को ऊर्जा पाउडर तथा स्वास्थ्य किट भी उपलब्ध कराये। इसके अलावा बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के अन्तर्गत बेटियों को सेनटरी नेपकीन एवं चैलाई के लड्डू भी वितरित किये गये। विधायक आदेश चौहान एवं जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने पोषण स्टाल का फीता काटकर उद्घाटन किया। इस स्टाल में सभी प्रकार की सब्जियां, फल, अण्डे, ड्राई फ्रूट आदि का प्रदर्शन किया गया था। कार्यक्रम में नन्दा गौरा योजना, प्रधानमंत्री मातृ वन्दना योजना, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के सम्बन्ध में उपस्थित जन-समुदाय को विस्तृत जानकारी दी गयी। इस अवसर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग देवेन्द्र सिंह, जिला होम्योपैथिक अधिकारी डाॅ. विकास ठाकुर, बाल विकास परियोजना अधिकारी सुलेखा सहगल, सुपरवाइजर गीता शर्मा, प्लान इण्डिया के प्रतिनिधि रामकुमार तथा बड़ी संख्या में गांव के बच्चे, महिलायें आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: