अधिक से अधिक उत्पादन के लिए काश्तकारों को दी तकनीकी जानकारी

Publish 19-06-2019 19:50:52


अधिक से अधिक उत्पादन के लिए काश्तकारों को दी तकनीकी जानकारी

गोविंदघाट /चमोली (जगदीश पोखरियाल)। कम से कम स्थान पर ज्यादा से ज्यादा उत्पादन करने के लिए काश्तकारों को तकनीकी जानकारी दी गई। हिमोत्थान सोसायटी, टाटा ट्रस्ट और हिमाद समिति की ओर से संचालित मिशन पल्सेस के तहत बुधवार को बणसोली गांव में दलहन बुआई का डेमो किया गया। इस दौरान तकनीकी विषेशज्ञों द्वारा काष्तकारों को दालों की बुवाई के बारे में जानकारी दी गई।
कार्यक्रम में हिमाद के सचिव उमाशंकर बिष्ट ने कहा कि नई तकनीक से दालों की बुआई से जहां काश्तकार कम जोत में अधिक उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं। वहीं जैविक उत्पादों के काश्तकारों को बाजार में भी बेहतर दाम मिलेंगे। जिससे काश्तकारों की आर्थिकी में वृद्धि होगी। कार्यक्रम के दौरान कार्यक्रम के समन्वयक नवीन बिष्ट ने काश्तकारों को दोलों की बुआई, बीज संरक्षण एवं भंडारण, खेतों को तैयार करने, जैविक खादों के प्रकार, जैविक खादों को तैयार की प्रक्रिया, दालों की बुआई के समय ध्यान रखने की तकनीकी, दालों पर लगने वाली बीमारियों से रोकथाम के बारे में विस्तृत जानकारी दी। इस मौके पर ललिता देवी, पार्वती देवी, उषा देवी, पुष्पा देवी, कली देवी, पूनम देवी, हेमा देवी आदि मौजूद थे।

To Top