डीएम डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने जल संचय-संरक्षण एवं संवर्धन के कार्यो में तेजी लाने के लिए जिला स्तरीय गठित समिति की ली बैठक, दिए दिशा निर्देश

 डीएम डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने जल संचय-संरक्षण एवं संवर्धन के कार्यो में तेजी लाने के लिए जिला स्तरीय गठित समिति की ली बैठक, दिए दिशा निर्देश
20 जून, 2021
                                                         

पौड़ी : जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने विकास भवन सभागार में आज जनपद में जल संचय-संरक्षण एवं संवर्धन के कार्यो में तेजी लाने हेतु जिला स्तरीय गठित समिति की बैठक ली। उन्होने जनपद में जलशक्ति अभियान कैच द रेन पर जोर देते हुए कहा कि समस्त डिविजन के भवन कार्यालयों में वर्षा के जल को संग्रहित करने हेतु कार्य कराना सुनिश्चित करेगे। जबकि अन्य विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने अपने कार्यालय परिसर में वर्षा के पानी को संग्रहित करने की योजना पर कार्य करें, कहा कि जिला योजना से भी उक्त छोटी मोटी कार्य कर जल संवर्धन में बेहतर कार्य कर सकेंगे। उन्होने वन विभाग, जल संस्थान, कृषि एवं पंचायत राज आदि विभाग के द्वारा जल संचय एवं संवर्धन के क्षेत्र में की गई कार्यो का अवलोकन करते हुए, संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये।

किये गये कार्यो/योजनाओं पर कलर कोड एवं सूचना पट्ट या बोर्ड अनिवार्य रूप से लगाया जाय। जिसमें योजना की संपूर्ण जानकारी वर्ष, लागत, योजना का नाम, तथा जल संग्रहण की क्षमता आदि भी दर्शाना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि पूर्ण हुए कार्यो के जीओ टैग करें। जबकि प्रस्तावित कार्यो के कार्य प्रारंभ होने से पूर्व तथा कार्य पूर्ण होने पर फोटो ग्राफ्स लेना सुनिश्चित करें, तथा रेखीय विभागों को वर्ष भर में योजनाओं पर संग्रहित की गई जल का आंकलन रिपोर्ट की डाटा रखने के निर्देश दिये। कहा कि अपने अपने योजनाओं में जल संग्रहण की पूरी जानकारी होनी चाहिए जिससे वर्ष भर में संग्रहित जल को अनुमान लगाया जा सकें।

जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने जनपद के समस्त खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि हर माह 21 तारीख को ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित होने वाली बैठक कराना सुनिश्चित करेंगे तथा 22 तारीख को विकासखंडों में बैठकर संकलित कार्य योजना, प्रस्ताव/डीपीआरओ कार्यालय में प्रेषित करना सुनिश्चित करें। 30 जून तक कार्य योजना बनायेगे तथा समुचित कार्यो की फोटोग्राफ उपलब्ध कराते हुए 21 जुलाई 2021 तक जीओ टैगिंग करेंगे। कहा कि संकलित डेटा में एकरूपता होनी चाहिए, कार्यालय एवं शासन को प्रेषित डेटा में त्रृटि न हो इस बात को गम्भीरता से लेना सुनिश्चित करेंगे। जिससे उस रिपोर्ट को गवर्नमेंट ऑफ इंडिया को समय पर भेजा जा सकेगा।

साथ ही उन्होंने कहा कि जिस स्थान पर पानी को रोकने हेतु टेंक तथा तालाब बनाए जा रहे हैं टैंक तथा तालाबों के आसपास समय-समय पर साफ सफाई रखेगे। साथ ही उन्होंने कहा कि तालाब आदि में कितने समय पर पानी जमा हो रहा है उसकी जानकारी भी उपलब्ध रखेंगे, उन्होने जलसंरक्षण एवं जल संवर्धन संबंधित बताये गये सभी तरह के कार्यो को गम्भीरता से लेते हुए बताये गये निर्देशों को अक्षरशः अनुपालन करने के निर्देश दिय। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई, डीएफओ मुकेश कुमार, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, डीपीआरओ एमएम खान, मुख्य कृषि अधिकारी देवेंद्र सिंह राणा, परियोजना प्रबंधक स्वजल दिनेश रावत, अ.अ. सिंचाई राजीव रंजन, अ.अ. जलनिगम पी सी गौतम सहित संबंधित उपस्थित थे।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: