दोनों नहरों के बीच का रोड संजीवनी हो रहा है क्षेत्र के लिए साबित

Publish 24-04-2019 17:41:20


दोनों नहरों के बीच का रोड संजीवनी हो रहा है क्षेत्र के लिए साबित

रूडकी : सिचाई विभाग को आपने अपने कारनामो के नाम पर सुना होगा कि कि सिचाई विभाग ने वहां पर काम किया और उसकी गुणवत्ता ठीक नही है तो कही पर कुछ आरोप लगे ही रहते है .  लेकिन जब आज हम सिचाई विभाग की देवबन्द समानांतर खण्ड रूडकी शाखा की बात करे तो  उनका काम बोलता है जहाँ लोग इस शाखा के काम तारीफ के पुल बांध रहे है.  आपको बताते चले कि देवबन्द समानांतर खण्ड रूडकी के द्वारा दो नहरों के बीच बनायी गयी सडक को लेकर आज हम बात कर रहे है. देवबन्द समानांतर शाखा रूडकी द्वारा दोनों नहरों के बीच बनाई गयी सडक सहारनपुर के कुवाखेडा से लेकर रूडकी तक के क्षेत्र के लोगो के लिए वरदान साबित हो रही है. लगभग सात करोड़ रूपये की धनराशी से निर्मित यह सडक गड्ढा मुक्त सडक में बनाई गयी है. इस सडक के बनने से जहाँ उत्तर प्रदेश व उत्तराखण्ड के लाखो लोगो को फायदा पहुँच रहा है तो वहीं उत्तर प्रदेश के नानौता , कुआँखेडा  से रूडकी दुरी भी घट गयी है. रूडकी से दोनों नहरों के बीच बनी 52 किलोमीटर लम्बी सडक अब क्षेत्र के लिए संजीवनी का काम कर रही है.  जहाँ क्षेत्र के लोगो को घूमकर और राष्ट्रीय राजमार्ग से होकर गुजरना पड़ रहा था तो अब वही उत्तर प्रदेश सिचाई विभाग के द्वारा सडक का निर्माण कर दिया गया है जिसके चलते उत्तराखण्ड के साथ साथ उत्तर प्रदेश के लोगो को भी बहुत फायदा मिल रहा है. दोनों नहरों के बीच बनी सडक उत्तराखंड के कई गाँवो को प्रभावित करती है तो वहीँ यह सडक उत्तर प्रदेश के कई गाँवो व कस्बो  को सीधे रूडकी से जोडती है.

फाइल फोटो : यह हाल था सडक का

गड्ढा मुक्त में बनी दोनों नहरों के बीच सडक
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा सडको को गड्ढा मुक्त करने की घोषणा की गयी थी जिसके चलते इस सडक का निर्माण किया गया है जहाँ गड्ढा मुक्त में सडको को जगह जगह पैच रिपेयरिंग कार्य किया जाता है तो वहीँ समानांतर देवबन्द खण्ड शाखा रूडकी के द्वारा कमाल का काम किया गया है जिसके चलते डिविजन ने पूरी 52 किलोमीटर की सडक को गड्ढा मुक्त करने में बना दिया है. गड्ढा मुक्त में बनी इस सडक से क्षेत्र के लाखो लोग प्रभावित हुए है. जहाँ लोगो में इस सडक को बनने से ख़ुशी है तो वहीँ बहुत से नवयुवको को इस सडक के बनने से भर्ती के लिए प्रैक्टिस हेतु क्षेत्र में ग्राउंड की कमी महसूस नही हो रही है.

सडक बनने के बाद का चित्र

कई गाँवो के लिए संजीवनी साबित हो रही है सडक
क्षेत्र के कई गाँवो में सडक के बनने से लोगो को बहुत बड़ा लाभ मिला है . आकस्मिक समस्याओ में जहाँ लोगो को रूडकी जाने के लिए बहुत दूर से घूमकर आना पड़ता था तो वहीँ इस सडक के बनने से इन लोगो को रूडकी आने जाने में बहुत बड़ी राहत मिली है . कपूरी, जटौल, मंझौल , अलीपुर, भनेडा आदि के ग्रामीणों का कहना है कि आकस्मिक समस्या , बीमार आदि हो जाने पर रूडकी अस्पताल में जाने के लिए बड़ी समस्या होती थी तो वहीँ इस सडक के निर्माण होने के बाद यह समस्या दूर हुई है अब हम लोग आसानी से रूडकी आवागमन कर सकते है.

इन गाँवो को मिला है सडक बनने का प्रत्यक्ष लाभ
उत्तरखंड के तांसीपुर, हथियाथल,, थीथकी, लाठरदेवा हुण, कोतवाल आलमपुर, बुड्पुर नूरपुर , बसवाखेडी, सढौली सहित कई उत्तराखंड के ग्राम प्रभावित हुए है तो वहीँ उत्तर प्रदेश के जटौल, कपूरी, अलीपुर, भ्नेदा खास, रस्तम बसतं, देवबन्द, साखन कलां, नल्हेडा आशा , भायला, महेशपुर, बडगांव, मोरा, भोजपुर, जन्ढेरी व कुवांखेडा सहित उत्तर प्रदेश के कई  ग्राम व कस्बे के लोगो के लिए यह सडक बड़ी महत्वपूर्ण है. इस सडक के किनारे के गाँव व आसपास के गाँव कस्बे के लाखो लोग इस सडक से आवागमन करते है. जो पिछले कुछ समय से सडक के टूटी होने के चलते नही कर पा रहे थे लेकिन अब इस सडक के बनने से इन लोगो के लिए यह सडक रूडकी हरिद्वार जाने हेतु बड़ी महत्वपूर्ण साबित हो रही है.

सडक के बनने से जाम में मिलेगी राहत
दोनों नहरों के बीच बनी इस सडक के कारण जहाँ हरिद्वार रूडकी आने वाले यात्री इस मार्ग से होकर गुजरेगे तो राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगने वाले जाम के झाम से भी निजात मिलेगी और जाम के कारण जो लोगो को परेशानी होती थी अब वह इस सडक के बनने से नही होगी.

फाइल फोटो : सडक बनने से पहले की फोटो

क्षेत्र के विकास के लिए संजीवनी हो सकती है साबित
दोनों नहरों के बीच बनी यह सडक अब क्षेत्र के विकास के लिए हो सकती है संजीवनी साबित हो सकती है. क्षेत्र में कुछ लोगो का कहना है कि इस सडक के बनने से इस सडक पर ट्रैफिक बढ़ा है तो यहाँ पर इस सडक के किनारे ग्राम भी विकास की और अग्रसर होगे जो सडक के कारण पिछड़ गये थे वो ग्राम अब फिर से विकास की और अग्रसर होने लगे है . कुछ ग्रामीणों का कहना है कि इस सडक पर ट्रैफिक बढने से हमे स्वरोजगार भी मिलेगा और यहाँ पर हम अपना कोई कार्य शुरू कर सकते है.

पानी निकासी की होती सुविधा तो सडक चलती दोगुनी
दोनों नहरों के बीच बनी इस सडक पर यदि बराबर में में बरसाती पानी की निकासी के लिए नाली या अन्य बारिश के पानी की निकासी के लिए किया जाए तो यह सडक जितने दिन चलनी है उससे दोगुनी चलेगी .

क्या कहते है क्षेत्रवासी
सिचाई विभाग उत्तर प्रदेश द्वारा यह सडक बनाकर बहुत अच्छा कार्य किया गया है इस सडक के बनने से रूडकी दुरी कम हो गयी है और हमारे जैसे बुजुर्ग इस रोड के बनने से ज्यादा भीड़ भाड से बच जाते है
सुमेरचन्द, पूर्व प्रधान बसवाखेडी

सडक अच्छी बनी है इसका हमे बहुत फायदा हुआ है रूडकी जाने के लिए अब लम्बा घूमकर नही जाना पड़ता व इस सडक के बनने से यात्रा सुगम हुई है .
 डॉ. रामकुमार सैनी , ग्राम सढौली

इस सडक के बनने से हमे बहुत लाभ मिल रहा है सडक के निर्माण होने से रूडकी एवं झबरेडा के बीच की दुरी घटी है और इस मार्ग से शीघ्रता से आवागमन हो जाता है .
  राकेश शर्मा , रूडकी

दोनों नहरों के बीच सडक बनने से क्षेत्रवासियों को बहुत लाभ मिल रहा है अब रूडकी जाने के लिये भीड़ से बचकर इस सडक से जाया जाता है . इस सडक का निर्माण करने के लिए यूपी सिचाई विभाग बधाई का पात्र है.
 विनीत कुमार उपाध्याय

 

To Top