धीमी गति से चल रहे सड़क निर्माण व क्षेत्र में जलापूर्ति को लेकर पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने डीएम उत्तरकाशी को लिखा पत्र

 धीमी गति से चल रहे सड़क निर्माण व क्षेत्र में जलापूर्ति को लेकर पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने डीएम उत्तरकाशी को लिखा पत्र
29 मई, 2021
                                                         
उत्तरकाशी (कीर्तिनिधी सजवाण):  बड़ेथी चुंगी के पास धीमी गति से चल रहे सड़क निर्माण कार्य एवं गोफ़ियारा क्षेत्र में जलापूर्ति के संबंध में पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने जिलाधिकारी को लिखा पत्र। शीघ्र कार्यवाही न होने पर स्थानीय लोगों के साथ धरना देने की कही बात। जनपद मुख्यालय के नजदीकी गंगोत्री हाइवे पर बड़ेथी चुंगी के पास 28 करोड़ की लागत से भूस्खलन जोन पर कार्य कराया गया था जो पूरी तरह से फैल हुआ। इसके बाद यहीं पर 310 मीटर ओपन सुरंग बनाई जा रही है। जिस पर दिसम्बर 2020 से प्रारंभ हुए कार्य को तकरीबन 06 माह का समय व्यतीत हो चुका है, किंतु भूस्खलन हिस्से में तैयार की जा रही सड़क सुरक्षा गैलेरी का निर्माण कार्य बेहद धीमी गति से चलने के कारण कार्यदायी कंपनी के कार्य पर सवाल उठ रहे है।
समस्या का संज्ञान लेते हुए पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण ने जिलाधिकारी को मिलकर अबिलम्ब कार्यवाही करने का पत्र सौंपा। उन्होंने जिलाधिकारी को अवगत कराया कि निर्माण कार्य के चलते यहां से ट्रैफिक को लंबे समय से मनेरा की ओर डायवर्ट किया हुआ है, जिससे लोगों को करीब 05 किमी0 की अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ रही है। साथ ही एक ही रुट पर ट्रैफिक से हर रोज काफी दिक्कतें आती है। इस क्षेत्र से ज्ञानसू, मुख्य बाजार, बड़ेथी, मातली एवं बरसाली, धनारी व डुंडा क्षेत्र के सैकड़ों गांवों के लोगों की आवाजाही धीमी गति से चल रहे निर्माण कार्य के कारण प्रभावित हो रही है। जिस कारण यहां से वैकल्पिक मार्ग खोले जाने की मांग की जा रही है। उन्होंने जिलाधिकारी से उक्त स्थान पर वैकल्पिक मार्ग खोले जाने हेतु अबिलम्ब कार्यवाही करने की मांग की।
इसके अलावा उन्होंने नगरपालिका क्षेत्र बाड़ाहाट के वार्ड नं. 01 गोफ़ियारा नई बस्ती में स्थानीय निवासियों की पेयजल की गंभीर समस्या पर जिलाधिकारी को शीघ्र जलापूर्ति हेतु जलनिगम से कार्यवाही करने की मांग की। उपरोक्त जनहित में महत्वपूर्ण समस्याओं पर उन्होंने जिलाधिकारी से शीघ्र आवश्यक कार्यवाही करने की मांग की। उन्होंने कहा कि यदि जल्द इन समस्याओं का निराकरण नही किया गया तो उन्हें स्थानीय लोगों के साथ धरने पर बैठने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: