कोविड की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत सभी व्यवस्थाएं रखी जाए पूर्ण – मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत

 कोविड की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत सभी व्यवस्थाएं रखी जाए पूर्ण – मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत
13 जून, 2021
                                                         

पौड़ी / देहरादून : मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सचिवालय से कोविड-19 के नियंत्रण एवं कोविड वैक्सीनेशन की प्रगति के संबंध में जिलाधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर निर्देश दिए कि टेस्टिंग, माइक्रो कंटेनमेंट जोन, कोविड अप्रोप्रियेट बिहेवियर और इंफोर्समेंट पर विशेष ध्यान दिया जाए। कोविड की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत सभी व्यवस्थाएं पूर्ण रखी जाए। उन्होंने कहा कि सभी जिलों में तैयारियां अच्छी हैं, लेकिन इन व्यवस्थाओं को कैसे और आगे बढ़ाया जा सकता है, इस पर ध्यान दिया जाए। जबकि जनपद गढ़वाल से जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे एवं संबंधित अधिकारियों ने वीडियों कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक में प्रतिभाग किया।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कुछ प्राइवेट अस्पतालों में मरीजों से निर्धारित शुल्क से अधिक धनराशि लेने और अटल आयुष्मान कार्ड का लाभ न दिए जाने की शिकायतें आ रही हैं। ऐसा करने वाले अस्पतालों पर सख्त कार्रवाई की जाय। समय समय पर अस्पतालों का निरीक्षण भी किया जाय। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में टेस्टिंग और वैक्सीनेशन को और बढ़ाया जाए। इसके लिए नियमित शिविर लगाए जाएं। मानसून सीजन को ध्यान में रखते हुए पर्वतीय क्षेत्रों में ऑक्सीजन सिलेंडर, आवश्यक दवाओं एवं सभी प्रकार की आवश्यक सामग्री की पूर्ण व्यवस्था रखी जाय।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि कोविड पर प्रभावी नियंत्रण के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। ऑक्सीजन, आईसीयू बेड, वेंटिलेटर की पर्याप्त व्यवस्था है। जिलों के अलावा सीएचसी स्तर तक भी ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोविड से लड़ाई के लिए किसी भी प्रकार की चुनौती के लिए तैयार रहें। डीआरडीओ के सहयोग से ऋषिकेश एवं हल्द्वानी में स्थापित कोविड केयर सेंटर से भी राज्य को काफी मदद मिलेगी।

मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि कोविड की संभावित तीसरी तहर के दृष्टिगत अगले दो माह विशेष सतर्कता बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन 40 हजार टेस्टिंग का लक्ष्य जरूर पूरा किया जाय। कोविड पर प्रभावी नियंत्रण के लिए लिए जागरूकता अभियान निरंतर चलता रहे। प्रचार के लिए नये माध्यमों पर ध्यान दिया जाय। इसके लिए रंगमंच कर्मियों का सहयोग लिया जाय, इससे जागरूकता भी अच्छी होगी। मुख्य सचिव ने कहा कि इन्फोर्समेंट पर विशेष ध्यान दिया जाय। इसके लिए डिप्टी एसपी स्तर के अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाय।

गढ़वाल आयुक्त रविनाथ रमन ने जनपद उत्तरकाशी के वीसी कक्ष से बैठक में प्रतिभाग करते हुए, चारधाम भ्रमण निरीक्षण के तहत उत्तरकाशी पहुंचने की जानकारी देते हुए, अवगत कराया कि क्षेत्र में जारी एसओपी का अनुपालन लोगों द्वारा गम्भीरता पूर्वक से किये जा रहे है। उन्होने ग्रामीणी दुर्गम क्षेत्र के स्कूली बच्चों के लिए संबंधित अध्यापकों द्वारा बच्चों पठन पाठन में सहयोग कराने तथा कोविड 19 के बचाव एवं रोकथाम की जानकारी स्कूली बच्चों के पाठ्य क्रम में शामील करने की सुझाव दिये। साथ ही उन्होने कोविड 19 से परिस्थिति अनुकूल होने पर स्थानीय स्तर पर गत वर्ष की भांति चारधाम यात्रा शुरू करने का सुझाव भी दिया।

वहीं जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ. विजय कुमार जोगदण्डे ने जनपद में कोविड 19 के दृष्टिगत बचाव एवं रोकथाम हेतु की जा रही समस्त अद्यतन कार्यो की जानकारी देते हुए, समुचित तैयारी से अवगत कराया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार शत्रुघ्न सिंह, अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार, डीजीपी अशोक कुमार, सचिव अमित नेगी, आर. मीनाक्षी सुंदरम, डॉ. पंकज पाण्डेय, डीजी स्वास्थ्य डॉ. तृप्ति बहुगुणा, वर्चुअल माध्यम से जनपद गढ़वाल से वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी. रेणुका देवी, मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई, अपर जिलाधिकारी डॉ. एसके बरनवाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मनोज शर्मा, जिला पंचायत राज अधिकारी एमएम खान सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Related post

%d bloggers like this: