पटना साहिब सांसद रविशंकर प्रसाद ने छठ पूजा के पूर्व घाटों का किया निरीक्षण

 पटना साहिब सांसद रविशंकर प्रसाद ने छठ पूजा के पूर्व घाटों का किया निरीक्षण
Posted on दिसंबर 8, 2021 9:51 pm
                                                   
ख़बर सुनने के लिए क्लिक करे 👉
विजय शंकर 

पटना : पटना साहिब सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद बिहार एंव बिहारवासियों के लोक आस्था के महान पर्व छठ पूजा के अर्ध से पहले नहाय खाय के दिन गंगा नदी के घाटों का निरक्षण किया। आज वे दीघा विधानसभा के अंतर्गत दीघा घाट,जनार्दन घाट,मीनार घाट,पाटी पुल घाट सहित अन्य घाटों का भ्रमण किया। उनके साथ में दीघा के विधायक डॉ. संजीव चौरसिया,पटना प्रशासन एवं नगर निगम के पदाधिकारी और एनडीआरएफ की सुरक्षा दस्ता के अधिकारी भी मौजूद थे। उन्होंने व्रतियों को अर्घ देने में सुविधा और सुरक्षा से संबंधित जरूरी निर्देश पदाधिकारीयों को दिया।घाटों के ढलान, सीढ़ियों,साफ सफाई,प्रकाश की व्यवस्था,चेंजिंग रूम,आपातकालीन स्वास्थ्य सुविधा की व्यवस्था प्राप्त मात्रा में होनी चाहिए। साथ ही गंगा के बढ़े हुए जलस्तर को ध्यान में रखते हुए डूब क्षेत्र एंव दलदली(कीचड़) क्षेत्र को विशेष रूप से चिन्हित किया जाए साथ ही प्राप्त मात्रा में बालू के बोड़े इत्यादि का प्रयोग करते हुए घाट को व्यवस्थित करने का निर्देश दिया। उन्होंने पदाधिकारियों को आगाह किया कि छठ व्रतियों के साथ – साथ श्रद्धालु भी बड़ी संख्या में आते है। अतः इन परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए समुचित व्यवस्था प्रशासन की तरफ से होनी चाहिए।

पटना साहिब सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पटना साहिब के पटना सिटी, गोलघर, दरियापुर, बुद्धघाट आदि विभिन्न स्थानों पर छठ व्रतियों के बीच सूप, नारियल, फल, अगरबत्ती सहित अन्य पूजा सामग्री वितरित कर उन्हे लोक आस्था के महापर्व छठ पूजा की शुभकामनाएं दीं। इस मौके पर पटना साहिब सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि छठ महापर्व पर साधन विहीन व्रतियों को पूजा सामग्री उपलब्ध कराने से इस महापर्व को संपन्न करने में सहूलियत होगी।सबके मन में आस्था व सेवा धर्म का भाव रखते हुए ऐसा दृढ़ निश्चय करना चाहिए की कहीं किसी भी छठव्रती को किसी भी चीज की कमी नही हो।उन्होंने कहा कि यही एक ऐसा अनुष्ठान है जिसमें समाज के हर वर्ग के लोग एक साथ समान रूप से जलाशय किनारे बैठकर भगवान भास्कर की अराधना करते हैं|

Related post