साइबर ठगों का मायाजाल, इन्वेस्टमेंट के नाम पर ठग लिए 60 लाख, STF साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में मुकदमा पंजीकृत

 साइबर ठगों का मायाजाल, इन्वेस्टमेंट के नाम पर ठग लिए 60 लाख, STF साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में मुकदमा पंजीकृत
24 मई, 2021
                                                         

देहरादून : स्पेशल टास्क फोर्स STF उत्तराखंड के अंतर्गत कार्यरत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज 24 मई 2021, संध्या 5:00 pm की साइबर बुलेटिन CYBER BULLETIN :

  1. अभिनव पंवार निवासी हर्रावाला जनपद देहरादून द्वारा एक प्रार्थना पत्र साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून को प्रेषित किया गया, जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उसका सम्पर्क रामकृष्ण नामक ब्रोकर से हुआ जिसके द्वारा उन्हे विदेशी कम्पनी fxtmarket.com के माध्यम से ट्रेडिंग करने पर काफी मुनाफा कमाने की बात कही गयी । उक्त पर विश्वास करते हुये शिकायतकर्ता द्वारा प्रारम्भ में 50 हजार रुपये निवेश किये गये। इसके उपरान्त उक्त व्यक्ति के द्वारा निवेश धनराशि पर दोगुना मुनाफा के प्रलोभन देते हुये और अधिक धनराशि निवेश करने हेतु कहा गया। जिसके उपरान्त वादी के द्वारा उसके झांसे में आकर विभिन्न बैंको से लगभग 22 लाख रुपये का लोन लेकर ट्रेडिंग हेतु उपरोक्त व्यक्ति को विभिन्न तिथियों में दिया गया। उक्त व्यक्ति के द्वारा शिकायतकर्ता को उनके ट्रेडिंग खाते में लगभग 3.30 लाख अमेरिकी डालर का मुनाफा होना दिखाया गया । शिकायतकर्ता के द्वारा उक्त धनराशि को आहरण करने की बात कही गयी तो उपरोक्त साईबर अपराधी के द्वारा धनराशि आहरित करने हेतु 15% टैक्स लगभग 37,00,000/-( रुपये सैंतीस लाख) Bit Coin के माध्यम से भुगतान करने हेतु कहा गया। शिकायतकर्ता द्वारा विभिन्न माध्यमों से उक्त धनराशि एकत्रित कर बताये गये ऐप के माध्यम से Bit Coin खरीद कर उनको भेजे गये । इसके उपरान्त उक्त साईबर अपराधियो द्वारा शिकायतकर्ता से सम्पर्क बन्द कर दिया गया, तथा जानकारी करने पर उक्त कम्पनी भी फर्जी पायी गयी, जिससे उन्हे अपने साथ हुयी ठगी का एहसास हुआ । शिकायतकर्ता के साथ कुल 60,00,000/- (साठ लाख) रुपये की धोखाधडी का होना पाया गया । प्रकरण में थाना साईबर क्राईम पर अभियोग पंजीकृत किया गया है।
  2. इन्द्रानगर थाना बसन्त विहार जनपद देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून में एक प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया जिसमें उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उन्हे एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा कॉल कर मोबाईल सिम रिचार्ज खत्म होने के कारण मोबाईल मोबाईल नम्बर बंद होना बताया गया। शिकायतकर्ता से मोबाईल रिचार्ज कराने के नाम पर OTP प्राप्त कर उनके खाते से कुल 45,000/- (पैंतालिस हजार) रुपये धोखाधड़ी से निकासी कर ली गयी । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन से उपनिरीक्षक हिम्मत शाह व कानि0 पवन के द्वारा त्वरित कार्यवाही करते सम्बंधित वॉलेट के नोडल अधिकारियों से सम्पर्क करते हुये शिकायतकर्ता के 19999/- (उन्नीस हजार नौ सौ नियानब्बे) रुपये की धनराशि वापस करायी गई। शेष धनराशि की वापसी एवं संदिग्ध के सम्बन्ध में जानकारी की जा रही है ।
  3. चमन विहार थाना बसन्त विहार जनपद देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड़ में मेल के माध्यम से प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया कि उनके द्वारा अगत कराया गया कि उन्हे अपने परिचित हेतु हास्पिटल में बैड बुक कराने हेतु कॉल की गयी थी किन्तु उक्त कॉल नही लगी। इसके उपरान्त उन्हे एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा उन्हे फोन कर बैड बुक करने की बात कहते हुये बातो के झांसे मे लेकर बताये गये बैंक खाते में 20,000/- (बीस हजार) रुपये जमा कराये गये । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाने से उप निरीक्षक निर्मल भट्ट द्वारा प्राप्त विवरण के आधार पर सम्बन्धित बैंक के नोडल अधिकारी से सम्पर्क किया गया तो, उक्त धनराशि यूनियन बैंक झारखण्ड राज्य के खाते में जानी पायी गयी, जिसे तत्काल फ्रीज कराये जाने हेतु सम्ब्धित को मेल प्रेषित की गयी तथा संदिग्ध के मोबाईल नम्बरो की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर झारखण्ड राज्य के होने पाये गये । समस्त विवरण प्राप्त कर प्रकरण को कार्यवाही हेतु जनपद देहरादून को भेजा गया ।
  4. हर्रावाला थाना डोईवाला देहरादून निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन पर शिकायत दर्ज करायी गयी कि अज्ञात व्यक्ति द्वारा कॉल कर स्वंय को परिचित बताकर पैसे भेजना तथा उक्त पैसो को बाद मे उनसे प्राप्त कर लेने की बात कही गयी । उक्त पर विश्वास करते हुये शिकायतकर्ता द्वारा भेजी गयी रिक्वेस्ट को स्वीकार कर लिया गया, जिस कारण उनके खाते से 34,998/-(चौंतीस हजार नौ सौ अठानब्बे) रुपये की निकासी कर धोखाधड़ी की गयी । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाने से उप निरीक्षक निर्मल भट्ट द्वारा शिकायतकर्ता से उपलब्ध विवरण के आधार पर जानकारी प्राप्त की गयी तो उक्त शिकायतकर्ता की धनराशि मुम्बई के यस बैंक के खाते में स्थानान्तरित होना पाया गया तथा अज्ञात कॉलर की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर असम होना पाय गया । प्रकरण में आवश्यक तकनीकि कार्यवाही करते हुये प्रकरण को अग्रिम कार्यवाही हेतु जनपद देहरादून प्रेषित किया गया है ।

साईबर सुरक्षा टिप

  • कभी भी किसी से अपने डेबिट कार्ड/क्रेडिट कार्ड की जानकारी शेयर न करें । कोई भी बैंक या वॉलेट आपको फोन कर आपकी बैंकिग डिटेल नही मांगता है ।
  • KYC अपडेट/मोबाईल नम्बर बंद होने सम्बन्धी मैसेज/फोन कॉल आने पर अपनी व्यक्तिगत/बैंक सम्बन्धी जानकारी शेयर न करें ।
  • ध्यान रखे कि अंजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये किसी भी पेमेन्ट गेटवे /वॉलेट/मोबाईल एप्लीकेशन पर धनराशि प्राप्त करने हेतु कभी भी न तो QR कोड स्कैन करें, और न ही UPI पिन डालें ऐसा करने से हमेशा धनराशि आपके खाते से ही डेबिट होगी ।
  • किसी अजनबी या किसी ऐसे व्यक्ति से प्राप्त संदेश का जवाब न दें जिसे आप नहीं जानते हैं।
  • कस्टमर केयर से बताकर फोन करने वाले व्यक्ति की बातो में न आये और न ही उसे अपने वॉलेट/बैक सम्बन्धी को जानकारी साझा करें ।
  • ऑनलाईन जॉब दिलाने वाली वेबसाईट पर रजिस्ट्रेशन के उपरान्त यदि आपको फोन काल / वाट्सअप के माध्यम से चयनित होने / नौकरी प्राप्त करने के लिये धनराशि की मांग की जाती है तो सतर्क हो जायें, किसी भी प्रकार की धनराशि जमा करने से पूर्व भली प्रकार जांच (भौतिक सत्यापन) अवश्य कर लें
  • कस्टमर केयर से बताकर फोन करने वाले व्यक्ति की बातो में न आये और न ही उसे अपने वॉलेट/बैक सम्बन्धी को जानकारी साझा करें ।

किसी भी साईबर शिकायत / सुझाव के लिए–

संपर्क: 0135-2655900

email- ccps.deh@uttarakhandpolice.uk.gov.in

फेसबुक – https://www.facebook.com/cyberthanauttarakhand/

“किसी भी अन्जान फोन नम्बर पर अपनी निजी जानकारी शेयर न करें”

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: