उत्तराखंड में मिला कोरोना के खतरनाक डेल्टा प्लस वेरिएंट का पहला मामला

 उत्तराखंड में मिला कोरोना के खतरनाक डेल्टा प्लस वेरिएंट का पहला मामला
7 जुलाई, 2021
                                                         

उधमसिंह नगर : दुनिया के कई देशों में समेत भारत में मिले कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट का पहला मामला प्रदेश में सामने आ गया है। ऊधमसिंह नगर जिले के दिनेशपुर में कुछ समय पहले आए बीटेक के एक छात्र की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी। जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए रेंडम जांच के तहत भेजे गए पांच प्रतिशत नमूनों में उसका भी सैंपल शामिल था। मंगलवार रात को देहरादून से युवक के सैंपल की जीनोम सिक्वेसिंग में डेल्टा प्लस वेरिएंट की मिलने की पुष्टि की गई। इससे बाद से ही ऊधमसिंह नगर जिले के स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। हालांकि यह युवक नौ जून को ही वापस लखनऊ लौट गया था। वहीं बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उसका स्थानीय एड्रेस ट्रेस कर उसके संपर्क में आए लोगों के सैंपल लिए हैं।

शुरुआती तौर 25 सैंपल लिए गए हैं। समाचार लिखे जाने तक स्वास्थ्य विभाग की टीम की सैंपलिंग जारी थी। जानकारी के मुताबिक, लखनऊ के बलरामपुर अस्पताल परिसर में रहने वाले युवक की मां नर्स है। वह मूल रूप से बलिया यूपी के रहने वाले हैं और उनके पिता वहीं खेती-बाड़ी करते हैं। युवक लखनऊ से बीटेक कर रहा है। दिनेशपुर में भी उनका एक मकान है। यहां उसकी दादी रहती हैं। परिजनों के मुताबिक, युवक लखनऊ से बीते 29 अप्रैल को दिनेशपुर आया था और यहां अपने चाचा-चाची के घर वार्ड नंबर तीन में आया था। इसके बाद वह अपनी दादी के घर बुखसौरा कालीनगर चला गया था।

परिजनों के मुताबिक, बीती 20 मई को युवक को बुखार आया था। 24 मई को युवक की कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी। वहीं मंगलवार को देहरादून से स्वास्थ्य विभाग ने जिले के स्वास्थ्य विभाग को युवक के सैंपल की जीनोम सिक्वेंसिंग में कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट मिलने की जानकारी दी। इसके बाद बुधवार को टीम ने दिनेशपुर पहुंचकर युवक के चाचा के परिवार और अन्य संभावित संपर्क में आए 17 लोगों के कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए हैं। वहीं इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम युवक की दादी के घर के लिए रवाना हो गयी है। यहां भी बड़ी संख्या में र्सैंपलिंग की तैयारी है।

युवक की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट 24 मई को आने के बाद उसे होम आइसोलेट किया गया था। युवक अपनी दादी के घर में ही होम आइसोलेट हुआ था। इसके बाद 9 मई को वह वापस लखनऊ अपने घर चले गया था। बताया जा रहा है कि वह छुट्टी में अपनी दादी समेत अन्य रिश्तेदारों से मिलने के लिए आया था।

एसीएमओ डॉ. अविनाश खन्ना ने बताया कि युवक अपने चाचा-चाचा के घर में भी रहा था। इस जगह में कई अन्य मकान भी हैं। यहां से अब तक 17 सैंपल लिए गए हैं। इस क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है। वहीं युवक की दादी का घर अकेला है। यहां पर माइक्रो कंटेमनमेंट जोन बनाया जा रहा है।

एसीएमओ ऊधमसिंह नगर डॉ. अविनाश खन्ना ने बताया कि लखनऊ से दिनेशपुर आए बीटेक के छात्र की बीते 24 मई को रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आयी थी। दिल्ली की एनटीडीसी लैब में 5 प्रतिशत सैंपल रेंडम जांच के तौर पर जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भेजे जाते हैं। इसमें युवक का भी सैंपल भेजा गया था। लैब की जांच में युवक में कोरोना का डेल्टा प्लस वेरिएंट मिलने की पुष्टि हुई है। इसके बाद अब तक युवक के संपर्क में आए 25 लोगों के सैंपल जांच को लिए हैं। अभी और सैंपल लिए जा रहे र्हैं। एक कंटेनमेंट जोन और एक माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: