*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

नगर पंचायत के कूड़े के डंपिंग जोन में भडकी आग लोग भागे घरों से , संरक्षित प्रजाति के बांझ के पेड़ हो रहे नष्ट, वन विभाग मौन, ग्रामीण हतप्रद

30-04-2019 19:03:32

गोपेश्वर (जगदीश पोखरियाल)। चमोली जिले की पोखरी नगर पंचायत के कूड़े के डंपिंग जोन में आग भड़क गई। जिससे पूरे क्षेत्र में धूआं ही धूआं भर गया। आग और धूंआ इतना तेज था कि लोग अपने घरों से बाहर निकलने को मजबूर हो गये। हालांकि नगर पंचायत के कर्मचारियों ने किसी तरह से आग पर काबू पा लिया है लेकिन इस कूड़े के डंपिंग जोन के नगर के बीचों बीच होने के कारण कभी भी कोई बड़ा हादसा होने का खतरा बना हुआ है। वहीं सैकडों बांज के पेड़ भी इस डंपिंग जोन के कारण नष्ट हो गये है। मंगलवार को अचानक पोखरी में दोपहर में अचानक तेज आंधी चलने लगी। नगर पंचायत पोखरी के अस्थायी डंपिंग जोन में पहले से सुलग रही आग ने तेजी के साथ भडकना शुरू किया जिससे आसपास के लोग धूऐं के गुबार और आग की भय से अपने घरों से निकल कर इधर-उधर जाने लगे आग की खबर सुनते ही नगर पंचायत के कर्मचारियों ने आग बुझाने का कार्य शुरू किया हालांकि आग पर काबू तो पा लिया गया लेकिन इस आग से डंपिंग जोन के आसपास सैकडों बांज के पेड़ भी झुलस गये जिससे लोगों में भारी रोष व्याप्त है। देवस्थान की पार्षद रेखा देवी, जीतेंद्र सती, अनिल, नागेन्द्र आदि कहना है कि नगर पंचायत का अविलंब यहां से कूडे का डंपिंग जोन हटा देना चाहिए। इससे पर्यावरण तो दूषित हो रही रहा है ग्रामीणों के स्वास्थ्य पर भी इसका विपरित प्रभाव पड़ रहा है। साथ ही संरक्षित प्रजाति के बांझ के पेडों को भी क्षति पहुंच रही है।

संरक्षित प्रजाति के बांझ के पेड़ हो रहे है नष्ट
नगर पंचायत के गांव देवस्थान की वन पंचायत सरपंच पुष्पा देवी, वेदप्रकाश सती का कहना है कि यह बांझ का जंगल देवस्थान के लोगों ने काफी मेहनत कर बनाया है। आज इसकी दुदर्शा को देख कर आंखों से आसू निकल आते है। लेकिन वन विभाग इस ओर से आंखें मूंदे हुएउ है। कहा कि बांझ एक संरक्षित प्रजाति है। जिससे काटने की इजाजत वन विभाग से भी नहीं मिलती है। ऐसे में नगर पंचायत ने यहां पर कूडे का डंपिंग जोन बनाकर इस प्रजाति को समाप्त करने पर तुली है। एक ओर वन विभाग ग्रामीणों को चारापति के लिए भी इसके प्रयोग पर रोक लगाती है। वहीं कूड़े के ढेर और आग से जो नुकसान हो रहा है उसके प्रति चुप्पी साधे हुए है। कहा कि यदि शीघ्र ही इस पर कार्रवाई नहीं होती है तो उन्हें अदालत का दरवाजा खटखटाने को मजबूर होना पडे़गा।
क्या कहते है अधिकारी
नगर पंचायत के कूड़े के डंपिंग जोन पर किसी शरारती तत्वों ने आग लगा दी थी। जिस पर काबू पा लिया गया है। कहा कि यह अस्थायी डंपिंग जोन है। स्थायी डंपिंग जोन के लिए जगह का चयन कर लिय गया है जिसकी फाइल नोडल अधिकारी को भेजी गयी है। स्वीकृति मिलने पर डंपिंग जोन को हटा लिया जाएगा।
नंदराम तिवारी, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत पोखरी।