साईबर ठगों ने की क्रेडिट कार्ड और टिकिट बुक करने के नाम पर ठगी, STF साईबर क्राईम पुलिस ने करायी धनराशि वापस

 साईबर ठगों ने की क्रेडिट कार्ड और टिकिट बुक करने के नाम पर ठगी, STF साईबर क्राईम पुलिस ने करायी धनराशि वापस
21 मार्च, 2021
                                                         
  • STF साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा साईबर ठगो द्वारा ठगी रुपये 126520 की धनराशि करायी वापस ।

देहरादून : स्पेशल टास्क फोर्स STF उत्तराखंड के अंतर्गत कार्यरत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा आज 21 मार्च 2021, संध्या5 pm की साइबर बुलेटिन CYBER BULLETIN :

  1. दिल्ली निवासी व्यक्ति से में ticket बुक कराने के नाम पर हुई 01,20,000/- (एक लाख बीस हजार) रुपये की ठगी के मामले में साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून से कानि. पवन कुमार तत्काल कार्यवाही करते हुये जानकारी प्राप्त की गयी तो सम्बन्धित कम्पनी make my trip एवं यूपीआई से सम्पर्क स्थापित करते हुये करीब 75000 (पिछत्तर हजार) रुपये वापस करवाये गए हैं। शिकायतकर्ता द्वारा पुलिस कार्यवाही की प्रशंसा की गयी ।
  2. नेहरु ग्राम थाना रायपुर जनपद देहरादून निवासी व्यक्ति के द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड में प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उनके द्वारा RBL Bank का क्रेडिट कार्ड हेतु आवेदन किया गया था किन्तु उन्हे क्रेडिट कार्ड प्राप्त नही हुआ था इसी मध्य एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा उनसे सम्पर्क कर स्वयं को क्रेडिट कार्ड डिपार्टमेंट से बताते हुये उनसे ओटीपी की जानकारी प्राप्त कर उनके खाते से 51,520/- (इकावन हजार पांच सौ बीस ) रुपये ऑनलाईन निकाल कर धोखाधड़ी कर ली गयी । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाने से उप निरीक्षक राजीव सेमवाल द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुये तत्काल सम्बन्धित क्रेडिट कार्ड डिपार्टमेंट से सम्पर्क कर शिकायतकर्ता की सम्पूर्ण धनराशि रुपये 51,520/- /- (इकावन हजार पांच सौ बीस ) वापस कराई गई। संदिग्ध व्यक्ति के सम्बन्ध में जानकारी की जा रही है ।
  3. क्लेमनटाउन थाना क्लेमनटाउन जनपद देहरादून निवासी व्यक्ति के द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड में प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उन्हे एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा फोन कर अपनी बातो के झांसे मे लेकर उनके बैंक खाता/डेबिट कार्ड डिटेल (ओटीपी /एटीएम कार्ड नम्बर) प्राप्त कर उनके खाते से धोखाधडी से 39,989/- (उनतालीस हजार नौ सौ नवास्सी) रुपेय की धनराशि निकाल ली गयी । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाने से उप निरीक्षक निर्मल भट्ट द्वारा सम्बन्धित बैंक एवं गेटवे के नोडल अधिकारियों से सम्पर्क किया गया तो ज्ञात हुआ कि शिकायतकर्ता के खाते से धनराशि पश्चिम बंगाल के पेटीएम खाते मे स्थानान्तरित होना पाया गया, जिसे तत्काल फ्रीज कराया गया, तथा संदिग्ध के मोबाईल नम्बरो की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर भी पश्चिम बंगाल राज्य के होने पाये गये । समस्त विवरण प्राप्त कर प्रकरण को कार्यवाही हेतु जनपद देहरादून को भेजा गया ।
  4. टिहरी गढ़वाल निवासी व्यक्ति द्वारा साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड़ में प्रार्थना पत्र प्रेषित किया गया, जिसमे उनके द्वारा बताया गया कि उनको एक अज्ञात व्यक्ति द्वारा ईमेल के माध्यम से सम्पर्क कर विदेश मे नौकरी लगाने की बात कही गयी तथा वीजा लगाने के नाम पर उनसे 35000/- (पैंतीस हजार) रुपये की धोखाधड़ी की गयी । उक्त प्रार्थना पत्र पर साईबर थाने से उप निरीक्षक आशीष गुसांई के द्वारा शिकायतकर्ता से उपलब्ध विवरण के आधार पर जानकारी प्राप्त करते हुये तत्काल सम्बन्धित बैंक से सम्पर्क कर विवरण प्राप्त किया गया तो उनके द्वारा जानकारी हुयी की शिकायतकर्ता से प्राप्त धनराशि पश्चिम बंगाल के यूनाईटेट बैंक मे स्थानान्तरित होना पाया गया । संदिग्ध व्यक्ति /लाभार्थी खाता धारक के समस्त विवरण प्राप्त कर प्रकरण में अग्रिम कार्यवाही हेतु सम्बन्धित जनपद टिहरी गढ़वाल को भेजा गया ।
  5. टिहरी गढ़वाल निवासी एक व्यक्ति द्वारा थाना साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन को एक प्रार्थना पत्र प्रेषित किया जिसमे उनके द्वारा अवगत कराया गया कि उन्होने अपने खाते से हुयी फेल ट्रांजेक्शन के सम्बन्ध में कम्पलेन करने हेतु गूगल से यूनियन बैंक का कस्टमर केयर नम्बर खोजा गया जिस पर बात करने पर उक्त अज्ञात व्यक्ति द्वारा स्वंय को यूनियन बैंक कस्टमर केयर से बताते हुये शिकायतकर्ता की कम्पलेन दर्ज करने हेतु खाते की डिटेल (ओटीपी/खाता नम्बर/एटीएम कार्ड नम्बर) प्राप्त कर उनके खाते से धोखाधडी से 10000/- (दस हजार रुपये ) रुपये की धनराशि निकाल ली गयी । प्रकरण की जांच उपनिरीक्षक कुलदीप टम्टा द्वारा की गयी तथा शिकायतकर्ता से प्राप्त विवरण के आधार पर सम्बन्धित पेटीएम वॉलेट नोडल अधिकारी से सम्पर्क किया गया तो ज्ञात हुआ कि उक्त धनराशि उ0प्र0 के पेटीएम वॉलट में स्थानान्तरित होना पाया गया , जिसे तत्काल फ्रीज कराया गया, तथा संदिग्ध के मोबाईल नम्बरो की जानकारी की गयी तो उक्त नम्बर भी पश्चिम बंगाल राज्य का होना पाया गया । समस्त विवरण प्राप्त कर प्रकरण को कार्यवाही हेतु जनपद टिहरी गढ़वाल को भेजा गया

साईबर सुरक्षा टिप

  • किसी भी रूप में संदेश पर प्रतिक्रिया(कमेन्ट आदि) देने से पहले उसे परख लें (जैसे ई-मेल, एसएमएस, व्हाट्सएप, फेसबुक आदि पर)।
  • किसी अजनबी या किसी ऐसे व्यक्ति से प्राप्त संदेश का जवाब न दें जिसे आप नहीं जानते हैं।
  • KYC अपडेट/मोबाईल नम्बर बंद होने सम्बन्धी मैसेज/फोन कॉल आने पर अपनी व्यक्तिगत/बैंक सम्बन्धी जानकारी शेयर न करें ।
  • किसी भी प्रकार के अन्जान लिंक पर क्लिक न करें ।
  • किसी अंजान व्यक्ति के बहकावे मे आकर Any Desk, Quick Support आदि Remote Access app डाउनलोड न करें ।
  • ध्यान रखे कि अंजान व्यक्ति द्वारा भेजे गये किसी भी पेमेन्ट गेटवे /वॉलेट/मोबाईल एप्लीकेशन पर धनराशि प्राप्त करने हेतु कभी भी न तो QR कोड स्कैन करें, और न ही UPI पिन डालें ऐसा करने से हमेशा धनराशि आपके खाते से ही डेबिट होगी ।
  • किसी भी अन्जान व्यक्ति/महिला से फेसबुक या किसी भी सोशल साइट पर दोस्ती का प्रस्ताव स्वीकार न करें ।

किसी भी साईबर शिकायत / सुझाव के लिए–

संपर्क: 0135-2655900

email- ccps.deh@uttarakhandpolice.uk.gov.in

फेसबुक – https://www.facebook.com/cyberthanauttarakhand/

“किसी भी अन्जान फोन नम्बर पर अपनी निजी जानकारी शेयर न करें ”

Related post

%d bloggers like this: