शहीद राइफलमैन मंदीप हुए पंचतत्व में विलीन, मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने नम आँखों से दी विदाई

 शहीद राइफलमैन मंदीप हुए पंचतत्व में विलीन, मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने नम आँखों से दी विदाई
27 जून, 2021
                                                         
सतपुली । जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग में शरहद पर अपनी ड्यूटी निभाते हुए 11वीं गढ़वाल राइफल के 23 वर्षीय राइफलमैन मंदीप सिंह नेगी शहीद हो गये थे । आज रविवार को उनका पार्थिव शरीर उनके गांव विकासखण्ड पोखड़ा के ग्राम सकनोली पहुँचा । गांव में शहीद राइफलमैन मंदीप सिंह नेगी के पार्थिव शरीर के पहुँचने पर सबकी आँखे नम हो गयी । मंदीप की माँ हेमन्ती देवी अपने बेटे को तिरंगे से लिपटकर बेशुद होकर गिर पड़ी ग्रामीणों व एस एस पी पौडी पी रेणुका देवी ने उन्हें संभाला । वही मंदीप के पिता सत्यपाल सिंह को जहाँ एक और अपनी मातृभूमि के कर्ज चुकाने पर अपने बेटे की शहादत पर गर्व है लेकिन उनकी आँखों के आंसू बेटे के के जाने के गम को बयां कर रहे थे । वही मंदीप की माता हेमन्ती देवी अपने एकमात्र सहारे को तिरंगे से लिपटा देख अपने को संभाल नही पा रही थी और रो रो कर मंदीप से लिपट गयी बार बार को मंदीप को को प्यार के नाम योगी योगी कहते हुए अपने बेटे को निहार रही थी और उसके बात करने का इंतजार कर रही थी ।
शहीद राइफलमैन मंदीप सिंह नेगी को श्रंद्धाजलि देने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत सकनोली पहुँचे जहाँ पहुँचकर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने मंदीप के माता पिता को ढांढस बंधाया और मंदीप की शहादत को देश व प्रदेश का गर्व बताया । मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के साथ शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल व कैविनेट मंत्री गणेश जोशी ने शहीद राइफलमैन मंदीप सिंह नेगी के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर श्रंद्धांजलि दी और शहीद मंदीप की शहादत पर शहीद को सैल्यूट किया । श्रंद्धांजलि देते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की आँखे नम थी ।
शहीद राइफलमैन मंदीप सिंह नेगी के गांव सकनोली में क्षेत्रीय ग्रामीण, जनप्रतिनिधि शहीद को श्रद्धांजलि देने पहुँचे और शहीद मंदीप के पैतृक घाट में शहीद को अंतिम विदाई दी । मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शहीद मंजीत को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए कहा कि ऐसे माता पिता धन्य है जिसका वीर सपूत मातृभूमि की रक्षा करते हुए शहीद हुआ है । मंदीप की शहादत के सभी देशवासी हमेशा ऋणी रहेंगे । वही मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने शहीद के गांव के मोटर मार्ग को डामरीकरण कर मोटर मार्ग का नाम शहीद के नाम पर करने की घोषणा की है । शहीद राइफलमैन मंदीप सिंह नेगी की अंतिम विदाई में जब तक सूरज चाँद रहेगा मंदीप तेरा नाम रहेगा, मंदीप सिंह नेगी अमर रहे के नारों से आकाश गूंजायमान रहा ।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: