आयुक्त रविनाथ रमन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से गढ़वाल मण्डल के सभी जिलाधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक, डीएम विजय कुमार जोगदण्डे ने कहा आपदा को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में सभी तैयारी कर ली गई हैं पूर्ण

 आयुक्त रविनाथ रमन ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से गढ़वाल मण्डल के सभी जिलाधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक, डीएम विजय कुमार जोगदण्डे ने कहा आपदा को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में सभी तैयारी कर ली गई हैं पूर्ण
11 जून, 2021
                                                         

पौड़ी / उत्तरकाशी : आयुक्त गढ़वाल मण्डल रविनाथ रमन आज जनपद उत्तरकाशी से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से गढ़वाल मण्डल के सभी जिलाधिकारियों के साथ सड़क, स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन, मैनपॉवर, खाद्यान, संचार, विद्युत, मानसून अवधी आदि की समीक्षा बैठक ली। उन्होने क्रमवार सभी जनपद के जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक, संबंधित अधिकारी अद्यतन वस्तुस्थिति की जानकारी लेते हुए, समस्या की भी जानकारी ली। जबकि जनपद गढ़वाल से जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी. रेणुका देवी व अन्य अधिकारी ने वीसी के माध्यम से बैठक में प्रतिभाग किया।

गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन ने सभी जिलाधिकारी को निर्देशित किया कि मानसूनकाल को दृष्टिगत रखते हुए अभी से सक्रीयता कि साथ तैनात रखना सुनिश्चित करेंगे। कहा कि 22 से 26 जून 2021 तक मानसून की आने की संभावनाऐ है। आकस्मिक अवकाश पर रोक लगाने के निर्देश दिये। जनपद गढ़वाल से जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने जानकारी देते हुए अवगत कराया कि आपदा को दृष्टिगत रखते हुए जनपद में सभी तैयारी पूर्ण कर ली गई। प्रत्येक तहसीलों में कंट्रोल रूम स्थापित कर लिए गए। तहसीलों में मॉक ड्रिल (पूर्वाभ्यास) कर ली गई गई। 16 जून 2021 को जिला मुख्यालय में भी आपदा को लेकर मॉक अभ्यास किया जाएगा।

वहीं जनपद के समस्त नगर निकाय क्षेत्रों के करीब 70 नालों की साफ सफाई नगर पालिका द्वारा की गई है। श्रीनगर, देवप्रयाग एवं कोटद्वार क्षेत्र के लिए बाढ़चैकी स्थापित करने हेतु शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। आपदा के दृष्टिगत जीर्णशीर्ण करीब 47 घरों का चिन्हीकरण नगर पालिका द्वारा करवाया गया है। जुलाई तक का खाद्यान्न की उठान कर लिया गया है। जून माह तक की राशन वितरण किया जा चुका है। 8 गोदाम ऐसे है जहां तीन माह का राशन नहीं आया है डिमांड शासन को भेज दी गई है। गढ़वाल आयुक्त ने जिलाधिकारी से लालढांग चिल्लरखाल मोटर मार्ग की अद्यतन वस्तुस्थिति की जानकारी ली। जिस पर उन्होने जिलाधिकारी गढ़वाल को बैठक आयोजित कराने को कहा।

चमोली, रुद्रप्रयाग, टिहरी, देहरादून एवं हरिद्वार जिले की समीक्षा करते हुए गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन ने जिलाधिकारियों से खाद्यान की उपलब्धता की जानकारी। जिलाधिकारी चमोली व रुद्रप्रयाग द्वारा अवगत कराया गया कि जून तक का राशन सभी राशन दुकानों में पहुंचा दिया गया है। मानसून काल से निपटने के लिए पूर्ण तैयारी कर ली गई है। आपदा से प्रभावित गांव के विस्थापन आदि के लिए भूवैज्ञानिक की मांग की गई। गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन ने विस्थापन गांव की सूची भेजने के निर्देश जिलाधिकारी को दिए ताकि भूवैज्ञानिक भेजने की कार्यवाही की जा सकें। रुद्रप्रयाग में जहाँ मोबाइल नेटवर्क नही है वहां कनेक्टिविटी के लिए कार्य किए जाए। आपदा के दृष्टिगत पटवारी चैकियों, कंट्रोल रूम में नेटवर्क को यथा समय चालू रखा जाय।

वहीं गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन ने होमगार्ड एवं पीआरडी के स्वयं सेवी की पर्याप्त तैनाती बनाये रखने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी टिहरी ने एनएच 94 एवं एनएच 58 के निर्माण कार्यो को लेकर गढ़वाल आयुक्त को अवगत कराते हुए कहा कि निर्माण कार्य के दौरान कई स्थान संवेदनशील है जहां पत्थरों की गिरने की अंदेशा बनी रहती है। वहीं डोबराचांटी लम्बगांव मोटर मार्ग की समस्या पर गढ़वाल आयुक्त ने आरटीओ गठित समिति से निरीक्षण कराने के निर्देश दिये। स्वास्थ्य सुविधा की जानकारी लेते हुए उन्होने हरिद्वार एवं देहरादून के जिलाधिकारी से डेंगू,मलेरिया के रोकथाम के बारे में जानकारी ली। जिस पर जिलाधिकारी ने डेंगू उन्मूलन हेतु निरंतर अभियान चलाये जाने की बात कही।

वहीं गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन ने जिलाधिकारी देहरादून से बीते दिन मालदेवता के पास आई आपदा की वस्तुस्थिति की जानकारी ली। जिस पर जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि जीएजीएसवाई की रोड कटिंग के मलवे से मालदेवता-ऋषिकेश सड़क अवरूद्ध हो गये थे। सडक पर आएं मलबा हटाने का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। सड़क कल यातायात के लिए खोल दी गई। सुरक्षा के दृष्टिगत 7 परिवार को नजदीकी स्कूल में शिफ्ट कराया गया। उक्त घटना से किसी प्रकार की हानी नही हुई है।

गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि आपदा के दृष्टिगत सभी तहसीलों के कंट्रोल रूम को चालू अवस्था में रखा जाय। कंट्रोल रूम में जिन कार्मिकों की ड्यूटी लगाई जाती है उन्हें प्रशिक्षित किया जाय। रेखीय विभागों व नोडल अधिकारियों के मोबाइल नंबर अपडेट किया जाय। वीडियों कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जिलाधिकारी उत्तरकाशी मयूर दीक्षित, चमोली स्वाति एस भदौरिया, रुद्रप्रयाग मनुज गोयल, टिहरी ईवा आशीष श्रीवास्तव, हरिद्वार सी रविशंकर, देहरादून डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव सहित समस्त पुलिस अधीक्षक एवं संबंधित अधिकारी उपस्थित थे जबकि जनपद पौड़ी अपर जिलाधिकारी डॉ. एस के बरनवाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मनोज शर्मा, आपदा प्रबंधन अधिकारी दिपेश चन्द्र काला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: