पावर बैंक एप्प प्रकरण में 07 मामले दर्ज, अब तक कुल 2.3 करोड़ की धनराशि करायी जा चुकी है फ्रीज

 पावर बैंक एप्प प्रकरण में 07 मामले दर्ज, अब तक कुल 2.3 करोड़ की धनराशि करायी जा चुकी है फ्रीज
16 जून, 2021
                                                         

देहरादून : वर्तमान में प्रचलित देश की सबसे बड़ी साईबर धोखाधड़ी में अपराधियों के विरुद्ध उत्तराखण्ड पुलिस की कार्यवाही लगातार जारी. अभियोगो में आज विभिन्न खातो में 2 करोड़ की धनराशि फ्रीज करायी। अब तक कुल 2.3 करोड़ की धनराशि फ्रीज करायी जा चुकी है. वर्तमान में पावर बैंक नामक एप में निवेश के नाम पर करोड़ो की ठगी करने वाले साईबर अपराधियों पर एसटीएफ की कार्यवाही लगातार जारी है । वर्तमान तक ऐसे प्रकरण में 07 अभियोग पंजीकृत किये जा चुके है साथ ही कई शिकायतो पर जांच प्रचलित है । देश की सबसे बड़ी साईबर धोखाधड़ी के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही हेतु उत्तराखण्ड पुलिस (एसटीएफ) द्वारा बनायी गयी खास रणनीति के तहत सूक्ष्म से सूक्ष्म साक्ष्यो को भी एकत्रित किया जा रहा जिससे अपराधियों को बचाव का मौका न मिल सके । अभियोग में गठित टीमो द्वारा विभिन्न पहलुओं पर जांच की जा रही है।

इसी क्रम में अभियोग से सम्बन्धित बैंगलूरु कर्नाटक निवासी अंशुल भारद्वाज से पूछताछ की गयी जिससे घटना से सम्बन्धित महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुयी कि कैसे चीनी मूल के नागरिको द्वारा कुछ भारतीय लोगो का विश्वास जीतकर उनसे छोटी-छोटी कम्पनियां खुलवाकर धोखाधड़ी को अंजाम दिया गया । ऐसे ही एक अन्य दिल्ली निवासी प्रांजुल कनौज्जिया द्वारा अभियोग में CA(Chartered Accountant) एवं CS (Company Secretary) की भूमिका के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण तथ्यो से अवगत कराया गया । वर्तमान तक पुलिस द्वारा उक्त अपराध में संलिप्त दो अभियुक्तो को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है, तथा घटना में प्रयुक्त विभिन्न बैंक खातो में 2.30 करोड़ से अधिक की धनराशि फ्रीज करायी जा चुकी है, तथा अन्य बैंक खातो का विश्लेषण कर उन पर कार्यवाही प्रचलित है । जनता से अपील है कि वे किसी भी प्रकार के ऑनलाईन एप के माध्यम से पैसे दोगुने, लक्की ड्रॉ, डिस्काउन्ट, लॉटरी के प्रलोभन में न आयें । पहले ऐसे किसी भी ऑफर की जांच कर ले कोई भी शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन से सम्पर्क करें।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: