डीएम स्वाति एस भदौरिया की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठकआयोजित, दिए दिशा निर्देश

 डीएम स्वाति एस भदौरिया की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठकआयोजित, दिए दिशा निर्देश
24 जुलाई, 2021
                                                         
चमोली : जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया की अध्यक्षता में शनिवार को क्लेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक हुई। जिसमें स्वास्थ्य विभाग की ओर से संचालित योजनाओं एवं वित्तीय व्यय के प्रगति पर बिन्दुवार चर्चा की गई। साथ ही जनपद में कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर की तैयारियों को लेकर भी गहनता से समीक्षा की गई। इस दौरान क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत सफलतापूर्वक चिकित्सा कोर्स पूरा करने पर ठीक हुए लोगों को भी सम्मानित किया गया।
जिलाधिकारी ने अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं पर वित्तीय व्यय को लेकर सोमवार तक विस्तृत रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिए। बच्चों को थर्ड वेब से बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग को माइक्रो न्यूट्रिएंट्स किट तैयार करते हुए जल्द से जल्द हर ब्लाक में वितरण शुरू कराने के निर्देश दिए गए। ताकि बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ सके। साथ ही थर्ड वेब से बचने के लिए जो भी दवाईयां, उपकरण एवं अन्य सामान की खरीद की जानी है उसका तत्काल ऑर्डर करने को कहा गया। साथ ही स्वास्थ्य अधिकारियों को कोविड टेस्टिंग बढाने के भी निर्देश दिए गए।

This slideshow requires JavaScript.

वैक्सीनेशन कार्यो की समीक्षा करते हुए डीएम ने कहा कि चारधाम यात्रा मार्ग पर यदि कोई होटल व्यवसायी, वाहन चालक एवं चारधाम यात्रा से जुड़े अन्य लोग वैक्सीनेशन से छूट गए हो तो उनका भी जल्द से जल्द वैक्सीनेशन किया जाए। चारधाम यात्रा की तैयारियों के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग को यात्रामार्ग पर चिकित्सा ईकाई, डाक्टर एवं एंबुलेंस की समुचित व्यवस्था रखने को कहा गया। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं सब सेंटर के लिए भूमि संबधी प्रस्ताव शीघ्र एडीएम को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। चाइल्ड लाइन के प्रतिनिधि को ऐसे बच्चों की सूची हर महीने स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराने को कहा गया जिन्हें स्वास्थ्य सुविधाओं की आवश्यकता है। साथ ही मुख्य चिकित्सा अधिकारी से समन्वय स्थापित करते हुए ऐसे बच्चों को जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने को कहा गया।
सीएमओ केके अग्रवाल ने अवगत कराया कि कोविड की तीसरी लहर के दृष्टिगत बच्चों के लिए 101 ऑक्सीजन युक्त बेड तैयार किए गए है। स्वास्थ्य केन्द्रों पर 388 डी-टाइप ऑक्सीजन सिलेण्डर, 354 बी-टाइप ऑक्सीजन सिलेण्डर तथा 285 ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर उपलब्ध है। सभी स्वास्थ्य केन्द्रों को मिलाकर 373 अतिरिक्त बेड तैयार किए गए है। 45 प्लस में 101.2 प्रतिशत तथा 18 प्लस में 54.8 प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है। यात्रामार्ग पर छूटे हुए लोगों को वैक्सीनेशन के लिए चिन्हित किया जा रहा है।
क्षय रोग निवारण कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि किसी भी व्यक्ति को टीवी की शिकायत होने पर संबधित क्षेत्र की आशा से संपर्क किया जा सकता है। उन्होंने क्षय रोग के प्रति लोगों को जागरूक करने हेतु अधिशासी अधिकारी को वाहनों में लाउडस्पीकर के माध्यम से प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए। इस दौरान जिलाधिकारी ने क्षय रोग के उपचार हेतु निर्धारित कोर्स पूरा करने पर स्वस्थ्य हुए मरीजों को सम्मानित भी किया। एसीएमओ डॉ. उमा रावत ने बताया कि वर्ष 2021 में जुलाई तक जिले में 192 क्षय रोगी चिन्हित किए गए थे जिनका उपचार किया जा रहा है। इनमें से अधिकांश क्षय रोगी 6 माह का कोर्स पूरा करने के बाद अब स्वस्थ्य हो गए है। कहा कि क्षय रोग का उपचार कराने वाले मरीजों को हर महीने पोषण भत्ता के रूप में 500 रुपये दिया जाता है। साथ ही योजना के तहत क्षय रोगियों के बारे में जानकारी देने वाले व्यक्ति को भी 500 रुपये की धनराशि देकर पुरस्कृत किया जाता है। बैठक में सीएमओ केके अग्रवाल, सीएमएस डॉ. जीएस राणा, एसीएमओ डॉ. उमा रावत, डीपीओ संदीप कुमार, डीईओ नरेश कुमार हल्दयानी, डीएसडब्लूओ टीआर मलेठा, ईओ अनिल पंत, हिमाद संस्था के सचिव उमा शंकर बिष्ट आदि उपस्थित थे। 

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: