मानसून को देखते हुए डीएम डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने ली आगामी मानसून अवधि में संभावित आपदाओं को देखते हुए की गई तैयारियों की समीक्षा बैठक

 मानसून को देखते हुए डीएम डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने ली आगामी मानसून अवधि में संभावित आपदाओं को देखते हुए की गई तैयारियों की समीक्षा बैठक
23 मई, 2021
                                                         

पौड़ी : जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने कल शनिवार को देर सायं अपने कैंप कार्यालय पौड़ी में आगामी मानसून अवधि में संभावित आपदाओं के दृष्टिगत जनपद के अंतर्गत की गई तैयारियों की समीक्षा बैठक ली। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि आपदा के दृष्टिगत मानसून अवधि से पूर्व सभी तैयारियां पूर्ण कर लें, सभी आवश्यक उपकरण क्रियाशील अवस्था में हो। उन्होंने सभी लाइन डिपार्टमेंटस् को निर्देशित किया कि पेयजल, खाद्यान्न, दूरसंचार, विद्युत, डीजल पेट्रोल आदि आवश्यक सामाग्रियों की उचित व्यवस्थाओं के लिए नोडल अधिकारी नामित करते हुए सभी व्यवस्थाएं पहले ही पूर्ण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने जनपद के सभी एस.डी.एम. को निर्देशित किया कि तहसील स्तर पर आपदा कंट्रोल रूम बनाते हुए संपर्क नंबर उपलब्ध करने के साथ ही कार्यालय के बाहर भी चस्पा करना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया कि आपदा की दृष्टिगत अति संवेदनशील एवं संवेदनशील स्थानों को चिन्हित् कर सूची उपलब्ध कराएं तथा ऐसे स्थानों पर सभी आवश्यक उपकरणों की पूर्ण व्यवस्था करें। कहा कि मानसून से पहले ही पुलों का निरीक्षण कर लें और रिपोर्ट कंपाइल कर उपलब्ध कराएं। साथ ही मुख्य मार्गो के बंद होने की स्थिति में वैकल्पिक मार्गों की भी व्यवस्था करना सुनिश्चित कर लें। संबधित अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जपवउ में 27 स्थान अति संवेदनशील एवं संवेदनशील हैं और वहां पर पर्याप्त उपकरण हैं। बताया कि अतिरिक्त जेसीबी के लिए टेंडर कर दिया गया।

उन्होंने संबंधित अधिकारी को आपदा के दृष्टिगत मॉक ड्रिल करने के निर्देश दिए। इस पर आपदा प्रबन्धन अधिकारी ने बताया कि फायर को लेकर एक मॉक ड्रिल कर लिया गया है और एक मानसून को लेकर जल्द ही करने वाले हैं। उन्होंने बताया कि सभी तहसीलों में कन्ट्रोल रूम स्थापित कर लिये गये हैं, जिस पर जिलाधिकारी ने सम्पर्क नम्बर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। वहीं पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया गया कि आपदा के दृष्टिगत यह सुनिश्चित कर लें कि खाद्यान्न की आपूर्ति पर्याप्त मात्रा में हो। सभी राशन कार्ड धारकों के कार्ड ऑनलाइन हो जाएं और उन्हें राशन मिलना शुरू हो जाए तथा जिनके राशन कार्ड ऑनलाइन नही हुए हो या अन्य कोई स्थिति हो तो नियमानुसार राज्य खाद्य योजना के तहत लाभ देना सुनिश्चित करें।

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि आपदा प्रबंधन उपकरण क्रियाशील अवस्था में हो, यह चेक कर लें। साथ ही बरसात से पूर्व नालियों एवं पानी जमावड़ा स्थानों पर साफ सफाई तथा छिड़काव करना सुनिश्चित कर लें। आपदा संभावित स्थानों पर सूचना पट्ट, केटलाइज या चूना आदि से मार्किंग करना सुनिश्चित करें, ताकि आपदाग्रस्त स्थानों पर होने वाली दुर्घटनाओं को न्यून किया जा सके। साथ ही निस्प्रयोज्य वाहनों हेतु आवश्यक कार्रवाई करते हुए सूची उपलब्ध कराएं। आपदा के दृष्टिगत राहत शिविर हेतु स्कूल, सामुदायिक भवन, बारात घर आदि स्थानों को चेक कर लें तथा अस्थाई रिलीफ कैंप हेतु भी स्थान चिन्ह्ति कर लें। कहा कि आपदा रिस्पॉन्स टाइम कम से कम हो यह ध्यान रखना सुनिश्चित करें, ताकि त्वरित गति से करवाई की जा सके। उन्होंने सभी लाइन डिपार्टमेंट अधिकारियों को निर्देशित किया कि आपदा के दौरान किसी भी प्रकार की क्षति होने पर आपदा के मानकों के अनुसार संबंधित को क्षतिपूर्ति का भुगतान जल्द करना सुनिश्चित करें। साथ ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों की फोन लिस्ट भी अपडेट रखें, ताकि किसी भी प्रकार की घटना होने पर त्वरित कार्यवाही की जा सके। उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि स्थाई एवं अस्थाई हैली पैड की सूची उपलब्ध करने के साथ ही हैली पैड का स्थलीय निरीक्षण भी करना सुनिश्चित कर लें।

तत्पश्चात प्रदेश के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सचिवालय में वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आगामी मानसून सीजन के दृष्टिगत बैठक लेते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने जनपद में आगामी मानसून को लेकर की गई तेयारियाओं से अवगत कराया। उन्होंने जनपद में जेसीबी, डोजर, सेटलाइट फोन, जीएसपीएस फोन, ड्रोन, महिला एवम युवा मंगल दल के सदस्यों को दिए गए आपदा प्रशिक्षण, बाढ़ संभावित क्षेत्र, खाद्यान्न आपूर्ति आदि की स्तिथि से अवगत कराया गया।

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे द्वारा जनपद में नैनीडांडा/बीरोखाल में एक एसडीआरएफ की टीम लगाने, श्रीनगर में बाढ़ संभावित क्षेत्र होने के कारण सिंचाई बाड़ चैकी लगाने, लोनिवि को आपदा के दौरान आउटसोर्स अतिरिक्त मैन पावर की व्यवस्था हेतु अनुमति देने, एक वैली ब्रिज लगाने की सुविधा, अति दुर्गम क्षेत्रों हेतु 3-4 माह का अतिरिक्त राशन देने तथा एसडीआरएफ श्रीनगर में राफ्ट देने की मांग की गई। शासन द्वारा अतिरिक्त मैन पावर के लिए प्रस्ताव बनाकर भैजने के निर्देश दिए गए, जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को तत्काल प्रस्ताव बनाकर भैजने के निर्देश दिए गए।

बैठक में जिला पूर्ति अधिकारी के.एस. कोहली, टीटीओ राजेन्द्र विराटीया, ईओ नगरपालिका पौड़ी प्रदीप बिष्ट, अधि.अभि. रा.मा. धूमाकोट नवनीत पाण्डेय, अधि.अभि. एन.एच. लोनिवि श्रीनगर बलराम मिश्रा, अधि. अभि. सि.डि. लोनिवि पौड़ी प्रथम कुमार, श्रीनगर आर.पी. नैथानी, आपदा प्रबन्धन अधिकारी दीपेश काला, एई एनएच श्रीनगर राजीव शर्मा, एई रा.मा. धूमाकोट रविशंकर यादव, पशु विभाग से पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. रिचा पचैरी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: