चमोली जिला पंचायत घमासान : भाजपा की ओर से लगाये जा रहे आरोप महज चुनावी चाल – मनीष खंडूरी

 चमोली जिला पंचायत घमासान : भाजपा की ओर से लगाये जा रहे आरोप महज चुनावी चाल – मनीष खंडूरी
Posted on दिसंबर 1, 2021 5:41 pm
                                                   
ख़बर सुनने के लिए क्लिक करे 👉

देहरादून । चमोली जिला पंचायत में चल रही रार को लेकर सोमवार को पूर्व काबिना मंत्री राजेंद्र भंडारी और प्रोफेशनल कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मनीष खंडूरी ने देहरादून में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा की ओर से लगाये जा रहे आरोप महज भाजपा की चुनावी चाल है। मनीष खंडूरी ने कहा कि भाजपा राज्यभर में इस प्रकार की चाल चल रही है। सरकार राजेंद्र भंडारी को निशाना बनाकर वार कांग्रसे पार्टी पर किया है।

चमोली जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी की ओर से नंदा देवी राजजात के कार्यों में अनियमितता के आरोपों का जिन्न बोतल से निकलने के बाद अब भाजपा और कांग्रेस की ओर से जुबानी जंग तेज होने लगी है। जहां जिला पंचायत चमोली के भाजपा समर्थित सदस्यों ने पार्टी की सदस्यता से त्याग पत्र जिलाध्यक्ष को सौंपा है, वहीं उपाध्यक्ष लक्ष्मण रावत भी अपनी ओर से मामले में मोर्चा संभाले हैं। साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी और पूर्व काबिना मंत्री राजेंद्र भंडारी आरोपों को षड़यंत्र का हिस्सा बता रहे हैं।

वहीं सोमवार को देहरादून में प्रोफेशनल कांग्रेस अध्यक्ष मनीष खंडूरी ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा की ओर से राज्य में कांग्रेस के खिलाफ चुनावी चाल चली जा रही है। जिसका विरोध किया जाएगा। कहा कि यदि भाजपा नंदा देवी राजजात में अनियमिताओं की जांच करवाना चाहती तो 2017 से वर्तमान तक कार्रवाई की जा सकती थी। लेकिन महज चुनावी लाभ के लिये भाजपा की ओर से यह चाल चली गई है। वहीं राजेंद्र भंडारी ने कहा कि यदि सत्ता के बल पर भाजपा की ओर से जिला पंचातय अध्यक्ष रजनी भंडारी को अध्यक्ष पद से हटाया जाता है। तो वे मामले को लेकर उच्च न्यायालय की शरण लेंगें।

Related post