रात के अंधेरे में धडल्ले से हो रहा पिंडर नदी में अवैध खनन

Publish 01-06-2019 18:14:27


रात के अंधेरे में धडल्ले से हो रहा पिंडर नदी में अवैध खनन

थराली (रमेश थपलियाल )। चमोली जिले के थराली में रात के अंधेरे में जेसीबी लगाकर खनन माफिया रेता, बजरी, पत्थर का अवैध खनन कर चांदी काट रहे है, लेकिन कोई इसकी सुध नहीं ले रहा है। आजकल क्षेत्र में तहसील प्रशासन की चुप्पी लोगों में खासी चर्चा का विषय बनी हुई है।
पिछले एक वर्ष से  शासन-प्रशासन की ओर से पिंडर नदी में खनन कार्य बंद पड़े हुए हैं। जिस कारण यहां पर निर्माण कार्य के लिए सामग्री काफी महंगे दामों पर लोगों को मिल पा रही है। इसका लाभ उठाते हुए खनन माफिया पिंडर घाटी में काफी सक्रिय हो गए हैं। खनन माफिया इस कदर बैखोफ है कि वे रात्रि में नदी में जेसीबी मशीन के माध्यम से खनन कार्य कर रहे हैं। पिंडर नदी में कई स्थानों पर बड़े-बड़े गड्ढे बन चुके हैं। सड़कों पर निर्माण सामग्री पड़ी हुई है। इसके बावजूद शासन प्रशासन का ध्यान इस ओर नहीं है कि खनन बंद होने के बाद भी रेता, बजरी सड़क पर खुले आम कैसे पड़ा हुआ है। इस अवैध खनन से सरकार को लाखो रुपये रॉयल्टी का नुकसान हो रहा है। थराली के मोहन गिरी, गिरीश, सोनू, केसर सिंह नेगी, कमलेश, आदि ने बताया कि पूरी रात खनन माफियाओं के ट्रक रेज बजरी को लेकर सड़कों पर दौड़ रहे है पर कोई इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है।  इधर थराली के उपजिलाधिकारी केएस नेगी का कहना है कि रात को खनन का मामला उनके भी संज्ञान मे आया है। वो मामले को गंभीरता से लेंगे और अवैध रूप खनन में जुडे़ लोगों के प्रति कार्रवाई अमल में लायी जायेगी।

To Top