STF साइबर क्राईम पुलिस की बड़ी कार्यवाही,ऑनलाईन लोन दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का एक और सदस्य को किया गिरफ्तार

 STF साइबर क्राईम पुलिस की बड़ी कार्यवाही,ऑनलाईन लोन दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का एक और सदस्य को किया गिरफ्तार
25 जुलाई, 2021
                                                         
STF एवं साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन उत्तराखण्ड की संयुक्त कार्यवाही
देहरादून : प्रधानमंत्री लोन योजना के नाम पर आधार कार्ड के माध्यम से सस्ते ब्याज दर पर  लोन दिलाने के नाम पर लाखो की धोखाधडी करने वाले गिरोह का एक और सदस्य ग्रेटर नोएडा से गिरफ्तार. बढ़ते साइबर अपराधों के परिप्रेक्ष्य में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है । इसी परिपेक्ष्य में ठगों द्वारा आम जनता से प्रधानमंत्री लोन योजाना से आधार कार्ड के माध्यम से सस्ते ब्याज दरो पर “ऑनलाईन लोन दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी” करने की काफी शिकायते प्राप्त हो रही थी ।
इसी क्रम में एक प्रकरण साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को प्राप्त हुआ था जिसमें देहरादून निवासी दीवान सिह नेगी के साथ इसी प्रकार की घटना घटित हुयी थी जिसमें शिकायतकर्ता को अज्ञात कॉलर द्वारा कॉल कर प्रधानमंत्री लोन योजना से आधार कार्ड पर 01 प्रतिशत की ब्याज दर पर लोन दिलाने की बात कही गयी जिस पर विश्वास करते हुये शिकायतकर्ता द्वारा लोन लेने की बात कही गयी । अज्ञात कॉलर द्वारा शिकायतकर्ता से उनके पहचान सम्बन्धी दस्तावेज मांगे गये जिसके उपरान्त शिकायतकर्ता को लोन स्वीकृत होने के दस्तावेज प्रेषित करते हुये फाईल चार्ज/इंस्योरेंस चार्ज एवं अन्य शुल्क के नाम पर विभिन्न तिथियो में बैक खाते में लगभग 1,22,000 लाख रुपये जमा कराकर धोखाधड़ी की गयी । शिकायतकर्ता द्वारा दिये गये प्रार्थना पत्र के आधार पर साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून पर मु0अ0सं0 02/21 धारा 420, 120बी भादवि व 66(डी) आईटी एक्ट का अभियोग पंजीकृत किया गया तथा विवेचना साइबर थाने के निरीक्षक विकास भारद्वाज के सुपूर्द की गयी । 
विवेचना के दौरान अभियुक्तो द्वारा प्रयोग किये गये मोबाईल नम्बरो, बैंक खातो का विवरण प्राप्त कर विश्लेषण किया गया तो जानकारी हुई कि अभियुक्तों द्वारा वादी को जिन नम्बरों से सम्पर्क की गयी थी वे नम्बर दिल्ली व उत्तर प्रदेश राज्य के होने पाये गये । बैंक खातों की जानकारी की गयी तो पता चला कि साइबर अपराधियो द्वारा दिल्ली, नोएडा,सीतापुर उत्तर प्रदेश  के बैंक खातों का प्रयोग करते हुये धोखाधड़ी से 1,22,000/- लाख की धनराशि स्थानान्तरित की गयी है। इन खातो के बैंक स्टेटमैन्ट का अवलोकन करने पर उक्त बैंक खातो से धनराशि अन्य बैंक खातो में स्थानान्तरित होनी पायी गयी । विवेचना के दौरान प्रकाश में लाभार्थी खाताधारक की सम्बन्धित बैक शाखाओं से जानकारी प्राप्त कर  विवेचक/निरीक्षक विकास भारद्वाज द्वारा मय पुलिस टीम के अभियुक्त को गैर प्रान्त उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले से 01 अभियुक्त को पूर्व में गिरफ्तार किया गया था । अभियुक्त से पूछताछ पर उसके द्वारा अपराध अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर करना बताया गया था जिस पर कल दिनांक को पुलिस टीम द्वारा ग्रेटर नोएडा से अभियोग में सलिप्ता पाये जाने पर एक अन्य अभियुक्त अनुज अग्रवाल की तलाश कर  विधिक कार्यवाही अमल में लायी गयी ।
अभियुक्त से पूछताछ पर महत्वपूर्ण जानकारिया प्राप्त हुयी कि वह और उनके सहयोगी दैनिक समाचार पत्रो, फेसबुक आदि सोशल साईट्स एंव मोबाइल नम्बर के माध्यम से भारतवर्ष के विभिन्न राज्यो की जनता से सम्पर्क कर  लुभावनी/सस्ती दरो पर प्रधान मंत्री लोन योजना के अन्तर्गत आधार कार्ड पर सस्ते ब्याज दरो पर लोन दिलाने के लिये फाईल चार्ज/इंस्योरेंस चार्ज एवं अन्य शुल्क के नाम पर विभिन्न बैंक खातो मे धनराशि डलवाकर ठगी करते है। जिसके लिये वह और उनके साथी जो दिल्ली, नोएडा ,सीतापुर उत्तर प्रदेश के है फर्जी नाम पतो पर बैक खाते का प्रयोग करते है। 
अपराध का तरीका
अभियुक्तगण द्वारा दैनिक समाचार पत्रो, फेसबुक आदि सोशल साईट्स एंव मोबाइल फोन के माध्यम से भारतवर्ष के विभिन्न राज्यो के लोगो से सम्पर्क कर उन्हे लुभावनी/सस्ती दरो पर प्रधानमत्री लोन योजना के नाम पर आधार कार्ड के माध्यम से 01 प्रतिशत की दर से लोन दिलाने के नाम पर फर्जी नाम पते बताकर फाईल चार्ज/इंस्योरेंस चार्ज एवं अन्य शुल्क के नाम पर विभिन्न बैंक खातो मे धनराशि डलवाकर ठगी करते है । जनता से सम्पर्क करने हेतु दिल्ली, उत्तर प्रदेश आदि स्थानो के लोगो की फर्जी आई0डी0 पर मोबाईल सिम एवं बैंक खाते खोलकर धनराशि प्राप्त करते है । हर घटना हेतु अलग-अलग सिम/मोबाईल नम्बरो का प्रयोग करते है व उन्हे नष्ट करते रहते है । आम जनता को विश्वास दिलाने हेतु फर्जी Loan Approval Letter, Certificate, ID आदि भेजते हुये अपराध को अंजाम देते है ।
अभियुक्त-
  1.  अनुज अग्रवाल पुत्र दिनेश अग्रवाल निवासी टावर न. 14 फ्लैट न. 303 लाँ रेजीडेन्सी सोसाएटी एरिया ग्रेटर नोएडा उत्तर प्रदेश
पुलिस टीम-
  1. निरीक्षक विकाश भारद्वाज
  2. उ.नि. कुलदीप टम्टा
  3.   कानि पवन
  4. कानि सुरेन्द्र कुमार
 
साइबर सावधानी अपील
प्रभारी एसटीएफ उत्तराखण्ड द्वारा जनता से अपील की है कि *सस्ते दरो पर लोन दिलाने वाले विज्ञापनो/मोबाइल फोन कॉल से सतर्क रहे, ऐसे लोगो के बहकावे मे न आये । किसी भी प्रकार का ऑनलाईन लोन लेने से पूर्व स्थानीय बैंक, सम्बन्धित कम्पनी आदि से भलीं भांति इसकी जांच पड़ताल अवश्य करा लें* । कोई भी शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून से सम्पर्क करें।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: