दुग्ध समितियों से जुड़कर सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का उठाये लाभ, आत्मनिर्भर बन करें स्वरोजगार – सहदेव सिंह पुंडीर

 दुग्ध समितियों से जुड़कर सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का उठाये लाभ, आत्मनिर्भर बन करें स्वरोजगार – सहदेव सिंह पुंडीर
Posted on दिसंबर 3, 2021 8:36 am
                                                   
ख़बर सुनने के लिए क्लिक करे 👉
दुग्ध समितियों द्वारा प्रोत्साहन वितरण
रूडकी : दूध उत्पादक सहकारी संघ हरिद्वार की सहकारी समितियों द्वारा प्रोत्साहन वितरण कार्यक्रम किया गया । दुग्ध समिति सकोति, महेश्वरा, डाड़ा फरकपुर, मंडावर, खूबनपुर, मोहितपुर, शेरपुर समिति द्वारा प्रोत्साहन वितरण किया गया। दुग्ध समिति फरकपुर में दुग्ध उत्पादकों को संबोधित करते हुए दुग्ध निरीक्षक एवं प्रभारी p&i सहदेव सिंह पुंडीर ने कहा कि दूध उत्पादकों को दुग्ध समितियों से जुड़कर डेयरी विकास विभाग की योजनाओं का लाभ लेकर दुग्ध व्यवसाय द्वारा आर्थिक समृद्धि प्राप्त करनी चाहिए। इसके लिए दुग्ध समिति से जुड़कर सहकारिता को सुदृढ़ करें। डेरी विकास विभाग द्वारा एन सीडीसी योजना द्वारा 3 या पांच दुधारू पशु के लिए 25% अनुदान पर  लोन उपलब्ध है तथा आंचल संतुलित पशु आहार ₹400 प्रति कुंतल अनुदान पर मिनिरल मिक्चर 50% अनुदान पर उपलब्ध कराया जाता है. प्राथमिक पशु चिकित्सा तथा आकस्मिक पशु चिकित्सा के लिए आकस्मिक पशु चिकित्सा वाहन पर दो पशु चिकित्सक सेवा प्रदान कर रहे हैं।
दुग्ध संघ हरिद्वार द्वारा दूध खरीद मूल्य ₹38 प्रति लीटर किया गया है तथा ₹4 प्रति लीटर उत्तराखंड सरकार द्वारा दूध मूल्य प्रोत्साहन राशि के रूप में दिया जाता है इसके लिए जनपद हरिद्वार को 91 लाख रुपए दुग्ध मूल्य प्रोत्साहन मद मे प्राप्त हुआ है दुग्ध सहकारिता द्वारा ग्रामीण दूध उत्पादकों को शहरी दूध उपभोक्ताओं से जोड़ा जाता है तथा बिचोलीयो के शोषण से मुक्त कराया जाता है । शेरपुर दुग्ध समिति में प्रधान प्रबंधक गामा शंकर मौर्य द्वारा महिला दुग्ध उत्पादकों को समिति से जुड़ने के लिए प्रेरित करते हुए कहां ग्रामीण क्षेत्र में महिलाएं दुग्ध व्यवसाय अपनाकर अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत कर सकते हैं सरकार महिलाओं की स्थिति में सुधार करने के लिए विभिन्न योजनाए चला रही है.

This slideshow requires JavaScript.

Related post