जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने मानसून सत्र से पूर्व विभिन्न व्यवस्थाओं को लेकर वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला एवं तहसील स्तरीय अधिकारियों की ली बैठक

 जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने मानसून सत्र से पूर्व विभिन्न व्यवस्थाओं को लेकर वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला एवं तहसील स्तरीय अधिकारियों की ली बैठक
10 जून, 2021
                                                         

चमोली : मानसून सत्र से पूर्व विभिन्न व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने गुरूवार को वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला एवं तहसील स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली। जिलाधिकारी ने सभी विभागों को मानसून से पूर्व जिले में समस्त व्यवस्थाऐं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कहा कि मानसून सत्र में किसी भी आपदा के दौरान जिला एवं तहसील स्तरों पर गठित आईआरएस के तहत राहत एवं बचाव कार्यो का सुव्यवस्थित ढंग से संचालित करना सुनिश्चित किया जाए।

जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि आपदा न्यूनीकरण मद से पूर्व में जो धनराशि दी गई थी उसके सभी कार्य पूरा कराते हुए स्थलीय निरीक्षण किया जाए ताकि पुराने कार्य रिपीट ना हो। तहसीलों में उपलब्ध संसाधनों की जानकारी लेते हुए जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने कहा कि सर्चलाइट, स्टेचर, तिरपाल, गद्दे, रजाई आदि किसी सामान की आवश्यकता है तो तत्काल इसकी डिमांड उपलब्ध करें। साथ ही तहसीलों मे उपलब्ध सेटेलाइट फोन को रिचार्ज करके तैयार रखें। उन्होंने सड़क, बिजली एवं पानी के संबंध में प्रतिदिन की रिपोर्ट जिला आपदा कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराने के भी निर्देश दिए। कहा कि जल संस्थान अपने स्टोर में पर्याप्त संख्या में एचटीपी पाइप रखें ताकि कही पर भी लाईन क्षतिग्रस्त होने पर तत्काल अस्थायी व्यवस्था की जा सके। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बद्रीनाथ मे सडक निर्माण के दौरान क्षतिग्रस्त हुई पेयजल लाईन को शीघ्र सुचारू करने के निर्देश बीआरओ को दिए।

जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने कहा कि सड़क निर्माणदायी संस्थाओं ने सभी लैंडस्लाइड जोन के आसपास जेसीबी मशीन एवं ऑपरेटर की तैनाती कर उनके नंबर दिए हैं। उन्होंने सभी एसडीएम को इन नंबरों की रेंडमली जांच करते हुए मौका मुआयना करने को भी कहा। वही विभागों को मानसून से पूर्व अपनी कार्य योजना तैयार करने, तहसील, ब्लाक एवं ग्राम पंचायतों में उपलब्ध संशाधनों की सूची उपलब्ध कराने और सभी तहसीलों में 15 जून से 24ग7 की तर्ज पर कन्ट्रोल रूम की स्थापना सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। ताकि मानसून सत्र में आपदा के दौरान किसी प्रकार की समस्या न हो। उन्होंने सभी एसडीएम को अपने क्षेत्र में स्वयं व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने तथा किसी भी क्षेत्र में कोई भी घटना होने पर तत्काल इसकी सूचना कन्ट्रोल रूम व संबधित विभाग को उपलब्ध कराते हुए बिना किसी अनुमति का इंतजार किए घटना स्थल पर राहत कार्य शुरू करवाने के निर्देश दिए।

लोनिवि व जिला पंचायत को सभी संवेदनशील स्थलों के आसपास के वैकल्पिक पैदल मार्ग को दुरूस्त करने को कहा। जिला पूर्ति अधिकारी को मानसून अवधि के लिए आगामी तीन माह का खाद्यान्न एवं ईधन का पर्याप्त भण्डारण रखने हेतु आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। सीएमओ को सभी प्राइवेट व सरकारी अस्पतालों में चिकित्सकों की तैनाती के साथ आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं रखने तथा पर्याप्त मात्रा में दवाईयों का स्टाॅक रखने के निर्देश दिए।

जल निगम, जल संस्थान, विद्युत एवं दूरसंचार विभागों को मानसून सत्र में अपनी सेवाएं सुचारू रखने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने के निर्देश दिए। कहा कि कोई भी पेयजल लाईन क्षतिग्रस्त होती है या किसी भी क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति बाधित होती है तो इसकी सूचना तत्काल उपलब्ध कराने हेतु अपने स्तर से संचार का माध्यम तैयार रखे। ताकि समय से आवश्यक सेवाएं वहाल की जा सके।
जल संस्थान को सभी पेयजल टैंकों की साफ-सफाई एवं विद्युत विभाग को झूलते तारों व लाईन के आसपास पेडो की लापिंग कराने को कहा गया। नगर पालिका व नगर पंचायतों को बरसात से पहले सभी नालियों की सफाई करने, जलभराव वाले क्षेत्रों से पानी की निकासी हेतु आवश्यक इंतेजाम सुनिश्चित करने को कहा। वीसी में पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान, सीडीओ हसांदत्त पांडे, एडीएम हेमंत वर्मा, एसीएमओ डॉ. खाती सिंह सहित सड़क, शिक्षा, पेयजल, खाद्यान्न आपूर्ति, विद्युत आदि विभागों के अधिकारी एवं तहसील स्तर से एसडीएम एवं अन्य अधिकारी जुड़े थे।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: