कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मसूरी विधानसभा की पेयजल योजनाओं को लेकर विभागीय अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

 कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मसूरी विधानसभा की पेयजल योजनाओं को लेकर विभागीय अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक
22 मार्च, 2021
                                                         

देहरादून : प्रदेश के सैनिक कल्याण, औद्योगिक विकास, खादी ग्रामोद्योग एवं लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम विभाग मंत्री गणेश जोशी द्वारा मसूरी विधान सभा क्षेत्र में केन्द्र पोषित, राज्य सैक्टर, जल जीवन मिशन तथा बाहय सहायतित पेयजल निगम तथा जल संस्थान की विभिन्न निर्माणाधीन तथा प्रस्तावित पेयजल योजनाओं की विभागीय अधिकारियों के साथ विधान सभा कक्ष में समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी द्वारा विभागीय अधिकारियों से निर्माणाधीन तथा प्रस्तावित विभिन्न पेयजल तथा सीवरेज योजनाओं की वर्तमान समय में हुई प्रगति का विवरण प्राप्त करते हुए तेजी से सभी योजनाओं को निर्धारित समय सीमा के भीतर पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होने निर्देश दिये कि जिन योजनाओं का कार्य अन्तिम चरण में है उनके लोकार्पण की तिथि निश्चित की जाय, जिस योजना मद में पैसा उपलब्ध है उस पर कार्य तत्काल प्राराम्भ किया जाय तथा ऐसी योजनाएं जो प्रस्तावित है अथवा विभिन्न स्तर पर स्वीकृति हेतु लम्बित है अथवा जिनमें अभी तक पैसा उपलब्ध नही हो पाया उन योजनाओं की स्वीकृति तथा वित्तीय धनराशि प्राप्त करने के लिए सम्बन्धित पक्षों से तेजी से पहल की जाय तथा स्वीकृति अथवा वित्तीय आपूर्ति उपलब्ध होते हुए योजनाओं पर कार्य प्राराम्भ किया जाय।

सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने इस दौरान कार्यदायी सस्थाओं पेयजल निगम एवं जल संस्थान को अलग-अलग योजनाओं के कार्यो को पूरा करने के लिए समयसीमा निर्धारित करते हुए कहा कि योजनाओं की गुणवत्ता तथा प्रगति बढाने के लिए कार्यो की लगातार मानिटिरिंग करने और प्रत्येक 15 दिन में प्रगति विवरण उपलब्ध कराने को कहा। उन्होने पेयजल वितरण लाईन में कनेक्शन देते समय इस प्रकार से सन्तुलित तरीके से पेयजल को वितरित करने के निर्देश दिये जिससे सभी जगहो पर अथवा घरों में बराबर मात्र में पेयजल उपलब्ध हो सके साथ ही ऊचाई वाले क्षेत्रों में पेयजल वितरण में विशेष सावधानी बरती जाय।

सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी द्वारा इस दौरान मसूरी सीवरेज योजना, मसूरी पुर्नगठन पेयजल योजना, भटटाफाॅल एम एल डी एस टी पी डिस्पोजल योजना, लण्ढौर साउथ एस टी पी क्षतिग्रस्त कार्य, टिहरी बाईपास एवं टिहरी बस स्टैण्ड मध्य क्षतिग्रस्त सीवर लाईन, संरौना बौंठा पेयजल योजना, सिमियारी पेयजल योजना, टिमली मानसिंह रेट्रोफिटिंग, सेरा एवं चामासारी पेयजल योजना, सेरकी ग्राम समूह पेयजल योजना, पोटीधार रेट्रोफिटिंग पेयजल योजना, गल्जवाडी पेयजल योजना, बुरासखण्डा पेयजल योजना कुठालगाॅव पेयजल योजना, सालावाल पेयजल योजना, गंगोल पंडितवाडी पेयजल योजना, विलासपुर काण्डली पेयजल योजना, बिष्ट गाॅव सोलर पम्पिंग पेयजल योजना, जमनीवाला पेयजल योजना, ढाकपटटी जोन, कालीदास सीवरेज पुर्नगठन योजना, गढकैण्ट टयूबवैल निर्माण-ओवर हैड टैंक निर्माण इत्यादि पेयजल तथा सीवरेज योजनाओं की समीक्षा करते हुए कार्यदायी संस्थाओं पेयजल निगम तथा जल सस्थान को जरूरी दिशा निर्देश दिये। इस अवसर पर बैठक में अपर सचिव उदयराज सिंह, महाप्रबन्धक पेयजल निगम एस. के. पन्त, अधीक्षण अभियन्ता सुभाष चन्द सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Related post

%d bloggers like this: