*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

चोपता मोटर मार्ग पर चार अप्रैल को वाहनों का आवाजाही रहेगी प्रतिबंधित

27-03-2019 19:12:33


फतेहपुर चौरासी उन्नाव (रघुनाथ)| क्षेत्र में लगभग 10 दिनों से भीषण बारिश व बाढ़ से त्रस्त क्षेत्रवासियों ने अब कुछ जल स्तर कम होने के कारण राहत की सांस ली है।लेकिन उन्हें अब बीमारियों से बचने की चिंता सता रही है।


        बताते चलें लगभग 10 दिन तक हुई बारिश और बाढ़ से तबाह क्षेत्रवासियों ने शुक्रवार से कुछ जल स्तर कम होने पर राहत की सांस तो ली।  लेकिन अब उन्हें तरह-तरह की बीमारियों से बचने के लिए विभिन्न प्रकार के उपाय सोचने पढ़ रहे हैं। जिन स्थलों पर बाढ़ का पानी भर गया था वहां पर जल कम होने पर दुर्गंध अधिक मात्रा में आ रही है। जिसके कारण क्षेत्रवासियों को तरह तरह की बीमारियों से गुजरना पड़ सकता है। यह क्षेत्र वासियों की आशंका है ।इस आशंका को देखते हुए फतेहपुर चौरासी के प्रभारी चिकित्सक प्रेमचंद  क्षेत्र की बाढ़  चौकियों बरुआघाट , जाजामऊ, दबौली में प्रतिदिन टीम भेज कर पीड़ितों में दवाएं वितरित करा रहे हैं और क्षेत्रवासियों को रोगों से मुक्त करने का दावा भी कर रहे हैं । इस संदर्भ में जब उप जिला अधिकारी प्रदीप कुमार बांगरमऊ से संवाददाता रघुनाथ प्रसाद शास्त्री ने बात की तो उन्होंने बताया कि आज वह बांगरमऊ तहसील क्षेत्र के गावँ फरीदपुर कट्टर में जिला मुख्यालय से आई चार सदस्यीय चिकित्सक टीम के साथ दवाओं का वितरण कराया हैं। जिससे तहसील क्षेत्र के लोगों को विभिन्न प्रकार के बीमारियों से मुक्ति मिल सके। जिन लोगों को खासी ,जुखाम, बुखार जैसी दिक्कतें हैं उन्हें दवाएं दी जाएंगी और समुचित उपचार की व्यवस्था भी की जाएगी जिससे महामारी या किसी बड़ी बीमारी जैसी दिक्कतें पैदा ना हो सके।