गवर्नमेंट स्कूल एडप्शन प्रोग्राम : डीएम सी. रविशंकर ने विद्यालयों में सुधार के लिए सीएसआर के अन्तर्गत कार्य करने वाले समस्त संगठन एवं कार्पोरेट जगत के साथ की बैठक

 गवर्नमेंट स्कूल एडप्शन प्रोग्राम : डीएम सी. रविशंकर ने विद्यालयों में सुधार के लिए सीएसआर के अन्तर्गत कार्य करने वाले समस्त संगठन एवं कार्पोरेट जगत के साथ की बैठक
19 जुलाई, 2021
                                                         
हरिद्वार । जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने सोमवार को कैम्प कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जीसेप(गवर्नमेंट स्कूल एडप्शन प्रोग्राम) कार्यक्रम के अन्तर्गत अधिक से अधिक विद्यालयों में सुधार हेतु सीएसआर के अन्तर्गत कार्य करने वाले समस्त संगठन एवं कार्पोरेट जगत के साथ बैठक की। बैठक में जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने जीसेप(गवर्नमेंट स्कूल एडप्शन प्रोग्राम) कार्यक्रम के सम्बन्ध में मुख्य शिक्षा अधिकारी डाॅ. आनन्द भारद्वाज से जानकारी प्राप्त की। इस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी ने बताया कि आईटीसी ने सात, पैनासोनिक ने पांच तथा हीरो मोटो कार्प ने पांच स्कूलों को गोद लिया है।
बैठक में ब्लाक शिक्षा अधिकारी भगवानपुर ने बताया कि एक्साइड ने दो विद्यालयों को गोद लिया है, जिनमें चेकलिस्ट के सभी 21 प्वाइण्ट कवर हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि एक्साइड आदि कम्पनियों से वार्ता चल रही है ताकि अधिक से अधिक स्कूल गोद लिये जा सकें। नारसन/लक्सर के उप शिक्षा अधिकारी ने बताया कि फेनोलेक्स कम्पनी ने ब्लाक में तेरह स्कूलों में साफ-सफाई के लिये कर्मचारी उपलब्ध कराये हैं। इसके अतिरिक्त ग्लास फैक्ट्री ने कम्प्यूटर अध्यापक उपलब्ध कराये हैं। उन्होंने कहा कि लक्सर में एक विद्यालय को हीरो मोटर कार्प द्वारा सुन्दर बनाया गया है। बहादराबाद के उप शिक्षा अधिकारी ने बताया कि 41 विद्यालयों में विभिन्न तरह के कार्य कराये जा रहे हैं। ब्लाक शिक्षा अधिकारी रूड़की ने बताया कि एचडीएफसी तथा हीरो मोटो कार्प ने विद्यालयों में अच्छा काम किया है। उप ब्लाॅक शिक्षा अधिकारी लक्सर ने बताया कि रेलेक्सो ने जो स्कूल गोद लिया था, उसका काम अगले महीने तक हो जायेगा तथा लक्सर में होरी मोटर कार्प ने कुछ स्कूलों में पोताई एवं मरम्मत का कार्य किया है।  इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि गोद लिया हुआ वही स्कूल माना जायेगा, जो हमने चेक लिस्ट में 21 प्वाइण्ट कार्य करने के लिये रखे हैं, उन पर कार्य करने को संस्था/ व्यक्ति तैयार हो। उन्होंने कहा कि आधा-अधूरा गोद लिया हुआ नहीं माना जायेगा।
जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि विद्यालयों को गोद लेने की प्रक्रिया में चेक लिस्ट के 21 प्वाइण्ट में से कुछ अगर छूट रहे हैं, तो सम्बन्धित उद्योग अथवा संस्था को प्रेरित करते हुये जो छूटे प्वाइण्ट हैं, उन्हें भी उसमें शामिल करने का अनुरोध कर लें। तत्पश्चात उस संस्था अथवा उद्योग से विद्यालय को गोद लेने के लिये एमओयू कर लें। बैठक में जिलाधिकारी ने पुस्तकों के पाठों की वीडियोग्राफी के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस पर अधिकारियों ने जिलाधिकारी को कक्षा आठ तक विभिन्न स्तरों पर पाठों की वीडियोग्राफी के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि पुस्तकों के पाठों की सीडी/पैन ड्राइव गांव-गांव बच्चों को बांटने के बजाय ह्वाट्सऐप पर भी आप भेज सकते हैं। इस पर अधिकारियों ने बताया कि कुछ बच्चों के माता-पिता के पास मोबाइल फोन नहीं भी हो सकता है। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसे लोगों का डाटा तैयार कर मुझे प्रस्तुत करें। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि अभी तक प्रत्येक कक्षा के विषयवार जितने पाठों की वीडियोग्रामी हो चुकी है, उसे बच्चों तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। 
जिलाधिकारी ने बैठक में स्कूलों के मर्जर के सम्बन्ध में पूछा तो अधिकारियों ने बताया कि इस पर कार्य हो रहा है। इस पर जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि जो विवरण आपने तैयार किया है, उसे मुझे यथाशीघ्र प्रस्तुत करें। उन्होंने ये भी निर्देश दिये कि जीसेप(गवर्नमेंट स्कूल एडप्शन प्रोग्राम)कार्यक्रम की सम्पूर्ण रिपोर्ट मुझे 30 जुलाई तक प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें। बैठक में अजीम प्रेमजी फाउण्डेशन के कोआर्डिनेटर दीपक दीक्षित ने भी शिक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों के सम्बन्ध में प्रकाश डाला। बैठक में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से महाप्रबन्धक उद्योग पल्लवी गुप्ता, डीआरपी समग्र शिक्षा सन्तोष चमोला, जिला शिक्षा अधिकारी एचपी विश्वकर्मा, अमित कोटियाल, श्रीकान्त पुरोहित, कुन्दन सिंह, अम्बिका राम, विद्याशंकर चतुर्वेदी, सुमन अग्रवाल सहित सम्बन्धित संस्थाओं के पदाधिकारी/ अधिकारीगणों ने प्रतिभाग किया।

Related post

%d bloggers like this: