सीएम पुष्कर सिंह धामी ने जैनाचार्य, राष्ट्रसंत, विश्वरत्न सागर सूर्य जी महाराज से शिष्टाचार भेंट कर किया आशीर्वाद प्राप्त

 सीएम पुष्कर सिंह धामी ने जैनाचार्य, राष्ट्रसंत, विश्वरत्न सागर सूर्य जी महाराज से शिष्टाचार भेंट कर किया आशीर्वाद प्राप्त
Posted on नवंबर 6, 2021 4:38 pm
                                                   
हरिद्वार । मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को जैन मन्दिर में जैनाचार्य, राष्ट्रसंत, विश्वरत्न सागर सूर्य जी महाराज से शिष्टाचार भेंट की तथा आशीर्वाद प्राप्त किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जैनाचार्य राष्ट्र संत विश्व रत्न सागर सूर्य जी महाराज से कहा कि मेरा यहां आना एक संयोग है, कल ही आपकी साधना पूरी हुई और आज मैं अचानक आपके दर्शन करने पहुंच गया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जैनाचार्य जी से कहा कि गुरूदेव आप ऐतिहासिक पुरूष हो गये हैं।

This slideshow requires JavaScript.

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने जैनाचार्य सागर सूर्य जी महाराज से कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की केदारनाथ यात्रा के सम्बन्ध में भी विस्तृत चर्चा की। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस अवसर पर पत्रकारों से वार्ता करते हुये कहा कि पिछले दिनों में यहां जैनाचार्य राष्ट्र संत विश्व रत्न सागर सूर्य जी महाराज का आशीर्वाद लेने आया था। उन्होंने कहा कि आज संयोगवश अचानक ही मैं जैनाचार्य सागर सूर्य जी महाराज का आशीर्वाद व मार्गदर्शन प्राप्त करने यहां आया, जिन्होंने कल ही 17 दिन के बाद अपनी साधना सम्पन्न की है।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि कल यहां एक अच्छी बात यह भी हुई है कि श्वेताम्बर व दिगम्बर दोनो समुदाय के लोगों ने यहां पर बड़ा अच्छा मिलन कार्यक्रम किया। .यह मिलन हमारी संस्कृति का सबको मिलाने का एक रूप है। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम एवं श्रीकृष्ण ने भी सबको मिलाने का कार्य किया था, आज जैनाचार्य भी सबको मिलाने का कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य के विकास के लिए और अच्छा किस प्रकार से कार्य कर सकते हैं, इस संबंध में जैनाचार्य सागर सूर्य जी महाराज का आशीर्वाद एवं मार्गदर्शन मिला है।
इस अवसर पर जैनाचार्य राष्ट्र संत विश्व रत्न सागर सूर्य जी महाराज ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को बताया कि मैं कल तक 17 दिनों की मौन साधना में लीन था, जो जैन धर्म की सबसे कठिन साधना है। इस साधना में साधक को 17 दिनों तक कहीं नहीं जाना होता है तथा इस साधना में साधक को एक ही आसन में 14 घंटे तक साधना करनी पड़ती है। उन्होंने यह भी बताया कि जैन धर्म में जो भी आचार्य के पद पर रहते हैं, उन्हें यह साधना करनी बहुत जरूरी होती है। उन्होंने इस मौके पर अपने गुरूजी गौतम स्वामी, जो सूर्य के स्वामी माने जाते हैं, के बारे में विस्तृत जानकारी से भी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को अवगत कराया।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को जैन मन्दिर परिसर पहुंचने पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया तथा जैन मन्दिर के पदाधिकारियों ने पुष्पगुच्छ, अंगवस्त्र, फूल मालाएं आदि भेंट कर मा0 मुख्यमंत्री का भव्य स्वागत व अभिनन्दन किया। इसके पश्चात् मुख्यमत्री पुष्कर सिंह धामी कनखल स्थित जगत गुरू आश्रम पहुंचे, जहां उन्होंने जगतगुरू राजराजेश्वराश्रम से शिष्टाचार भेंट कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया। इन अवसरों पर कैबिनेट मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, जिलाधिकारी हरिद्वार विनय शंकर पाण्डेय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. योगेन्द्र सिंह रावत, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय, नगर मजिस्ट्रेट हरिद्वार अवधेश कुमार सिंह, एसडीएम पूरण सिंह राणा, संचालक कोर कॉलेज जेसी जैन, प्रबन्धक राजेश काठेण, त्रिलोक मोदी, हिम्मत हिरण श्रावक आदि उपस्थित थे।

Related post