विश्व योग दिवस : कोरोना काल में योग से लोगों को इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने के गुर सीखा रही हैं रश्मि सिंह

 विश्व योग दिवस : कोरोना काल में योग से लोगों को इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने के गुर सीखा रही हैं रश्मि सिंह
21 जून, 2021
                                                         

बच्चों से लेकर बुजुर्गो तक बन रहे है रश्मि सिंह की मुहिम का हिस्सा

रश्मि सिंह की मुहिम महिलाओं को बना रही है आत्मनिर्भर

कोटद्वार / गढ़वाल : कोरोना काल में योग के द्वारा लोगो को मानसिक तनाव से मुक्त करने एवं इम्युनिटी पॉवर को बढाने का कार्य कर रही है उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह. कोरोना काल में जहाँ एक और लोग मानसिक रूप से बहुत प्रेषण चल रहे थे तो वहीँ रश्मि के द्वारा योग की एक ऐसी मुहीम चलायी गयी जिसमें उन्होंने छोटे छोटे बच्चो से लेकर महिलाओं एवं बुजुर्गो को भी योग करने के लिए प्रेरित किया. पिछले डेड वर्ष से योगा चैलेन्ज के द्वारा रश्मि सिंह ने बच्चो से लेकर बुजुर्गो का मानसिक तनाव को दूर करने से लेकर उनकी इम्युनिटी पॉवर बढाने का कार्य किया है.

उज्ज्वला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह के द्वारा कोरोना काल में चलाये गये यह योगा चैलेन्ज का आज बच्चों से लेकर बुजुर्गो तक की जीवनचर्या का एक अहम् हिस्सा बन गया है जोकि एक नये स्वर्णिम भारत के निर्माण को लेकर एक बड़ा कदम है. जो भारत वर्ष को विश्व गुरु बनाने का कार्य करेंगा. आज यह छोटे बच्चे कल के युग निर्माता बनेंगे क्योंकि रश्मि सिंह के योगा चैलेन्ज से इनके जीवन पर बड़ा सकरात्मक प्रभाव पड़ रहा है और वह मानसिक और शाररिक रूप से स्वस्थ रहेंगे. उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह को लाइव एसकेजी न्यूज़ सैल्यूट करता है.

वैसे तो योग को लेकर बहुत लोग कार्य कर रहे है किन्तु कोरोना संक्रमण के चलते लगाए गये लॉकडाउन में एक नाम ऐसा भी है योग को लेकर आजकल चर्चाओं में है. जी हाँ हम बात कर रहे है नगर पालिका परिषद कोटद्वार की पूर्व अध्यक्ष एवं उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह की. रश्मि सिंह ने प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा दिए गये मन्त्रो को लक्ष्य मानकर कोरोना संकट के समय खुद तो योग कर ही रही है इसके आलावा उनके द्वारा बच्चो से लेकर बूढों तक को योग के प्रति जागरूक कर दिया है. रश्मि सिंह प्रतिदिन सुबह योग कर अपने आप को निरोग तो रख ही रही है इसके साथ बहुत से महिला, पुरुष, लडकियाँ एवं बच्चे इस मुहीम से जुड़ अपने अपने घरो में योग कर खुद को निरोग रख रहे है.

 

This slideshow requires JavaScript.

आपको बताते चले कि कोरोना संकट में जहाँ लोग तनावग्रस्त हो रहे है तो वहीँ रश्मि सिंह की यह मुहीम लोगो के चेहरों पर रौनक ला रही है. रश्मि सिंह की इस मुहीम से लोगो का तनाव तो दूर हो ही रहा है इसके साथ लोग स्वयं को निरोग भी कर रहे है और कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए योग द्वारा वह अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ा रहे है.

रश्मि सिंह की इस मुहीम से लोगो को फायदा हो रहा है. जीवनशैली से जुड़ी बीमारियां जैसे डायबिटीज, हाई बीपी, मानसिक तनाव बढ़ रही है। ये बीमारियां जीवनशैली में गड़बड़ी के कारण हो रही हैं. इसे ठीक कर हम इन बीमारियों को ठीक भी कर सकते हैं. कई ऐसी बीमारियां हैं, जिसे हम छोटे बदलाव करके दूर कर सकते हैं. योग केवल व्यायाम नहीं है, वह हर परिस्थिति में आपको कुशलता से कार्य करना सिखाता है. योग से ही तनावपूर्ण परिस्थितियों के रहते हुए भी आपकी मुस्कान बनाए रखना योग का उद्देश्य है. आप दुखी हैं, तो यह आपको दुख से बाहर ले जाता है. आप बहुत बेचैन हैं, तो योग आपके अंदर धैर्य लाता है. यह आप में कार्यकुशलता लाता है. रश्मि सिंह ने बताया कि योग में सभी के लिए कुछ न कुछ है, जैसे फिजिकल प्रैक्टिस से दिमाग और सांस लेने वाले व्यायाम से भक्ति भी हो सकती है. इसी के साथ योग अन्य फिजिकल और मानसिक फायदे भी पहुंचाता है, जिससे लचीलेपन में सुधार, स्ट्रेंथ, स्टेमिना, बेहतर इम्यूनिटी, शांति, स्ट्रेस को दूर करना, फोकस को बढ़ाना आदि शामिल है.

उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह ने दिया था योगा चैलेन्ज

कोरोना संक्रमण में लोगो को मानसिक तनाव से बचाने के लिए और उनके कोरोना संक्रमण में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह ने एक मुहीम चलाई हुई है. रश्मि सिंह बताती है कि लोगो को शुरू में 21 दिन का योगा चैलेन्ज दिया गया था सभी को जिससे 01 जून से 21 जून 2020 तक अभियान चलाया गया. जिसमे लोगो ने बढ़चढ़ कर भाग लिया. इसके बाद योगा चैलेन्ज की सफलता को देखते हुए इसे आगे बढ़ाया गया और यह पुरे वर्ष चला जिसके बाद यह लगातार अभी तक चला आ रहा है और बच्चों से लेकर बुजुर्गो तक के द्वारा इस योग चैलेन्ज को सफल बनाने के लिए बढ़ चढ़ कर भाग लिया जा रहा है. रश्मि बताती है कि इस चैलेंज के बाद योग लोगो की दैनिक दिनचर्या का हिस्सा बन जाएगा.

फेफड़ो को सुरक्षित रहने में योग एक अहम् हिस्सा

उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह के द्वारा चलायी जा रही मुहीम में लोगो के फेफड़ो को सुरक्षित रखने के लिए योग बताये गये. फेफड़े हमारे शरीर वह स्वसन तंत्र का एक अहम हिस्सा होते हैं अगर हमारे फेफड़े अच्छे हैं तो हमें स्वास संबंधी कोई प्रॉब्लम नहीं होगी जैसा की आप सभी को पता है इसको भी काल में कई लोगों को फेफड़ों से संबंधित समस्याएं हुई और ऑक्सीजन की कमी का सामना भी करना पड़ा यहां मैंने फेफड़ों को मजबूत करने के के लिए कुछ आसन बताए हैं इनको आप नियमित रूप से करें और अपने फेफड़ों को स्वस्थ और मजबूत बनाएं और अपनी स्वास्थ्य संबंधित बीमारियों को दूर करें. फेफड़ों को मजबूत करने के लिए भुजंगासन, धनुरासन, उष्ट्रासन, गोमुखासन और मार्जरी कैसे किए जाते हैं को विस्तार से बताया गया है.

कोरोना काल में बेरोजगार महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ रही है रश्मि सिंह

सेवा सर्वोत्तम सुख है के उद्देश्य से क्षेत्र में बेहतर कार्य रही उज्जवला सामाजिक संस्था. उज्जवला संस्था ने क्षेत्र की बेरोजगार महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान कर एक सराहनीय कार्य किया है। कहा कि अपने लिए सब जीते हैं, लेकिन दूसरों के लिए जीकर देखों, तो जीवन जीने में अलग ही आनंद आता है। इसी तरह संस्था अपने लिए नहीं बल्कि दूसरों के लिए कार्य कर रही है। संस्था ने दो वर्ष में महिलाओं के लिए बेहतर कार्य किया है। संस्था महिला सशक्तिकरण को लेकर कार्य कर रही है। महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़कर आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया है। कहा कि कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान संस्था से जुड़ी महिलाओं ने श्रम विभाग की ओर से दी गई सिलाई मशीनों से मास्क तैयार कर अपने परिवार की आर्थिकी को मजबूत किया। संस्था ने कोरोनाकाल में मास्क जरूरतमंद लोगों को नि:शुल्क वितरित किए। रश्मि सिंह ने बताया कि पहाड़ों से कच्चा माल लाकर भीमल से उत्पाद तैयार किये जा रहे है। भीमल से पर्स, चप्पल, पायदान सहित अन्य सामान तैयार किया जा रहा है। वहीं पॉलीथिन के विकल्प के रूप में जूट के बैग तैयार किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि नशे से दूर रखने के लिए संस्था की ओर से समय-समय पर प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। पूर्व में संस्था की ओर से आदर्श कन्या विवाह कराया गया। भविष्य में भी संस्था गरीब युवतियों का आदर्श कन्या विवाह करायेगी। उन्होंने युवा पीढ़ी से योग को अपने जीवन में अपनाने की अपील करते हुए कहा कि योग से शरीर को स्वस्थ रखा जा सकता है।

श्रम मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के सहयोग से पीएम नरेन्द्र मोदी के सपनो को साकार कर रही है रश्मि सिंह

गढ़वाल के द्वार कहे जाने वाले कोटद्वार में उज्जवला सामाजिक संस्था के द्वारा देश के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के सपनों को साकार करती नजर आ रही है. उज्जवला सामाजिक संस्था के द्वारा प्रधानमन्त्री मोदी के सपनों को साकार करने की बात में चाहे योग से निरोग की बात हो या फिर आत्मनिर्भर भारत को लेकर तत्पर है. उत्तराखंड सरकार में श्रम मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत के विशेष सहयोग से श्रम विभाग की योजनाओ के द्वारा महिलाओ को प्रशिक्षण दिया जा रहा है और उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है. महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने वाले इस कार्य का श्रेय डॉ. हरक सिंह रावत को दिया जाए तो यह भी कहना गलत नही होगा. इस समय समूचा विश्व कोविड-19 के कहर से जूझ रहा है. कोरोना के योद्धा इस जंग में पूरे मनोयोग से लगे हुए हैं, जिसमें महिलाएं भी पीछे नहीं हैं. जो घर परिवार देखने के साथ ही कोरोना से भी जंग लड़ रही हैं. उनके हौंसले और जज्बे को सलाम. पुरुषो के साथ ही महिलाएं भी कंधे से कंधा मिलाकर कोरोना से जंग में डटी हुई हैं.

This slideshow requires JavaScript.

महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने में बड़ा कदम

लॉकडाउन के समय में जब सभी कहीं न कहीं आर्थिक रूप से कमजोर हुए हैं, और घर की महिलाओं के लिए चूल्हा चलाना भी मुश्किल हो गया था ऐसे समय में उज्जवला सामाजिक संस्था ने यह सोचा कि क्यों ना घर पर रहकर ही ऐसी जरूरतमंद महिलाओं को रोजगार देने का प्रयास किया जाए। उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह ने महिलाओं के हुनर को तराश कर उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत बनाने का प्रयास किया है। संस्था इन महिलाओं को घर पर रहकर ही रोजगार मुहैया करा रही है जिससे यह महिलाएं भी अपने घर की जरूरी आवश्यकताओं को पूरा कर सकें संस्था के द्वारा कई महिलाओं को सबल बनाकर रोजगार दिया जा रहा है। संस्था की महिलाओं द्वारा बनाए गयी इन वस्तुओं को खरीद कर आप भी इन महिलाओं के हुनर की सराहना कर सकते हैं तथा उन्हें सहयोग दे सकते हैं।

कोरोना काल में महिलाओं को आर्थिक संकट से उभारने का जरिया बन रही है रश्मि सिंह की मुहिम

कोरोना संकट के समय लोगो की आर्थिक स्थिति भी कमजोर हुई है जिसमे देश के प्रधानमन्त्री ने भी देश को आत्मनिर्भर बनाने की बात कही है जिसको लेकर उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह ने कोटद्वार की महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने का काम किया जा रहा है. उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह ने महिलाओ को स्वरोजगार से जोड़कर उनको आर्थिक स्थिति को सुधारने का प्रयास किया जा रहा है. महिलाओ को आत्मनिर्भर बनाने के लिए रश्मि सिंह के द्वारा उनके हुनर को तराश कर उनको स्वरोजगार से जोड़ा है. महिलाओ को स्वरोजगार से जोड़ने की इस मुहिम ने महिलाओ की आर्थिक स्थिति तो सुधर ही रही है इसके साथ वह अपना खुद का रोजगार कर रही है. रश्मि की इस मुहिम से प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी का सपना साकार होता नजर आ रही है.

क्या कहती है रश्मि सिंह

उज्जवला सामाजिक संस्था की अध्यक्ष रश्मि सिंह ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सफल प्रयासों से सारा विश्व 21 जून को योग दिवस के रूप में मना रहा। इस वर्ष कोरोना वायरस के वजह से सभी देशवासियों से अनुरोध किया है कि हम सब लोग अपने घरों में योग करें । कोविड-19 महामारी से बचने के लिए हमारी इम्यूनिटी मजबूत होना बहुत जरूरी है और योग के द्वारा हम अपनी इम्यूनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। सभी को विश्व योग दिवस के अवसर एक घंटा अवश्य योगाभ्यास करें । स्वयं भी निरोग रहे, स्वयं की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए और औरों को भी इसके लिए प्रोत्साहित करें। रश्मि सिंह बताती है कि जैसा की आप सभी को पता ही है कि कोरोना की इस दूसरी लहर में कई बच्चे संक्रमित हुए, लेकिन अब सुनने में आ रहा है की कोरोना की तीसरी लहर आने का भी डर है और यह बच्चों के लिए काफी खतरनाक हो सकती है। और इस लहर में हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती होगी अपने बच्चों को सुरक्षित रखना। हम इस कोविड समय पर योग के माध्यम से अपने बच्चों को सुरक्षित रख सकते हैं। योग के माध्यम से उनका स्वास्थ्य अच्छा रख सकते है, और उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बड़ा सकते हैं।

Leave a Reply

Related post

%d bloggers like this: