बद्रीनाथ मास्टर प्लान प्रधानमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट – भाष्कर खुल्बे

 बद्रीनाथ मास्टर प्लान प्रधानमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट – भाष्कर खुल्बे
Posted on नवंबर 23, 2021 7:19 pm
                                                   
चमोली : प्रधानमंत्री के सलाहकार भाष्कर खुल्बे, पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर एवं प्रधानमंत्री कार्यालय के उप सचिव मंगेश घिल्ड़ियाल ने वृहस्पतिवार को बद्रीनाथ पहुॅच कर मास्टर प्लान के अन्तर्गत प्रस्तावित विकास कार्यो को लेकर स्थलीय निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने बद्रीश व शेष नेत्र झील, तप्तकुण्ड, ब्राह्म कपाल, नारद कुंड, सुग्रीव शिला, अलकनंदा नदी तटों, साकेत तिरहा, अस्पताल, बस स्टेशन एवं आसपास विभिन्न स्थानों का स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने प्रस्तावित निर्माण कार्याे को लेकर विस्तृत चर्चा करते हुए समयबद्धता के साथ कार्य पूरे करने पर जोर दिया। आईएनआई डिजाइन के कन्सल्टेंट धर्मेश गंगानी ने मास्टर प्लान के तहत प्रस्तावित कार्याे की विस्तार से जानकारी दी।

This slideshow requires JavaScript.

प्रधानमंत्री के सलाहकार भाष्कर खुल्बे ने कहा कि बद्रीनाथ मास्टर प्लान प्रधानमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इस पूरे प्रोजेक्ट के तहत बद्रीनाथ धाम को एक छोटी स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करने की परिकल्पना है ताकि भविष्य में यहां आने वाले यात्रियों को बद्रीनाथ धाम एवं मंदिर के दिव्य और भव्य स्वरूप की अनुभूति हो सके। कहा कि भविष्य में तीर्थयात्रियों की सुविधाओं और धाम की आधुनिक व्यवस्थाओं का समायोजन कर सुनियोजित ढंग से कार्य किए जाएंगे। राज्य सरकार द्वारा इसमें बेहतर प्लानिंग के साथ कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्थानीय निवासियों के सामूहिक सहयोग से बहुत जल्द ही बद्रीनाथ में मास्टर प्लान के कार्य शुरू होंगे और तय समय पर प्रस्तावित कार्यो को पूरा कर लिया जाएगा। इस दौरान भाष्कर खुल्बे, पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर एवं उप सचिव मंगेश घिल्ड़ियाल ने भगवान बद्रीनाथ के दर्शन कर पूरे देश की सुख समृद्वि और खुशहाली की कामना भी की।
जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने बद्रीनाथ धाम में मास्टर प्लान के तहत प्रस्तावित कार्यो की प्रगति से अवगत कराया। बताया कि पहले चरण के तहत रिवर फ्रंट डेवलपमेंट, वनवे लूप रोड निर्माण, शेष नेत्र व बद्रीश झील का सौन्दर्यीकरण, अस्पताल का विस्तारीकरण तथा बहुउद्देश्यीय/आगन्तुक भवन का निर्माण कार्य शुरू किए जा रहे है। जबकि दूसरे चरण में बद्रीनाथ मुख्य मंदिर के आसपास साइड डेवलपमेंट तथा तीसरे चरण मे झील से मंदिर तक आस्था पथ एवं अन्य कार्य किए जाने है। इस दौरान पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान, लोनिवि के अधीक्षण अभियंता मुकेश परमार, एसडीएम कुमकुम जोशी, एसडीएम रवीन्द्र सिंह ज्यांठा, आईएनआई के कन्सल्टेंट धर्मेश गंगानी, जिला पर्यटन विकास अधिकारी वृजेन्द्र पांडेय, ईओ सुनील पुरोहित सहित लोनिवि एवं अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Related post